सोलन दिनांक 22.01.2020
प्राकृतिक आपदा से बचाव को लेकर प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण सोलन द्वारा विकास खण्ड कण्डाघाट में पंचायत स्तर पर ग्राम आपदा प्रबंधन समितियों के लिए आयोजित तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आज संपन्न हो गया। यह जानकारी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की समन्वयक अपूर्वा मारिया ने दी।
उन्होंने कहा कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में कण्डाघाट विकास खंड की ग्राम पंचायत कोट, बाशा तथा वाकना के ग्रामीणों को प्राकृतिक आपदो से निपटने की जानकारी प्रदान की गई।
उन्होंने कहा कि जिला में ग्राम स्तर पर सभी को आपदा के विषय में जागरूक बनाने तथा आपदा से बचाव के उपायों का प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। आपदा प्रबंधन को सुनियोजित रूप से कार्यान्वित करने के लिए पंचायत स्तर पर ग्राम आपदा प्रबंधन समितियां गठित की गई हैं। इन समितियों का गठन जिला की सभी ग्राम पंचायतों में किया गया है।
उन्हांेने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान स्वयं सेवी संस्था डोयेर की अनुराधा व उनकी टीम ने ग्रामीणों को प्राथमिक उपचार के संबंध में जानकारी प्रदान की। गृह रक्षा विभाग के गृह रक्षक टीआर शर्मा द्वारा खोज एवं बचाव के विभिन्न तरीकों के साथ आग से बचाव की जानकारी प्रदान की गई।
उन्होंने कहा कि इन आपदा प्रशिक्षण कार्यक्रमों का उद्देश्य जिला की सभी 211 ग्राम पंचायतांे में ग्रामीणों को प्राकृतिक आपदा से बचाव के बारे में जागरूक करना है ताकि किसी भी प्राकृतिक आपदा के दौरान होने वाले नुकसान को कम किया जा सके और प्रशिक्षित स्वयंसेवी तैयार रहें। उन्होंने कहा कि अभी तक कण्डाघाट विकास खंड की 06 ग्राम पंचायातों के लगभग सौ सदस्यों को प्राकृतिक आपदा से बचाव के बारे में जागरूक किया जा चुका है।
इस अवसर पर प्रलेख समन्वयक गौरव मेहता, विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि व ग्रामीण उपस्थित थे।
===============================================
सोलन दिनांक 22.01.2020
राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर सभी मतदान केंद्रों में उपलब्ध रहेंगी मतदाता सूचियां
25 जनवरी को मनाया जाएगा राष्ट्रीय मतदाता दिवस

राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर 25 जनवरी, 2020 को सोलन जिला के सभी मतदान केंद्रों में आमजन की सुविधा के लिए मतदाता सूची रखी जाएंगी। मतदाता संबंधित मतदान केंद्र पर इन मतदाता सूचियों का निःशुल्क निरीक्षण कर सकेंगे। यह जानकारी आज यहां राष्ट्रीय मतदाता दिवस के जिला स्तरीय कार्यक्रम के आयोजन के लिए बुलाई गई बैठक की अध्यक्षता करते हुए अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विवेक चंदेल ने दी।
विवेक चंदेल ने कहा कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस का जिला स्तरीय कार्यक्रम 25 जनवरी, 2020 को प्रातः 11.00 बजे औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सोलन के सभागार में आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र स्तर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम बूथ स्तर के अधिकारी की देखरेख में आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य मतदाताओं को जागरूक बनाना तथा 18 से 20 वर्ष आयु वर्ग के नव मतदाताओं को फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र वितरित करना है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के माध्यम से युवा मतदाताओं को राष्ट्र की लोकतांत्रिक प्रक्रिया में उनकी भूमिका और सहभागिता के विषय में जागरूक बनाया जाएगा।
विवेक चंदेल ने कहा कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर इस वर्ष ‘साक्षर मतदाता-मज़बूत लोकतन्त्र’ विषय रखा गया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर इस विषय पर विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएंगी।
उन्होंने जिला निर्वाचन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस के सफल आयोजन के लिए मतदान केंद्र के अंतर्गत आने वाले पात्र मतदाताओं को जागरूक करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि नए पात्र मतदाताओं का पंजीकरण करें तथा पम्फलेट व पोस्टर वितरित कर पात्र नागरिकों को मतदाता सूचियों में नाम दर्ज करवाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि जिला के महाविद्यालयों तथा विद्यालयों का दौरा करें तथा पात्र छात्र-छात्रों को मतदाता सूची में पंजीकरण का महत्व बताएं और उनसे आग्रह करें कि अपना फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र अवश्य बनवाएं।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर मतदाता सूची में किसी भी प्रकार के दावे, आक्षेप व शुद्धिकरण के लिए प्रपत्र 6, 7, 8 व 8ए संबधित बूथ स्तर के अधिकारियों के पास उपलब्ध रहेंगे।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर शपथ भी दिलाई जाएगी।
उन्होंने जिला कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए कि इस अवसर पर दिव्यांग, आवासहीन, थर्ड जेंडर तथा समाज के विशेष वर्गों को फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र बनाने की पूरी जानकारी उपलब्ध करवाई जाए।
उन्होंने जिला स्तरीय कार्यक्रम के आयोजन के लिए जिला निर्वाचन विभाग के अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश जारी किए।
तहसीलदार निर्वाचन राजेंद्र शर्मा ने जिला स्तरीय कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में युवा मतदाताओं को फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र जारी किए जाएंगे।
इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।
बैठक में उपमंडलाधिकारी सोलन रोहित राठौर, जिला कल्याण अधिकारी बीएस ठाकुर, उपनिदेशक उच्च शिक्षा योगेंद्र मखैक, जिला उप शिक्षा अधिकारी चंद्रमोहन शर्मा, नायब तहसीलदार निर्वाचन महेंद्र ठाकुर, नेहरू युवा केंद्र की समन्वय ईरा प्रभात सहित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
==============================================================
सोलन दिनांक 22.01.2020
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत 136084 लाभार्थियों को गैस कुनैक्शन वितरित
ग्राम पंचायत शहरोल तथा बसंतपुर में कलाकारों ने गाकर बताई कल्याणकारी योजनाएं

प्रदेश में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से उपलब्ध करवाई जा रही खाद्य सामग्री एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं के विक्रय में पारदर्शिता बनाए रखने और आमजन को त्वरित सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा प्रदेश की समस्त उचित मूल्य की दुकानों में 4975 एण्ड्रॉयड आधारित प्वाइंट ऑफ सेल मशीनें स्थापित की गई हैं। इन मशीनों के माध्यम से राज्य के उपभोक्ताओं को सस्ता राशन उपलब्ध करवाया जा रहा है।
यह जानकारी सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से संबद्ध अक्षिता कलामंच के कलाकारों ने कुनिहार विकास खंड की ग्राम पंचायत शहरोल तथा बसंतपुर में गीत-संगीत व नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से प्रदान की।
कलाकारांे ने बताया कि राज्य विशेष अनुदानित योजना के अंतर्गत दालें, खाद्य तेल, आयोडीन युक्त नमक, चीनी तथा मिट्टी तेल वितरित किया जा रहा है। कलाकारांे ने समूह गीत ‘सबका साथ-सबका विकास है मूल मंत्र हमारा, जाग उठा है अब हिमाचल सारा’ के माध्यम से बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत एपीएल उपभोक्ताओं को 8.60 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से गेहूं का आटा तथा 10 रुपए प्रति किलो की दर से चावल प्रतिमाह उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। अंत्योदय अन्न योजना में 15 किलोग्राम चावल 03 रुपये तथा 20 किलोग्राम गेहूं 02 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से हर माह उपलब्ध करवाया जा रहा है।
कलाकारों ने बताया कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत देश में 8 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को निःशुल्क रसोई गैस कुनैक्शन उपलब्ध करवा दिए गए हैं। योजना के तहत प्रदेश में भी 1,36,084 पात्र लाभार्थियों को गैस कुनैक्शन वितरित किए जा चुके हैं।
कलाकारों ने उपस्थित जनसमूह को नशे के दुष्परिणामों के बारे में भी अवगत करवाया। कलाकारों ने बताया कि परिवार भी तभी संपन्न होंगे जब हमारा प्रदेश और देश तरक्की की राह पर अग्रसर होगा। इसके लिए हमारे युवाओं का पूर्ण रूप से स्वस्थ एवं जागरूक होना आवश्यक है। यह तभी संभव है जब युवा शक्ति को नशे जैसी सामाजिक बुराई से दूर रखा जा सके। कलाकारों ने बताया कि माता-पिता को न केवल अपने बच्चों को गलत संगती से दूर करना होगा अपितु यह प्रयास भी करना होगा कि उनके अन्य साथियों को भी सही दिशा में लेकर जाया जा सके।
कलाकारों ने सौर सिंचाई योजना, सहारा योजना, जल से कृषि को बल योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, मुख्यमंत्री ग्रीनहाउस नवीकरण योजना तथा जननी सुरक्षा योजना की भी जानकारी प्रदान की।
इस अवसर पर ग्राम पंचायत बसंतपुर की प्रधान आशा देवी, उप प्रधान बिशन चंद, पंचायत सचिव सुरेश कुमार, वार्ड सदस्य देवेंद्र, प्रोमिला, निक्की देवी, ग्राम पंचायत शहरोल के प्रधान बलदेव, उप प्रधान राम प्रकाश, बीडीसी सदस्य सावित्री शर्मा, पंचायत सचिव राम किशन, वार्ड सदस्य रीना देवी, धनंवती देवी, भीमा देवी, चमन लाल, भगतराम सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।
========================================================
आपदा प्रबंधन को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह से सजग: डीसी
धर्मशाला, 22 जनवरी। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि आपदा प्रबंधन प्लान को कारगर तरीके से कार्यान्वित किया जा रहा है तथा भारी बारिश तथा बर्फबारी के दौरान लोक निर्माण विभाग, आईपीएच, विद्युत विभाग ने राहत तथा पुनर्वास के लिए तत्परता के साथ कार्य किया है।
बुधवार को उपायुक्त कार्यालय परिसर में आपदा प्रबंधन की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि मुल्थान तक सड़कें वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से खुली हैं जबकि बड़ा भंगाल का रास्ता बर्फबारी के कारण अवरूद्व है लेकिन बड़ा भंगाल में पहले ही आवश्यक खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई गई है।
उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में अधिकांश मार्ग यातायात के लिए पूरी तरह से खुले हैं। इसके साथ ही विद्युत तथा पेयजल की सप्लाई भी सुचारू तौर पर हो रही है। उपायुक्त ने कहा कि आईपीएच, लोक निर्माण विभाग तथा विद्युत विभाग को नियमित तौर पर आपदा प्रबंधन की रिपोर्ट प्रेषित करने के लिए कहा गया है ताकि किसी भी स्तर पर राहत तथा पुनर्वास के कार्य समयबद्व पूरा किए जा सकें।
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि आपदा प्रबंधन के लिए कांगड़ा जिला में पांच सेटलाइट फोन भी उपलब्ध करवाए गए हैं ताकि किसी भी आपात स्थिति में आपदा प्रबंधन के लिए संचार के साधन उपलब्ध रहें। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि आपदा प्रबंधन को लेकर जिला स्तर से लेकर उपमंडल स्तर तक प्लान भी तैयार किए गए हैं इस के लिए आवश्यक उपकरण भी उपलब्ध करवाए गए हैं।
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि आपदा प्रबंधन को लेकर वालंटियर्स के लिए जिला में प्रशिक्षण शिविर भी आरंभ किए गए हैं ताकि पंचायत स्तर तक आपदा प्रबंधन को लेकर आमजनमानस का सहयोग भी सुनिश्चित किया जा सके।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक विमुक्त रंजन, एडीएम मस्त राम सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।
.0.