सोलन - दिनांक 12.07.2020
वन विभाग बहुमूल्य वन सम्पदा की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध- यशुदीप सिंह

सोलन जिला के नालागढ़ उपमण्डल के उप अरण्यपाल यशुदीप सिंह ने कहा कि उपमण्डल के रामशहर के ग्राम मनलोगकलां में तुनी के पेड़ काटने के सम्बन्ध में पूर्ण जांच के उपरान्त उचित कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
यशुदाप सिंह ने इस सम्बन्ध में जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि 17 जून, 2020 को वन परिक्षेत्र अधिकारी रामशहर को दूरभाष पर ग्राम मनलोगकलां में तुनी के पेड़ काटने के सम्बन्ध में शिकायत प्राप्त हुई। उन्होंने कहा कि 18 जून, 2020 को इस शिकायत की जांच के लिए विभाग के बीट रक्षक चीलड बीट तथा वन खण्ड अधिकारी दीगल मौके पर गए। बीट रक्षक तथा वन खण्ड अधिकारी ने जांच करने पर पाया कि शिकायत में बताए गए तुनी के पेड़ आरोपी की निजी भूमि से काटे गए प्रतीत हो रहे थे।
उन्होंने कहा कि वन विभाग के कर्मचारियों ने नियमानुसार आरोनी व्यक्ति के बयान कलमबद्ध किए और मौके पर पड़ी तुनी की लकड़ी को कब्जे में ले लिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में नियमानुसार राजस्व विभाग के कर्मचारियों को सूचित किया गया है ताकि जिस भूूमि से पेड़ काटे गए हैं की शीघ्र निशानदेही की जा सके। उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग द्वारा इस भूमि की निशानदेही प्रदान करने के उपरान्त वन विभाग नियमानुसार अगली कार्यवाही अमल में लाएगा।
यशुदाप सिंह ने कहा कि वन विभाग द्वारा की गई जांच के अनुसार ग्राम मनलोगकलां में जिस भूमि से तुनी के पेड़ काटे गए ह वह न तो वन भूमि है और न ही यह भूमि आरक्षित वन के अधीन है।
उप अरण्यपाल ने जानकारी दी कि हिमाचल प्रदेश सरकार के 20 अप्रैल, 2017 को जारी एक आदेश के तहत ‘तुनी’ प्रजाति के पेड़ काटने (गिराने) पर कोई प्रतिबन्ध नहीं है।
यशुदाप सिंह ने कहा कि सम्बन्धित वन रक्षक तथा वन खण्ड अधिकारी के बयान के अनुसार उन्होंने शिकायतकर्ता के बारे में कोई भी सूचना किसी को भी नहीं दी है।
उप अरण्यपाल ने जानकारी दी कि हिमाचल प्रदेश सरकार के 20 अप्रैल, 2017 को जारी एक आदेश के अनुसार ‘तुनी’ प्रजाति के पेड़ काटने (गिराने) पर कोई प्रतिबन्ध नहीं है।
उन्होंने कहा कि वन विभाग बहुमूल्य वन सम्पदा की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और इस दिशा में किसी भी स्तर पर कोई कोताही नहीं बरती जा रही है।.
=========================================
सोलन -दिनांक 12.07.2020
अंतरराज्यीय सीमाओं पर स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती

जिला दण्डाधिकारी सोलन के.सी चमन ने कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत जिला की अंतरराज्यीय सीमाओं पर अन्य राज्यों से आने वाले प्रदेश के निवासियों के समुचित प्रबंधन एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के निर्देशों की अनुपालना के लिए जिला के परवाणू नाका तथा टीटीआर नाका पर स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा सेवाएं प्रदान करने के सम्बन्ध में आदेश जारी किए हैं।
यह आदेश आपदा प्रबन्धन अधिनियम-2005 की धारा 30 के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जारी किए गए हैं।
जिला दण्डाधिकारी ने 13 जुलाई से 19 जुलाई 2020 तक प्रातः, सांय तथा रात्रि समय की तीन शिफ्टों के लिए जिला के परवाणू नाका, टीटीआर नाका पर स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती की है।
13 जुलाई से 19 जुलाई 2020 तक परवाणू नाके पर प्रातःकालीन डयूटी के लिए सोलन होम्योपेथिक चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के डाॅ. प्रदीप शर्मा एवं मांग खनलियां, सांयकालीन डयूटी के लिए शुभम दीक्षित एवं पुनियो नाबिंग तथा रात्रि डयूटी के लिए महर्षि मार्कण्डेश्वर चिकित्सा महाविद्यालय कुम्हारहट्टी के प्रदीप और विक्रम उपस्थित रहेंगे।
इसी अवधि में जिला के टीटीआर नाके पर प्रातःकालीन डयूटी के लिए सोलन होम्योपेथिक चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के अमित कौशल एवं शवेता भास्कर, सांयकालीन डयूटी के लिए एम.एन. डीएवी दन्त महाविद्यालय के भीम सिंह एवं मल्हा सिंह तथा रात्रि समय में एम.एन. डीएवी दन्त महाविद्यालय के दीप चन्द और पुमेश मेहता उपस्थित रहेंगे।
------------------------------------------------------------
सोलन दिनांक 12.07.2020
सोलन जिला में 2670 व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में- डाॅ. गुप्ता

कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मन्त्रालय के दिशा-निर्देशानुसार सोलन जिला में वर्तमान में 2670 व्यक्तियों को निगरानी में रखा गया है। यह जानकारी आज यहां जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एन.के. गुप्ता ने दी।
डाॅ. गुप्ता ने कहा कि इन 2670 व्यक्तियों में से 2334 व्यक्तियों को होम क्वारेनटीन किया गया है। इनमें से 1653 व्यक्ति ऐसे हैं जिन्हें अन्य राज्योें से जिला में आने के उपरान्त होम क्वारेनटीन किया गया है। 681 अन्य व्यक्ति होम क्वारेनटीन हैं। 261 व्यक्ति संस्थागत क्वारेनटाईन में हैं।
डाॅ. गुप्ता ने कहा कि जिला में 03 व्यक्तियों को आईसोलेशन में रखाा गया है। इनमें से 01 व्यक्ति को क्षेत्रीय अस्पताल सोलन, 01 व्यक्ति को सामुदायिक स्वासथ्य केन्द्र नालागढ़ तथा 01 व्यक्ति को एमएमयू कुम्हारहट्टी में आईसोलेट किया गया है।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि जिला में अभी तक 14817 व्यक्ति 14 दिन की निगरानी अवधि पूर्ण कर चुके हैं।
उन्होंने कहा कि जिला में अभी तक कुल 17487 व्यक्तियों को निगरानी में रखा जा चुका है।
उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि सार्वजनिक स्थानों पर सोशल डिस्टेन्सिग नियम का पालन करें और दो व्यक्तियों के मध्य कम से कम दो गज की दूरी बनाए रखें। उन्होेंने सभी से आग्रह किया कि आरोग्य सेतु एप डाऊनलोड करें और इस एप में दिए गए निर्देशों का पालन करें। उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से आ रहे सभी व्यक्तियों को क्वारेनटीन के सम्बन्ध में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशांे का पालन करना आवश्यक है।