हमीरपुर 17 अगस्त। हमीरपुर विकास खंड की ग्राम पंचायत ब्राह्लड़ी में आज एक दिवसीय किसान मेला स्थानीय विधायक श्री नरेन्द्र ठाकुर की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। इस मेले का आयोजन कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण(आतमा) हमीरपुर द्वारा किया गया जिसमें जिला हमीरपुर के सभी खण्डों से 400 किसानों ने भाग लिया। इस अवसर पर प्राकृतिक खेती के उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई गई।
इस मौके पर श्री नरेन्द्र ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है जो प्राकृतिक खेती के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है। प्राकृतिक खेती-खुशहाल योजना को कृषि विभाग की आतमा परियोजना के अधिकारियों के साथ इस खेती की विधि को, किसानों तक ले जाया जा रहा है। किसानों के लिए प्रशिक्षण शिविर प्रदेश के अन्दर व बाहर भ्रमण व गोष्ठियों के माध्यम से जिला हमीरपुर में प्राकृतिक खेती के मॉडल स्थापति किए जा रहे हैं। प्राकृतिक खेती करने वाले कृषकों को देसी गाय खरीदने के लिए 25 हजार रूपये का अधिकतम, गौशाला फर्श व गौ मूत्र इकट्ठा करने के गड्ढे के लिए 8 हजार रूपये तथा ड्रम लेने के लिए 2250 रूपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से अनुदान दिया जा रहा है।
परियोजना निदेशक, डॉ कुलदीप वर्मा ने बताया कि प्रदेश सरकार ने किसानों की खेती लागत घटाने, जहर मुक्त फसल उगाने तथा आय को दो गुणा करने हेतू ही प्राकृतिक खेती खुशहार किसान नामक योजना शुरू की है। इस समय जिला हमीरपुर में 977 किसान प्राकृतिक खेती कर रहे हैं। इसके परिणाम किसानों के खेतों में बहुत अच्छे मिल रहे हैं। लोगों के रूझानों से पता चलता है कि सभी किसान जहरमुक्त खेती करना चाहते हैं। आतमा हमीरपुर द्वारा लगभग 4 हजार किसानों को 31 मार्च 2020 तक जहर मुक्त खेती का प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा है।
इस मौके पर ब्रह्मदास जसवाल उपपरियोजना आतमा, शशिबाला विषयवाद विशेषज्ञ तथा सभी खण्डों के बीटीएम व एटीएम उपस्थित रहे। कृषक सलाहकार समिति के अध्यक्ष श्री हरीश शर्मा भी विशेष रूपसे इस अवसर पर उपस्थित रहे।