CHANDIGARH,09.02.20-(विनोद कुमार), चंडीगढ़। केंद्रीय आर्य सभा द्वारा आर्य समाज सेक्टर 7 बी, चंडीगढ़ में महर्षि दयानंद सरस्वती का जन्मोत्सव 13 फरवरी से चंडीगढ़, पंचकुला और मोहाली की सभी आर्य समाजों तथा आर्य शिक्षण संस्थाओं के सम्मिलित सहयोग से मनाया जा रहा है।
इस उपलक्ष्य में केंद्रीय आर्य सभा के प्रधान रविंदर तलवाड़ की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। प्रधान रविंदर तलवाड़ ने बताया कि 13 फरवरी से प्रारम्भ होने वाला यह उत्सव 18 फरवरी तक चलेगा। 13 से 17 फरवरी तक प्रात:कालीन कार्यक्रम 7:30 बजे से 9 बजे तक चलेगा। सांयकालीन कार्यक्रम 5:30 बजे से 7:15 बजे तक चलेगा। मुख्य उत्सव 18 फरवरी को होगा। इसका शुभारंभ प्रात: 8 बजे होगा और यह कार्यक्रम दोपहर 1:30 बजे तक आयोजित होगा। इसके पश्चात ऋषि लंगर वितरित किया जायेगा। 14 फरवरी को विशाल शोभा यात्रा का आयोजन होगा। इसमें चंडीगढ़, पंचकुला, मोहाली ,सूरजपुर, डेराबस्सी की सभी आर्य समाजें तथा आर्य शिक्षण संस्थाएं आकर्षक झांकियों सहित भाग ले रही हैं। यह झांकियां आकर्षण का मुख्य केंद्र होंगी। शोभा यात्रा आर्य समाज सेक्टर 7 बी, चंडीगढ़ से प्रारम्भ होकर सेक्टर 7,8,18, 17 से होती हुए आर्य समाज सेक्टर 22 में संपन्न होगी।
केंद्रीय आर्य सभा के मीडिया प्रभारी डॉ. विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि 18 फरवरी तक चलने वाले इस कार्यकर्म में होशंगाबाद से अंतरराष्ट्रीय वैदिक प्रवक्ता आचार्य आनंद पुरुषार्थी, पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ के संस्कृत एवं दयानंद शोध पीठ के पूर्व अध्यक्ष डॉo विक्रम विवेकी , डॉ. आयुषी शास्त्री तथा भजनोपदेशक पंडित विमल देव अग्निहोत्री शिरकत करेंगे।