भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के चंडीगढ़ आगमन पर प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद के नेतृत्व में प्रदेश कार्यकारिणी, जिला अध्य्क्ष, मंडल अध्यक्ष और मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया

चंडीगढ़ 27 फ़रवरी,2020 : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के चंडीगढ़ आगमन पर प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद के नेतृत्व में प्रदेश कार्यकारिणी, जिला अध्य्क्ष, मंडल अध्यक्ष और मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया | नड्डा हिमाचल प्रदेश के सोलन में पार्टी के कार्यक्रम में भाग लेने आये हुए थे | इस अवसर पर उनके साथ हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर भी उपस्थित थे |

प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा का पुष्प गुच्छ प्रदान कर स्वागत किया और उसके उपरांत उनके साथ लगभग एक घंटा एयरपोर्ट पर ही चंडीगढ़ की समस्याओं को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा की | इस दौरान जे पी नड्डा ने अरुण सूद को आगामी 29 फ़रवरी को बिलासपुर में अपने पुत्र के शादी समारोह में भाग लेने का न्योता भी दिया | अरुण सूद ने उनके न्योते को स्वीकार करते हुए शादी समारोह में चंडीगढ़ भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ बिलासपुर में भाग लेने की बात कही और राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा को उनके पुत्र की शादी के लिए बधाई और शुभकामनाएं भेंट की |

इस अवसर पर चंडीगढ़ भाजपा की और से उनके साथ पार्टी के राष्ट्रीय परिषद सदस्य संजय टंडन, उपाध्यक्ष रघुबीर लाल अरोड़ा, भीमसेन और रामलाल, महिला मोर्चा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आशा जसवाल, महामंत्री प्रेम कौशिक और चंद्रशेखर, युवा मोर्चा राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अमित राणा, प्रदेश सचिव रमेश कुमार निक्कू, रेनू बाला, अनीता चौधरी, नीना तिवारी, जिला अध्यक्ष रविंद्र पठानिया,मनु भसीन और डॉ नरेश, गौरव गोयल, बलविंदर शर्मा, कृष्ण कुमार,ओ पी मेहरा आदि सैंकड़ों कार्यकर्ता एयरपोर्ट उपस्थित थे |

====================================

भारतीय जनता पार्टी चंडीगढ़ के अध्यक्ष अरुण सूद ने चंडीगढ़ के प्रशासक श्री वी.पी.सिंह बदनौर से मुलाकात की और शहर की वर्तमान परिस्थितियों पर चर्चा की।

अरुण सूद ने प्रशासक के समक्ष चंडीगढ़ नगर निगम द्वारा पानी की बढ़ाई गई दरों को नगर निगम सदन द्वारा पारित प्रस्ताव के अनुसार घटाने के विषय पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि जहां हम एक ओर नगर निगम को घाटे से उबारना चाहते हैं वहीं यह भी चाहते हैं कि चंडीगढ़ की जनता पर अनावश्यक आर्थिक बोझ न पड़े।

उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ प्रशासन ने नगर निगम को शहर के गांव हस्तांतरित किए हैं। इन गांवों में अधिकतर आबादी लाल डोरे के बाहर रह रही है। उन्होंने कहा कि नगर निगम को यह अधिकार दिए जाएं कि वह लाल डोरे के बाहर रहने वाले लोगों को भी पानी, सीवरेज और सडक़ों की सुविधा दे सके।

चंडीगढ़ के विभिन्न क्षेत्रों में बैठे रेहड़ी फड़ी वालों को वेंडर्स एक्ट के अंतर्गत अपनी पुरानी जगह से हटाने और कई सैक्टरों में वेंडर काोन न बनाए जाने के कारण उपजी समस्या को भी उन्होंने प्रशासक के समक्ष उठाया और अनुरोध किया कि उन्हें भी शीघ्र यथासंभव स्थानों पर, जोकि स्थानीय पार्षदों द्वारा अधिकारियों को बता दिए गए हैं, वेंडर ज़ोन बनाकर पुनस्र्थापित किया जाए ताकि वे अपनी रोजी-रोटी कमा सकें ।

अरुण सूद ने चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड के निवासियों की समस्या को भी प्रमुखता से उठाते हुए उनके द्वारा आवश्यकतानुसार किए गए बदलावों को नियमित करने तथा बार-बार दिए जा रहे नोटिस रोकने का अनुरोध किया और इस समस्या पर एक विस्तृत नीति बनाकर इस समस्या का समाधान करने की मांग की।

इसके अतिरिक्त उन्होंने सैक्टर 49, 50 और 51 की विभिन्न सोसायटियों की समस्याओं, व्यापारी एवं उद्योगपतियों की समस्याओं, प्राइवेट स्कूलों में बढ़ती हुई फीस पर लगाम लगाने, आदर्श कालोनी और इंदिरा कालोनी के निवासियों के बायोमैट्रिक सर्वे करने और पुनर्वास कालोनियों के निवासियों को मालिकाना हक देने, पेइंग गेस्ट की समस्या, आउटसोर्स कर्मचारियों को निकालने की बजाय उन्हें विभागों में समाहित करने तथा मोहाली एवं पंचकूला से चंडीगढ़ में आने वाले आटो संबंधी विषयों पर भी चर्चा की।


--