चंडीगढ़, 13 जुलाई। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि मध्यप्रदेश के बाद अब राजस्थान में भी जिस तरह कांग्रेस में बगावत दिख रही है, लगता है हरियाणा में भी टिड्डी दल की तरह इसका असर आएगा।

सोमवार को यहां स्थित पार्टी मुख्यालय में दुष्यंत चौटाला ने महाराष्ट्र के एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता के बयान का हवाला देकर कहा कि अब कांग्रेसी भी ये मानते हैं कि अगर ऐसे ही बगावत चलती रही तो कांग्रेस में नेता ही नहीं बचेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के अंदरूनी असंतोष का असर हरियाणा में हुआ तो यहां भी कई कांग्रेसी भागते हुए नज़र आएंगे।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अगर किसी प्रदेश की जनता किसी युवा नेता के समर्थन में आगे आती है और उसे अपनाकर व उसके विचारों से जुड़कर विकास का रास्ता चुनती है तो इस पर सभी दलों को ध्यान देना पड़ेगा।

रविवार को दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से हुई मुलाकात के बारे में उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार बनने के बाद से पिछले 8 महीने में राज्य में हुई प्रगति के बारे में उनकी चर्चा हुई और साथ ही राज्य में कोरोना के संदर्भ में राज्य और केंद्र के समन्वय पर भी बातचीत हुई। दुष्यंत चौटाला ने कहा उद्योग मंत्री के तौर पर उनका प्रयास है कि हरियाणा उद्योगों की पहली पसंद बने और इसके लिए उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री से अपने विचार सांझा किये है। एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम का जिक्र करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मशहूर मोबाइल और इलेक्ट्रोनिक्स कम्पनी एप्पल का चीन के साथ करार खत्म हो रहा है और अगर यह भारत में आता है तो बड़ी उपलब्धि होगी। उन्होंने कहा कि उद्योग मंत्री के नाते वे चाहेंगे कि हरियाणा भी एप्पल कम्पनी के साथ मिलकर काम करे और यहां भी औद्योगिक विकास को रफ्तार मिले। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जो उद्योग दूसरे देशों को छोड़कर भारत आना चाहते हैं, उन्हें अपने यहां स्थापित करवाने का हरियाणा भरपूर प्रयास करेगा।