धर्मशाला 11 जुलाई: पहाड़ी गांधी बाबा कांशी राम द्वारा देश की आजादी के लिये दिए गए योगदान के लिए देश व प्रदेश के लोग हमेशा कृतज्ञ रहेंगे। वह एक स्वतन्त्रता सेनानी तथा क्रांतिकारी साहित्यकार थे। उनके द्वारा देश के लिए किए गए कार्य हम सब के लिए हमेशा प्रेरणादायक रहेंगें।
यह उद्गार शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सरवीन चौधरी ने आज जिला कांगड़ा के नगरोटा बगवां विधानसभा क्षेत्र के राजकीय महाविद्यालय, बड़ोह में हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला द्वारा पहाड़ी गांधी बाबा कांशी राम की जयंती पर राज्य स्तरीय समारोह के अवसर पर व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि बाबा कांशी राम ने काव्य से सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक व सांस्कृतिक शोषण के खिलाफ आवाज उठाई थी। उन्होंने जनसाधारण की भाषा में चेतना का संदेश भी दिया।
उन्होंने कहा कि देवभूमि में अनेक महापुरुषों ने जन्म लिया था और बाबा कांशी राम जी का अपना ही व्यक्तित्व था। सरोजनी नायडू ने उन्हें ‘‘बुलबुले पहाड़’’ का खिताब दिया था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने बाबा कांशी राम जी के लिए गत वर्ष जो कहा उसे लेकर सरकार गंभीर हैं। फिर भी वह आज की इन बातों को सरकार के समक्ष रखेंगी। उन्होंने कहा कि हम सभी को सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ना है। उन्होंने साहित्यकारों का बाबा कांशी राम द्वारा किये कार्यों के प्रचार-प्रसार के लिए धन्यवाद किया।
इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान जोगिंदर नगर द्वारा हर्बल गार्डन एवं हरवेरियम प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इस अवसर पर उन्होंने महाविद्यालय परिसर में कपूर का पौधा भी लगाया।
कला अकादमी के सचिव डॉ. कर्म चन्द ने मुख्यातिथि का स्वागत किया व अकादमी की विभिन्न गतिविधियों बारे जानकारी दी। इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने पहाड़ी गांधी बाबा कांशी राम के पौत्र रविकांत, विनोद व नीरज को विशेष रूप से सम्मानित किया। इसके अतिरिक्त उन्होंने पहाड़ी भाषा में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को भी सम्मानित किया। इस कार्यक्रम में डॉ. गौतम व्यथित, रेखा डढवाल, प्रत्युष गुलेरी, डॉ. विजय पुरी, नवनीत शर्मा, श्वेता इत्यादि ने भी अपने-अपने विचार रखे व पहाड़ी भाषा के सरंक्षण के लिए शहरी विकास मंत्री के समक्ष निवेदन रखा। शहरी विकास मंत्री ने इस अवसर पर जिला काँगड़ा के धमेटा की नीलम शर्मा द्वारा लिखित ‘‘अतीत के संवाद’’ निबन्ध संग्रह व धर्मशाला के युगल डोगरा द्वारा लिखे पहाड़ी निबन्ध संग्रह ‘‘कराली फुल्ली पेइयाँ’’ का विमोचन किया ।
इस अवसर पर स्थानीय महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. राजेश शर्मा, ऐडवोकेट दीपक अवस्थी, विनोद भावुक, अधिशासी अभियन्ता विद्युत रजनीश, आरएम राजकुमार, प्रधानाचार्य अश्वनी धीमान, प्रधान सरोत्री उमाकांत, प्रधान खोवा अनिता, दुर्गेश नंदन, हरिकृष्ण मुरारी, प्रकाश चन्द,रमेश मस्ताना सहित गणमान्य लोग उपस्थित रहे।