चण्डीगढ़ 25 मई, 2019 - लोकसभा चुनाव के खत्म होने के उपरांत भारतीय जनता पार्टी चण्डीगढ़ के सभी मोर्चा द्वारा पार्टी कार्यालय कमलम में अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन विशेष रूप से उपस्थित हुए। उनके साथ उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी व भीमसेन अग्रवाल, अमित राणा, मोर्चा अध्यक्ष सुनीता धवन, गौरव गोयल, कृष्ण कुमार, चौधरी अमजद, नाथी राम मेहरा, बलविन्द्र शर्मा व भारी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

समारोह की जानकारी देते हुए पार्टी के प्रदेश महासचिव चन्द्रशेखर ने बताया कि चण्डीगढ़ से लोकसभा सीट की भाजपा प्रत्याशी किरण खेर की इतिहासिक जीत में प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन की अहम भूमिका रही है। उनकी सुझबूझ और चुनावी रणनीति के चलते ही चण्डीगढ़ में भाजपा को भारी बहुमतों से जीत हासिल हुई। भाजपा के सभी मोर्चों द्वारा जीत की बधाई और प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन का अभिनंदन करने के लिए समारोह का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि शहर की जनता ने अभूतपूर्व जीत प्रदान की है जिसका वह आभार व्यक्त करते हैं। यह जीत प्रत्येक कार्यकर्ता की जीत है। कार्यकर्ता की मेहनत ही है जो चुनाव वाले दिन सुबह सबसे पहले अपने बूथ पर जाकर बैठता है और सबसे आखिर में उठता है उसकी निस्वार्थ सेवा भाव को मैं प्रणाम करता हूँ। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष पूर्व अध्यक्ष हो सकता है, महासचिव, उपाध्यक्ष इत्यादि पूर्व हो सकते हैं लेकिर एक कार्यकर्ता कभी पूर्व कार्यकर्ता नहीं होता। कार्यकर्ता पार्टी से कुछ नहीं मांगता वह अपना कार्य निस्वार्थ करता रहता है। कार्यकर्ता वह बुनियाद है जिस पर पार्टी की इमारत खड़ी होती है।

उन्होंने कविता की दो लाइनों रास्ते में चलते हुए च्च्न मैं गिरा न मेरी निष्ठा के पुल गिरे लेकिन मुझको गिराने में लोग 100 बार गिरेज्ज् को बोलते हुए कहा कि हमारे देश में चुनाव कभी नहीं रूकते, पूरे साल चुनाव चलते रहते हैं। मार्केट कमेटी का चुनाव, जिला परिषद का चुनाव, नगर निगम का चुनाव आदि चुनाव का दौर चलता रहता है। यह मेरा सौभाग्य है कि मेरे अध्यक्ष पद रहते हुए मैंने 2-2 बार प्रत्येक चुनाव को लड़ा और लड़ाया। भगवान की कृपा रही मुझ पर की मेरे नेतृत्व में लड़े गये प्रत्येक चुनाव में जीत हमारी हुई। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष के पद को संभाला था तब शहर में पार्टी में 6 हजार लोगों की मेम्बरशिप थी। आज वही 6 हजार से 90 हजार हो गई है यह बहुत खुशी की बात है। वर्ष 2009 में 1 लाख 4 हजार वोट थे लेकिर आज 2 लाख 31 हजार वोट भाजपा को मिले हैं जो चण्डीगढ़ के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ। कुछ लोग अपना नाम बनाने के लिए पार्टी छोडक़र दूसरी पार्टी में चले गये लेकिन जनता ने पार्टी को शिखर पर पहुंचा कर उनको सबक सिखाया है। पार्टी से बाहर रह कर कुछ नहीं मिलता, पार्टी में रहकर ही आप आगे बढ़ सकते हो। पार्टी है तो हम है पार्टी नहीं तो हम नहीं। हमारे अंदर कभी भी बगावती सुर नहीं आने चाहिए। हम सब कार्यकर्ता हैं और कार्यकर्ता ही रहेंगे। तप, त्याग से ही बड़ा नेता बना जा सकता है।