प्रेस क्लब कुल्लू ने भवन लोकार्पण के लिए जताया मुख्यमंत्री व वन मंत्री का आभार
KULLU,17.10.19-प्रेस क्लब भवन कुल्लू के लोकार्पण में सहयोग के लिए जिला प्रेस क्लब
कुल्लू ने सभी का आभार प्रकट किया और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर,वन मंत्री
गाविंद सिंह ठाकुर,सांसद राम स्वरूप शर्मा,विधायक सुंदर सिंह
ठाकुर,एचपीएम के उपाध्यक्ष राम सिंह,सहित सभी अन्य सहयोगियों का धन्यवाद
भी किया है। इसके अलावा सुचना जन संपर्क विभाग के निदेशक हरवंस
नेगी,सुचना जन संपर्क विभाग की उप निदेशक मंजुला मुरीद,उपायुक्त कुल्लू ऋ
चा वर्मा व उनकी पूरी टीम,एसपी गौरव सिंह,डीपीआरओ प्रेम ठाकुर,एपीआरओ
अनिल गुलेरिया, हमारे पूर्व में रहे निदेशक एमपी सूद, पूर्व में रहे
डीपीआरओ शेर सिंह,प्रेस क्लब के फाउंडर महासचिव डा.पीडी लाल ,छविंद्र
ठाकुर,युवराज बौद्ध,मिडिया मंच के अध्यक्ष श्याम कुल्वी,लोनिवि,विधुत
विभाग, आईपीएच विभाग सहित प्रेस क्लब के तमाम पदाधिकारी,सदस्यगण व अन्य
पत्रकार सहयोगियों का दिल की गहराईयों से आभार प्रकट किया है कि आपके
सहयोग से आज हम सब का सपना पूरा हुआ है। जिला प्रेस क्लब कुल्लू ने कहा
है कि हम वादा करते हैं कि प्रेस क्लब में सभी पत्रकारों के लिए बेहतर
सुविधा प्रदान की जाएगी।
==========================
सोलन-दिनांक 17.10.2019
उपभोक्ता जमा करवाएं बिजली के बिल, अन्यथा कटेंगे कुनैक्शन
हिमाचल प्रदेश विद्युत बोर्ड लिमिटिड द्वारा उन उपभोक्ताओं के विद्युत कुनैक्शन काट दिए जाएंगे, जिन्होंने सितंबर, 2019 में अपने बिजली के बिल जमा नहीं करवाए हैं। यह जानकारी आज यहां प्रदेश विद्युत बोर्ड निगम लिमिटिड के सहायक अभियंता रमेश कुमार शर्मा ने दी।
उन्होंने कहा कि काटे जाने वाले कुनैक्शन की कुल संख्या 2570 है। उपभोक्ताओं द्वारा जमा न करवाई गई कुल राशि 29,81,869.95 रुपये है। इनमें 1956 घरेलू उपभोक्ता हैं। इनकी कुल राशि 15,81,394.90 रुपये है। कुल उपभोक्ताओं में से 565 व्यवसायिक उपभोक्ता हैं। इनकी कुल राशि 12,31,738.57 रुपये है। अन्य 49 उपभोक्ताओं की राशि 1,68,736.48 रुपये है।
उन्होंने सभी उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि वे अपने बिल 25 अक्तूबर, 2019 तक जमा करवा दें। उन्होंने कहा कि इस दिन एक काउंटर सेर चिराग (जौणाजी) तथा दूसरा काउंटर ब्रूरी में लगाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि उपभोक्ता अपने बिल पेटीएम, गुगल पे, अमेजाॅन, भीम ऐप द्वारा भी जमा करवा सकते हैं।
उन्होंने सभी उपभोक्ताओं से अनुरोध किया वे अपने बिजली तुरंत जमा करवा दें ताकि उनकी विद्युत आपूर्ति यथावत रहे।
====================================
सोलन-दिनांक 17.10.2019
राज्यपाल 18 अक्तूबर को नालागढ़ में

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय 18 अक्तूबर, 2019 को सोलन जिला के नालागढ़ के प्रवास पर आ रहे हैं।
राज्यपाल 18 अक्तूबर, 2019 को प्रातः 09.50 बजे राजकीय महाविद्यालय नालागढ़ से नशा मुक्ति रैली को रवाना करेंगे।
बंडारू दत्तात्रेय तदोपरान्त नालागढ़ स्थित पुराना राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला परिसर में तीन दिवसीय जिला स्तरीय रेडक्रॉस मेले का शुभारंभ करेंगे।
==================================
सोलन -दिनांक 17.10.2019
स्वास्थ्य विभाग सोलन की नशा मुक्ति अभियान के तहत अभिनव पहल

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नशा मुक्त हिमाचल के संकल्प को पूरा करने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सोलन द्वारा अभिनव पहल की गई है। इस पहल के अंतर्गत विभाग विद्यालयों के साथ-साथ जिला में कार्यरत विभिन्न उद्योगों सहित ट्रक, टैम्पो यूनियनों के साथ जुड़े चालकों एवं अन्य को नशे से दूर रहने के लिए जागरूक करेगा। समाज में व्याप्त विभिन्न प्रकार की नशाखोरी का पता लगाकर पीडि़त व्यक्तियों का समुचित उपचार किया जाएगा।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा इस अभिनव पहल का शुभारंभ गत दिवस सोलन के चंबाघाट स्थित शिवालिक बाई मेटल उद्योग से किया गया। इस प्रथम कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डॉ. राजन उप्पल ने की।
डॉ. राजन उप्पल ने कहा कि विभिन्न प्रकार के नशों से लोगांे को दूर रखने में जहां स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की भूमिका है वहीं समाज को भी अपना उत्तरदायित्व निभाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि युवा वर्ग के साथ-साथ उद्योग जगत एवं स्वरोजगार कर रहे लोगों पर भी ध्यान दिया जाना आवश्यक है ताकि नशाखोरी की समस्या का सफलतापूर्वक सामना किया जा सके।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि विभाग अपनी इस अभिनव पहल के तहत युवाओं तथा उद्योगों में कार्यरत कामगारों, ट्रक-टैम्पों यूनियन के साथ जुड़े लोगों एवं अन्य में नशाखोरी की पहचान करेगा और उन्हें मनोचिकित्सीय एवं मनोवैज्ञानिक उपचार उपलब्ध करवाएगा। उन्होंने जिला में कार्यरत उद्योगों के प्रबंधन से आग्रह किया कि अपने संस्थानों में नशोखारी की समस्या पर ध्यान दें ताकि पीडि़त व्यक्तियों का समय पर उपचार किया जा सके और उद्योगों की उत्पादकता में कमी न होने दी जाए।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के जिला सोलन के जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ. अजय सिंह ने इस अवसर पर कहा कि समाज को विभिन्न प्रकार के नशों से बचाने के लिए जागरूकता आवश्यक है। उन्होंने कहा कि प्रचलित नशे के साथ-साथ हमें सिगरेट, बीड़ी एवं तंबाकू का प्रयोग करने वाले व्यक्तियों को भी नशा पीडि़त के रूप में पहचानना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों को यह बताना आवश्यक है कि सिगरेट एवं तंबाकू का नशा भी घातक है।
डॉ. सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग विभिन्न संस्थानों में जाकर यह प्रयास करेगा कि सभी को न केवल मादक पदार्थों से अवगत करवाया जाए बल्कि उन्हें यह भी समझाया जाए कि नशे का अंत भयावह होता है। उन्होंने कहा कि युवाओं को यह बताना आवश्यक है कि नशा न केवल आर्थिक रूप से कमजोर बनाता है अपितु व्यक्ति शारीरिक एवं मानसिक रूप से भी समाप्त करता है। उन्होंने कामगारों से आग्रह किया कि सिगरेट, बीड़ी एवं तंबाकू सहित अन्य मादक द्रव्यों से दूर रहें।
इस अवसर पर क्षेत्रीय अस्पताल सोलन के मनोचिकित्सक डॉ. कुशल वर्मा एवं मनोवैज्ञानिक वैशाली शर्मा ने 250 से अधिक व्यक्तियों का परीक्षण किया। कार्यक्रम में 250 कार्यकर्ताओं को नशा विरोधी अभियान के लिए प्रशिक्षित भी किया गया।
शिवालिक बाई मेटल उद्योग के प्रबंध निदेशक एनएस घुम्मन ने इस पहल की सराहना करते हुए आशा जताई कि कार्यक्रम से लोगों को जागरूक बनाने और नशा पीडि़त व्यक्तियों की पहचान करने में सहायता मिलेगी।
==============================

HAMIRPUR-दिनांकः 17 अक्तूबर, 2019

ढुलाई कार्य में लगे पूर्व सैनिकों के ट्रकों की संख्या पांच हजार तक बढ़ाएगा हिमपैस्को, सुरक्षा गार्डों की संख्या में बढ़ोतरी के लिए भी हो रहे प्रयास

हिमाचल प्रदेश को वीरभूमि के नाम से जाना जाता है। यहां के कुछ जिलों की सामाजिक संरचना ऐसी है कि लगभग प्रत्येक संयुक्त परिवार से एक या अधिक सदस्य सैनिक अथवा पूर्व सैनिक हैं। आजाद हिंद फौज से लेकर कारगिल विजय तक तथा उसके पश्चात वर्तमान में भी यहां के सैनिकों ने अपने पराक्रम का डंका बजाया है। राज्य के पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों के कल्याण एवं आर्थिक उत्थान के लिए प्रदेश सरकार कृत्त-संकल्प है। इसके दृष्टिगत हिमाचल प्रदेश पूर्व सैनिक निगम (हिमपैस्को) की स्थापना की गयी है, जिसका मुख्यालय हमीरपुर में है।

प्रदेश सरकार द्वारा निगम को पूर्व सैनिकों को सुरक्षा सेवाओं में आऊटसोर्स आधार पर विभिन्न विभागों, बोर्डों, संस्थाओं एवं केंद्रीय/राज्य सरकार के उपक्रमों में सुरक्षा सेवा हेतु प्रायोजित करने के लिए नोडल ऐजेंसी घोषित किया गया है। इसके अतिरिक्त भारत सरकार द्वारा भी रक्षा मंत्रालय, निदेशालय रक्षा पुनर्वासन के माध्यम से निगम को सुरक्षा सेवा उपलब्ध करवाने के लिए सूचीबद्ध किया गया है, जिसकी अवधि हाल ही में बढ़ाकर सितंबर, 2022 कर दी गयी है।

हिमाचल प्रदेश में लगभग एक लाख 17 हजार पूर्व सैनिक, 33 हजार सैनिक विधवाएं और एक हजार वीर नारियां हैं। सेवानिवृत्त पूर्व सैनिकों में से 90 प्रतिशत 35 से 42 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त होते हैं। इतनी युवा आयु में सेवानिवृत्त होने के उपरांत उन्हें अपने परिवार के उत्थान के लिए पुनः रोजगार से जोड़ने में निगम सार्थक भूमिका निभा रहा है। राज्य के अधिकांश पूर्व सैनिक फाईटिंग फोर्सेज से संबंध रखते हैं और उनमें अनुशासन का अन्तर्निहित गुण होता है। ज्यादातर पैदल सेना से होने के कारण वह सुरक्षा गार्ड जैसी सेवाओं के लिए अधिक उपयुक्त होते हैं, क्योंकि उनका प्रशिक्षण भारतीय सेना द्वारा किया जाता है। सुरक्षा सेवा में वे शारीरिक व मानसिक तौर पर भी मजबूत होते हैं और अग्निशमन व प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के कार्य में निपुण होते हैं।

वर्तमान में हिमपैस्को 92 विभिन्न विभागों, बोर्डों, संस्थाओं एवं केंद्रीय/राज्य सरकार के उपक्रमों को समझौता अनुबंध, समझौता ज्ञापन के आधार पर सुरक्षा सेवा उपलब्ध करवा रहा है। नियुक्त किए गए सुरक्षा गार्डों की संख्या लगभग 700 है और निगम का प्रयास है कि इसे बढ़ाकर उत्तराखंड एवं पंजाब के समकक्ष लाया जाए जहां यह क्रमशः 20 हजार एवं 15 हजार है। इसके अतिरिक्त आर्म गार्ड, सुरक्षा सुपरवाईजर, डाटा एंट्री ऑपरेटर, ड्राइवर, पीएसओ, वायरलेस ऑपरेटर, हेल्पर, चौकीदार आदि के पदों पर भी आऊटसोर्स आधार पर इनकी नियुक्ति निगम द्वारा प्रायोजित की जाती है।

हिमपैस्को पूर्व सैनिकों के ट्रकों को सूचीबद्ध ढंग से ढुलाई का कार्य प्रदान करके भी आजीविका का साधन उपलब्ध करवा रहा है। वर्तमान में हिमपैस्को ने ए.सी.सी. सीमेंट फैक्टरी बरमाणा में उनके कुल उत्पाद का 40 प्रतिशत सीमेंट उत्तर भारत के विभिन्न स्थानों तक पहुंचाने का कार्य लिया है जिसमें पूर्व सैनिकों के 1409 ट्रक कार्यरत हैं। अम्बुजा सीमेंट दाड़लाघाट में सीमेंट/क्लींकर की ढुलाई में 227 ट्रक तथा अल्ट्राटेक सीमेंट प्लांट बागा में पूर्व सैनिकों के 125 ट्रक कार्यरत हैं। निगम का प्रयास है कि ढुलाई कार्य में लगे कुल 1761 ट्रकों की संख्या को न्यूनतम पांच हजार तक बढ़ाया जाए।

वीर सैनिकों द्वारा असीमित कठिन परिस्थितियों में राष्ट्र के लिए त्याग एवं बलिदान के उदाहरण प्रस्तुत कर बार-बार देश की सीमाओं की रक्षा की है तथा प्रत्येक भारतीय के मन-मस्तिष्क में अपराजेय भारत की धारणा को सुदृढ़ करते हुए राष्ट्र के आत्मगौरव को बढ़ाया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नतृत्व में केंद्र सरकार ने वन रैंक वन पेंशन लागू की है, वहीं प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर के कुशल मार्गदर्शन में पूर्व सैनिकों के कल्याण से संबंधित विविध विषयों पर ठोस कदम उठा रही है, जिससे उनका मनोबल बढ़ा है।

जारीकर्ताः

जिला लोक सम्पर्क अधिकारी, हमीरपुर

सम्पर्क सूत्रः

ब्रिगेडियर (से.नि.) खुशहाल ठाकुर, मोबाइल- 9418088163

==========================
चुनाव आचार सहिंता उल्लंघन पर स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष को नोटिस जारी।
धर्मशाला 17 अक्तूबर : जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने जानकारी देते हुए बताया कि 18- धर्मशाला विधानसभा चुनाव क्षेत्र में 21 अक्तूबर को होने वाले उपचुनाव के दृष्टिगत ज़िला में लागू आचार संहिता के दौरान हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष द्वारा सरकारी वाहन का इस्तेमाल करने की शिकायत मिलने पर मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा कड़ा संज्ञान लिया गया गया है।
उन्होंने बताया कि इस संदर्भ में बोर्ड अध्यक्ष को नोटिस जारी कर एक दिन के भीतर सभी तथ्यों सहित स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गए हैं। उन्होंने बताया कि चुनाव आचार सहिंता के किसी भी मामले में ढ़ील नही बरती जाएगी तथा मामला ध्यान में आने पर उल्लंघनकर्ताओं के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
============================
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने की धर्मशाला उप-चुनाव प्रबन्धों की समीक्षा

धर्मशाला, 16 अक्तूबर: कांगड़ा जिला के धर्मशाला-18 के उप-चुनावों की तैयारियों को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन अधिकारी देवेश कुमार ने आज सायं धर्मशाला में नोडल अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।
बैठक में देवेश कुमार ने सभी नोडल अधिकारियों को चुनाव प्रक्रिया को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण संपन्न करवाने के लिए सभी प्रबंध समय पर पूरा करने और अपने संसाधनों का पूरा उपयोग करने के निर्देश दिए। उन्होंने चुनाव आचार संहिता का कड़ाई से पालन करने और सुरक्षा बलों का बेहतर इस्तेमाल कर चुनाव से जुुड़ी संदिग्ध गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने एवं ऐसे मामलों में त्वरित कार्यवाही करने को कहा।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने चुनावों में वीवीपैट युक्त इवीएम के इस्तेमाल को लेकर और सूचना प्रौद्योगिकी के बेहतर उपयोग बारे सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों की सभी शंकाएं दूर करने एवं उन्हें समुचित प्रशिक्षण देकर तकनीक के उपयोग बारे पूरी तरह निपुण बनाने पर जोर दिया।
इस अवसर पर जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कुमार प्रजापति ने धर्मशाला में उप-चुनावों के निष्पक्ष, शांतिप्रिय निष्पादन के लिए उठाए गए कदमों बारे अवगत करवाया।
बैठक में पीठाशीन अधिकारी डा0 हरीश गज्जू के अतिरिक्त सभी नोडल अधिकारी उपस्थित थे।
-0-