सोलन-दिनांक 04.08.2020-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुर्वेद मन्त्री डाॅ. राजीव सैजल ने आज यहां चिल्ड्रन पार्क में कृतज्ञ प्रदेशवासियों एवं जिलावासियों की ओर से हिमाचल के प्रथम मुख्यमंत्री एवं हिमाचल निर्माता स्वर्गीय डाॅ. यशवन्त सिंह परमार कोे उनकी 114वीं जयन्ती पर पुष्पाजंलि अर्पित की।
डाॅ. सैजल ने इस अवसर पर कहा कि स्वर्गीय डाॅ. यशवन्त सिंह परमार के नेतृत्व में किए गए सत्त संघर्ष के कारण ही हिमाचल एक प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आया। उन्होंने कहा कि डाॅ. परमार ने न केवल नवीन इतिहास का सृजन किया अपितु समूचे क्षेत्र का भूगोल भी बदला। उन्होंने कहा कि डाॅ. परमार ने इस पहाड़ी प्रदेश के निर्माण की बुनियाद रखी और हिमाचल को एक नया स्वरूप प्रदान करने के लिए कार्य किया।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि स्वर्गीय डाॅ. यशवन्त सिंह परमार हिमाचल की समृद्ध संस्कृति, यहां के निवासियों की ईमानदारी एवं कर्मठता के माध्यम से इस पहाड़ी प्रदेश को एक नया आकार देना चाहते थे। उन्होंने इस दिशा में एक परिकल्पना के साथ कार्य किया।
डाॅ. सैजल ने कहा कि डाॅ. परमार पर्यावरण संरक्षण को विशेष महत्व देते थे और इस दिशा में उन्होंने आरम्भ से ही नियमबद्ध कार्य किया।
उन्होंने कहा कि हिमाचल की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को सहेजने एवं तीव्र विकास के साथ पर्यावरण को संरक्षित रखने की दिशा में कार्य करना ही हिमाचल निर्माता को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
विधानसभा चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार रहे डाॅ. राजेश कश्यप, बघाट बैंक के अध्यक्ष पवन गुप्ता, नगर परिषद सोलन के अध्यक्ष देवेन्द्र ठाकुर, जिला परिषद सदस्य शीला, सिरमौर कल्याण मंच के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ पत्रकार बलदेव चैहान, मंच के वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रदीप ममगई, महासचिव डाॅ. राम गोपाल शर्मा, नगर परिषद सोलन के पूर्व अध्यक्ष कुल राकेश पंत, आढ़ती एसोसिएशन सोलन के पदम पुंडीर, ग्राम पंचायत शामती के प्रधान संजीव सूद, ग्राम पंचायत जौणाजी के उप प्रधान लक्ष्मी ठाकुर, जिला भाजपा महामंत्री नंदराम कश्यप, भाजपा मंडल सोलन के उपाध्यक्ष चन्द्रकांत शर्मा, भाजपा मण्डल सोलन महामंत्री भरत साहनी, भाजयुमो सोलन मण्डल के अध्यक्ष रोहित भारद्वाज, कुशल जेठी, उपायुक्त सोलन केसी चमन, पुलिस अधीक्षक सोलन अभिषेक यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डाॅ. राजन उप्पल, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एनके गुप्ता सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं सिरमौर कलामंच के विभिन्न पदाधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।