धर्मशाला, 09 अक्तूबर - वन्य प्राणी वृत धर्मशाला द्वारा गत दिवस वन्य प्राणी संरक्षण सप्ताह के समापन समारोह के आयोजन में प्रतिभागी विद्यार्थीयों को सम्मानित किया गया। वन्य प्राणी संरक्षण सप्ताह के उपलक्ष्य पर विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने प्रश्नोतरी प्रतिस्पर्धा और चित्रकला प्रतियोगिता में भाग लिया। प्रश्नोतरी प्रतिस्पर्धा में आधुनिक स्कूल की अवनी पुरी प्रथम व अनिका नागपाल द्वितीय स्थान में रहीं और सैक्रेड़ हार्ट स्कूल के सैम मैथ्यू ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं चित्रकला प्रतियोगिता में वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला छात्रा ने प्रथम, आधुनिक स्कूल ने द्वितीय तथा डे.ए.वी स्कूल धर्मशाला ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। विभिन्न स्कूलों से आये हुये प्रतिभागियों ने प्रातः पक्षी दौड़ में भी भाग लिया, जहां उन्हें प्रतिस्पर्धा से पूर्व मंडल अधिकारी मुख्यालय वन्य प्राणी वृत (उत्तरी) डी.एस ढडवाल द्वारा वनस्पति एवं वन्यजीवों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।

इसमें धर्मशाला के आस-पास के पांच वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों के विद्यार्थियों और शिक्षकों के साथ-साथ वन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने भाग लिया। इस वन्य प्राणी सप्ताह का शुभारंभ वन अरण्यपाल प्रदीप ठाकुर की अध्यक्षता में वन्य प्राणी वृत (उत्तरी) धर्मशाला के प्रांगण में किया गया।
ठाकुर ने उपस्थित प्रतिभागियों, अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुये पक्षियों की विभिन्न प्रजातियों और पक्षियों का हमारे जीवन में सांस्कृतिक, धार्मिक, आर्थिक व परिस्थितियों इत्यादि के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने बड़े सत्र पर हिम तेंदुए के बचाव पर गंभीरता से प्रकाश डाला।
कार्यशाला में प्रधान मुख्य अरण्यपाल आर.एस.बनियाल मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित रहे। बनियाल ने वन्य प्राणियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी और साथ ही वनस्पति और वन्य जीवों के संरक्षण का संदेश उपस्थित जनता को दिया।
इस अवसर पर वन अरण्यपाल डी.आर. कौशल, जिला वन अधिकारी संजीव शर्मा, जिला वन अधिकारी उड़न दस्ता रघु राम मानव समेत अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे