CHANDIGARH,15.07.20-कोविड-19 महामारी के बीच, नाबार्ड ने दिनांक 12 जुलाई,2020 को अपना 39वां स्थापना दिवस मनाया. इस अवसर पर श्री जे.पी.एस. बिंद्रा, मुख्य महाप्रबंधक, नाबार्ड पंजाब क्षेत्रीय कार्यालय, चंडीगढ़ ने कहा कि यह संस्थान वास्तव में सुदृढ़ है. नाबार्ड राज्य के ग्रामीण समुदाय को एसएचजी, जेएलजी, एफपीओ आदि के माध्यम से ऋण सहायता के साथ-साथ विकासात्मक सहायता प्रदान करके "ग्रामीण समृद्धि हासिल करने" के अपने जनादेश को पूरा करने में सफल रहा है.
श्री बिंद्रा ने कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान खेती और कृषि समुदाय को इस संकट के दौरान राहत प्रदान करने के लिए नाबार्ड द्वारा किए गए विशेष उपायों और पहलों पर प्रकाश डाला, जिसमें बैंकों के लिए अल्पावधि तरलता, विशेष तरलता सुविधा के लिए पंजाब राज्य सहकारी बैंक लिमिटेड को दिए गए 1000 करोड़ रु की ऋण सहायता, पंजाब ग्रामीण बैंक को 500 करोड़ रु की ऋण सहायता और किसानों की तत्काल जरूरतों को पूरा करने के लिए एनबीएफसी-एमएफआई को दी गई 40 करोड़ रु की ऋण सहायता शामिल है. मिल्कफेड को 120 करोड़ रुपये की ऋण सहायता भी प्रदान की गई जिससे डेयरी क्षेत्र के किसानों को समय पर बिक्री की प्रक्रिया में मदद मिली. नाबार्ड ने गेहूं और अन्य कृषि वस्तुओं की खरीद की चुनौतियों और महामारी के कारण उत्पन्न प्रवासी श्रमिकों को आय सहायता प्रदान करने के उपाय से संबंधित मुद्दों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए राज्य सरकार के सलाहकार की भूमिका भी निभाई है.
39 वें स्थापना दिवस के अवसर पर, ग्रामीण समृद्धि के उद्देश्य को पुन: समर्पित करते हुए श्री बिंद्रा ने कहा कि नाबार्ड, पंजाब क्षेत्रीय कार्यालय, चंडीगढ़ ने पैक्स के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए पंजाब में 84.57 लाख रुपये की अनुदान सहायता प्रदान की थी, जिससे वे बहु-सेवा केंद्र के रूप में कार्य कर सकें और सदस्य किसानों को मूल्य वर्धित सेवाएं प्रदान कर सकें; सहकारी और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को डिजिटल मोड, कौशल और सूक्ष्म उद्यमिता विकास में वित्तीय लेनदेन प्रदान करने में सक्षम बनाया जा सके; कृषि उत्पादक संगठन (एफपीओ) जैविक खेती आदि को बढ़ावा दिया जा सके. इसके अतिरक्त फसल अवशेष प्रबंधन संचालन के लिए, धान की खेती के स्थान पर मक्का उत्पादक क्लस्टर के विविधीकरण के उद्देश्य से एनएएफसीसी द्वारा वित्तपोषित मौजूदा जलवायु परिवर्तन परियोजना के हिस्से के रूप में पंजाब सरकार के कृषि विभाग को 11.23 करोड़ रुपये की अनुदान सहायता स्वीकृत एवं जारी की गई है.
पंजाब क्षेत्रीय कार्यालय, चंडीगढ़ ने दिनांक 14 जुलाई 2020 को स्थापना दिवस मनाया. इस अवसर पर श्री जे.पी.एस. बिंद्रा, मुख्य महाप्रबंधक, नाबार्ड पंजाब क्षेत्रीय कार्यालय, द्वारा ग्रामीण कारीगरों को मार्केटिंग लिंकेज देने के लिए संगरूर में फुलकारी क्लस्टर और फतेहगढ़ साहिब में रूरल मार्ट का ऑनलाइन उद्घाटन किया गया
...