चंडीगढ़, 2 दिसम्बर: इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश की गठबंधन सरकार को ‘गठबंधन बनाम प्रदेशवासियों से रोजगार छीनने वाली’ सरकार बताया। एक तरफ तो गठबंधन सरकार नौकरियों में 75 फीसदी प्रदेशवासियों को लेने की डींगे हांक रही है वहीं आए दिन नौकरीशुदा लोगों को नौकरी से हटाने के फरमान जारी कर रही है। भाजपा-जजपा को वोट देकर प्रदेश के लोग अब ठगा सा महसूस करने लगे हैं।
उन्होंने बताया कि इनेलो प्रदेश से होमगार्डों की सेवाएं समाप्त करने के फरमान पर प्रदेश सरकार की कड़ी निंदा करती है। जब लोकसभा/विधानसभा के चुनाव आते हैं तब तो व्यवस्था को दुरुस्त बनाए रखने के लिए देश-प्रदेश की सरकारों को ये होमगार्ड के जवान याद आ जाते हैं और जब सरकारों का स्वार्थ पूरा हो जाता है तो इन जवानों को फिर बेरोजगार बना दिया जाता है। अब ऐसे में ये जवान घर के रहते न घाट के अर्थात् कहीं भी स्थायी रोजगार नहीं हासिल कर पाते और अपने परिजनों के गुजर-बसर के लिए दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर हो जाते हैं।
इनेलो नेता ने बताया कि पिछले माह भी प्रदेश की सरकार ने आईटीआई में अनुदेशकों के करीब 2388 पदों पर कार्यरत लोगों की नौकरियों पर तलवार लटका रखी है। इनेलो नेता ने अफसोस जताया कि सरकार इन्हीं पदों पर जो दोबारा से भर्ती प्रक्रिया शुरू करना चाहती है उनमें 1410 पदों पर भी कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ही लोगों को भर्ती किया गया था फिर उन्हीं पदों के लिए दोबारा से भर्ती क्यों? इनेलो नेता ने मांग की कि प्रदेश की गठबंधन सरकार लोगों को नौकरियों से हटाने की बजाय उन्हें रोजगार देकर अपने चुनावी वादों को पूरा करने पर ज्यादा ध्यान दे।