चंडीगढ़, 17 जून- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्रीय सरकार द्वारा संचालित महिला सशक्तीकरण से संबंधित व विकासकारी योजनाओं का हरियाणा राज्य ने भरपूर लाभ उठाया है जिससे हरियाणा देश के अग्रीण राज्य में शुमार हुआ है। यह बात हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने आज राजभवन में सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी हैदराबाद से शिक्षा व सांस्कृतिक यात्रा पर भारत भ्रमण के लिए आए 22 भारतीय पुलिस सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होनें इन सभी अधिकारियों से एक-एक करके बातचीत भी की और प्रशिक्षण व अनुभवों के बारे में जाना। इन अधिकारियों में पांच अधिकारी रायॅल भूटान सर्विस के है। भूटान के पुलिस व सिविल सेवा के अधिकारियों का प्रशिक्षण भी भारत मेें हैदराबाद और देहरादून अकादमी में होता है। इस अवसर पर उन के साथ सचिव श्री विजय सिंह दहिया व पुलिस अधिकारियों के साथ आए फैक्लटी को-ओर्डिनेटर श्री सतवीर सिंह भी थे।

श्री आर्य ने सबसे पहले तिरूवन्नतपूरम (केरल) की रहने वाली सुश्री एश्वर्या सागर जिन्हें पश्चिम बंगाल का काॅडर मिला है से बातचीत की और उनसे पुलिस सेवा में आने का उद्देश्यों के बारे में जाना। सुश्री सागर ने बताया कि पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी व प्रतिबद्धता को देखते हुए भारतीय पुलिस सेवा को चुना है। इस पर राज्यपाल श्री आर्य ने सुश्री सागर को बधाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की महिला सशक्तीकरण की नीतियों की बदोलत आज महिलाएं हर क्षेत्र में परचम फहरा रही है। इससे देश की स्मृद्धि और उन्नति प्रदर्शित होती है।

राज्यपाल श्री आर्य ने सभी अधिकारियों को शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की और कहा कि सभी अधिकारी भाग्यशाली है जिन्हें भारत दर्शन के दौरान हरियाणा आने का अवसर प्राप्त हुआ है। क्योंकि हरियाणा प्रगति के मामले में देश का अग्रणी राज्य है। हरियाणा में केन्द्र एवं राज्य की योजनाओं से पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति को भी सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। सरकार की योजनाओं से हरियाणा प्रदेश और आगे बढ़ा है। आज हरियाणा स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य और सुरक्षा के मामले में देश का प्रथम प्रदेश है। उन्होनें कहा कि हरियाणा भू-भाग के मामले में देश का दो प्रतिशत भू-भाग वाला राज्य हैं जबकि भारतीय सेना में हरियाणा का योगदान दस प्रतिशत से भी अधिक है। इसी प्रकार से कृषि, खेल एवं आॅटोमोबाइल के निर्माण व बेहतर कानून व्यवस्था में देश के पहले स्थान पर है। उन्होनंे सभी अधिकारियाों को सलाह दी कि वे हरियाणा के ग्रामीण क्षेत्रों और गुरूग्राम में जरूर जाएं उन्हें एक नया विजन मिलेगा जो पूरी सेवाकाल के दौरान काम आएगा। उन्होनें अधिकारियों से यह भी कहा कि पुलिस सेवा में अनेक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है और उन्हें इसके लिए तैयार रहना चाहिए।

इस मौके पर राज्यपाल के सचिव श्री विजय सिंह दहिया ने भी अपने भारतीय प्रशासनिक सेवा के अनुभव साझा किए और पुलिस सेवा में आने वाली चुनौतियों के बारे में जाना। उन्होनें भारतीय पुलिस सेवा कि अधिकारियों से प्रशिक्षण के दौरान सूचना प्रोद्योगिकी के क्षेत्र में प्रशिक्षण के व्यवस्था की जानकारी भी प्राप्त की और कहा कि सभी अधिकारी सूचना प्रोद्योगिकी में जरूर पारंगत हो ताकि पुलिस सेवा में बेहतर किया जा सके।

राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने राजभवन की और से अधिकारियों को स्मृति चिन्ह प्रदान किया और समूह चित्र भी करवाया।