धर्मशाला, 24 फरवरी: लोकसभा संासद किशन कपूर ने कहा कि धर्मशाला शहीद स्मारक शहीदों का मंदिर है तथा इसकी सुन्दरता बढ़ाने के लिए धन की कोई कमी नहीं रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि युद्व संग्रहालय तथा शहीद स्मारक स्थल बड़ी संख्या में धर्मशाला आने वाले पर्यटकों के लिए यह एक दर्शनीय स्थल होगा। इसे एक ऐसी जगह के तौर पर विकसित किया जा रहा है जहां लोग सैनिकों और राष्ट्र की सुरक्षा में किए गए उनके असाधारण प्रयासों के प्रति सम्मान व्यक्त करेंगे।
किशन कपूर आज सोमवार को धर्मशाला के मिनी सचिवालय में विभिन्न कार्यो की प्रगति की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे।
उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को शहीद स्मारक की सुंदरता से जुड़े कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने को कहा। उन्होंने कहा कि शहीद स्मारक तथा युद्ध संग्रहालय के माध्यम से वीरों की कुर्बानियों तथा उनकी यादें हमेशा तरोताजा रहेंगी। उन्होंने कहा कि युद्ध संग्रहालय सेना के युद्धों और संघर्षों की शिक्षा एवं देशभक्ति को बढ़ावा देने के लिए ऐतिहासिक महत्व से जुड़ी चीजों के संग्रह, संरक्षण, व्याख्या और सैन्य साजोसामान की प्रदर्शनी करने वाला संस्थान होगा। उन्होंने कहा कि शहीद स्मारक में सौन्दर्यीकरण के विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए पर्याप्त धन उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया।
उन्होंने अघंजर महादेव में एशियन विकास बैंक द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रगति का जायजा लिया तथा उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निदेश दिये कि किये जा रहे कार्यों में पूर्ण गुणवत्ता बरती जाए। उन्होंने कहा कि कार्य की गुणवत्ता को लेकर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने भागसूनाग में भी शीघ्र कार्य शुरू करने के सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये।
कपूर ने कहा कि मुख्यमंत्री लोक भवन योजना के तहत लोक भवनों का निर्माण किया जा रहा है। जिसका उद्देश्य गा्रमीण क्षेत्रों में विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों के लिए एक भवन उपलब्ध करवाना है। उन्होंने सम्बन्धित विभाग को लोक भवनों के लिए जमीन तलाशने के निर्देश दिये ताकि लोक भवनों का निर्माण करवाया जा सके।
किशन कपूर नेे केन्द्रीय विश्वविद्यालय के निर्माण को लेकर प्रगति का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि जदरांगल में सीयू के निर्माण को लेकर प्रक्रिया को शीघ्र पूरा करने के लिये तत्परता से कार्य करने को कहा। उन्होंने सम्बंधित विभागों को आपसी समन्वय से काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि केंद्रीय विश्वविद्यालय को लेकर लोगों की बहुत अपेक्षाएं और आशायें हैं, इस कार्य को प्राथमिकता पर करें।
कपूर ने कहा कि धर्मशाला में पर्यटन की अनेक संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला के गगल में बडे़ हवाई अड्डे का विस्तार सामरिक और पर्यटन दृष्टि से अधिक महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि बड़ा हवाई अड्डा बनने से प्रदेश के पर्यटन क्षेत्र में व्यापक विस्तार होगा और इस क्षेत्र में लोगों को स्वरोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे।
कपूर ने सामरिक दृष्टि से अहम पठानकोट-मंडी फोरलेन के निर्माण कार्य की प्रगति को लेकर अधिकारियों से बातचीत की तथा उचित कार्यवाही के निर्देश दिये।
इस अवसर उपायुक्त राकेश प्रजापति, उपनिदेशक पर्यटन सुनयना शर्मा, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग सुशील डढ़वाल, बीडीओ अभिनीत, सेवानिवृत ब्रिगेडियर एसके पाठक, कैप्टन रमेश अटवाल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा अघंजर महादेव कमेटी के सदस्य मौजूद थे।
000