चण्डीगढ़, 20 फरवरीः- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा है अनुशासन और सेवाभाव से ही देश और समाज को आगे बढ़ाया जा सकता है इसलिए बच्चों को स्काउट्स/गाइड्स जैसी संस्थाओं से जोड़कर उनमें बचपन से ही अनुशासन और सेवाभाव की भावना भरी जानी चाहिए। श्री आर्य वीरवार को यहां हरियाणा राजभवन में आयोजित हरियाणा स्टेट भारत स्काउट्स/गाइड्स संस्था की राज्य परिषद की 42वीं वार्षिक बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर प्रदेश के 146 कब्स/बुलबुल्स, स्काउट्स/गाइड्स, रोवर्स/रेंजर्स, वयस्क लीडर्स व पदाधिकारियों को सम्मानित किया। इनमें 30 कब्स/बुलबुल्स, 30 स्काउट्स/गाइड्स, 10 रोवर्स/रेंजर्स, पांच लक्ष्मी मजूमदार अवार्ड, 44 जिला आयुक्त स्काउट्स/गाइड्स, चार लांग सर्विस डेकोरेशन, दो मेरिट मैडल बार व दो मेरिट मैडल तथा एक लीडर ट्रेनर स्काउट्स पुरस्कार शामिल हैं।
उन्होंने सम्मान प्राप्त करने वाले सभी स्काउट्स/गाइड्स व पदाधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि स्काउट्स/गाइड्स वास्तव में एक आंदोलन का नाम है जो आपसी भाईचारे, देशप्रेम, कत्र्तव्य पालन, अनुशासन, कठोर परिश्रम, सद्व्यवहार, निष्ठा तथा परोपकार जैसे गुणों को जीवन में अपनाने की प्रेरणा देता है।
श्री आर्य ने संस्था के पदाधिकारियों का आहवान किया कि वे सुनिश्चित करें कि स्काउट्स/गाइड्स संस्था द्वारा रक्तदान, नेत्रदान, वृक्षारोपण, व्यवसायिक, प्रशिक्षण, निरक्षरता-उन्मूलन, जनसंख्या नियंत्रण और स्वच्छता अभियान जैसे कार्यक्रम प्रभावी ढंग से आयोजित करें। इन कार्यक्र्रर्मों से ही सामाजिक कुरीतियों से मुक्ति मिलेगी और राष्ट्र की प्रगति का मार्ग प्रशस्त होगा।
उन्होनें अपने छात्र जीवन के अनुभव सांझा करते हुए कहा कि बचपन से ही उन्होनंे स्काउट्स/गाइड्स से जुड़कर अनुशासन का पाठ पढ़ा, जिसकी बदौलत उन्हें स्काउट्स/गाइड्स में धु्रपद, गुरूपद का अवार्ड प्राप्त हुआ। इन अवार्डों को आज प्रवेश, प्रथम सोपान, द्वितीय सोपान, तृतीय सोपान, राज्य पुरस्कार और राष्ट्रपति पुरस्कार के नाम से जाना जाता है। बच्चों को भी संस्था की गतिविधियों में ज्यादा से ज्यादा रूचि लेनी चाहिए, जिससे वे बड़े होकर देश के आदर्श नागरिक बनेगें।
श्री आर्य ने कहा कि प्रदेशवासियों के लिए गर्व की बात है कि हरियाणा की जनसंख्या देश की जनसंख्या का केवल 2 प्रतिशत है लेकिन हरियाणा में स्काउट्स/गाइड्स की संख्या राष्ट्रीय स्तर पर 16 प्रतिशत है। गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी हमारी राज्य संस्था को स्काउट्स एवं गाइड्स की गतिविधियों के लिए राष्ट्रीय स्तर पर 21 ईनामों से विभूषित किया गया है।
उन्होनंे स्काउट्स एवं गाइड्स संस्था के राज्य मुख्य आयुक्त डा0 के.के.खंडेलवाल को एक डायनामिक अधिकारी बताया और कहा कि सभी पदाधिकारी कॉरपोरेट सोशल रिस्पाँसिबिलिटी के तहत ज्यादा से ज्यादा फंडिंग और ग्रांट के स्त्रोतों को तलाशें और संस्था के वित्तीय स्थिति मजबूत करें। संस्था के सभी पदाधिकारियों से कहा कि वे एक नए विजन के साथ भविष्य की कार्ययोजना भी तैयार करें, जिससे संस्था की गतिविधियों को और गति दी जा सके।
इससे पूर्व संस्था के राज्य मुख्य आयुक्त डा0 के.के.खंडेलवाल ने राज्यपाल का स्वागत करते हुए स्काउट्स/गाइड्स संस्था की गतिविधियों के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह संस्था विश्व की एक ऐसी अनूठी संस्था है जो व्यक्ति में बचपन से ही देश प्रेम, प्रकृति प्रेम, पर्यावरण प्रेम, सेवाभाव और अनुशासन की भावना सिखाती है। संस्था का हर कार्यकलाप राष्ट्र-भक्ति, मानव कल्याण तथा पशु व जीव कल्याण से जुड़ा होता है। इस संस्था से जुड़कर व्यक्ति विनम्रता, नैतिक मूल्यों और सदाचार की सीख लेता है। कार्यक्रम में राज्य कोषाध्यक्ष श्री आर.के गुप्ता ने संस्था की वित्तीय स्थिति की विस्तार से जानकारी दी। साथ ही अवैतनिक राज्य सचिव श्री एस.एस. कौशल ने संस्था की रिपोर्ट प्रस्तुत की।
समारोह में स्काउट्स/गाइड्स संस्था की उपाध्यक्ष व अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती धीरा खंडेलवाल, राज्यपाल की सचिव डा0 जी. अनुपमा, संस्था की राज्य आयुक्त (गाइड्स) व प्रधान सचिव दीप्ती उमाशंकर तथा हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड के चैयरमेन डा0 जगबीर सिंह व अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।