प्रो. सुमेधा धनी स्पेन में होने वाली इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर मीडिया एंड कम्यूनीकेशन्स रिसर्च की सालाना कांफ्रेंस में देंगी विशेष व्याख्यान
रोहतक, 22 मई। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की प्रोफेसर सुमेधा धनी 7 से 11 जुलाई तक स्पेन के मैड्रिड शहर में ‘मीडिया पोर्ट्रेयल ऑफ ह्यूमन राइट्स स्टोरीज फ्रॉम इंडिया’ पर अपना विशेष व्याख्यान देंगी। इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर मीडिया एंड कम्यूनीकेशन्स रिसर्च (आईएएमसीआर) द्वारा आयोजित विश्वभर की सबसे बड़ी सालाना रिसर्च कांफ्रेंस इस वर्ष स्पेन के मैड्रिड शहर में आयोजित की जा रही है। विश्वभर से 1700 प्रमुख मीडिया प्रोफेसर ह्यूमन राइट्स पर चर्चा करेंगे तथा इन्हें लागू करवाने के लिए विशेष योगदान देंगे। आईएएमसीआर के वर्किंग ग्रुप एथेक्सि ऑफ सोसायटी एंड एथेक्सि ऑफ कम्यूनिकेशन्स ने प्रो. सुमेधा धनी का व्याख्यान चयनित किया है।
प्रो. सुमेधा धनी ने बताया कि आईएएमसीआर की इस सालाना कांफ्रेंस में विभिन्न विषयों पर चर्चा कर सुधार किये जाते हैं। इस प्रतिष्ठित कांफ्रेंस में विश्व भर के प्रतिष्ठित मीडिया प्रोफेसर अपने-अपने क्षेत्रों में चल रहे सुधार कार्यक्रमों से विश्व को रूबरू करवाते हैं ताकि उनमें और अधिक बेहतरी के लिए कार्य कर सकें। प्रो. सुमेधा ने कहा कि इस बार कांफ्रेंस की थीम ‘कम्यूनिकेशन, टेक्नोलॉजी एंड ह्यूमन डिग्निटी’ रखी गई है।
उन्होंने बताया कि जनसंचार के विशेषज्ञ मार्शल मैकलूहन ने 1964 में अपनी प्रसिद्ध पुस्तक ‘अंडरस्टेंडिंग मीडिया - द एक्सटेंशन्स ऑफ मैन’ में कहा था कि ‘मीडियम ही मैसेज है’। आज 55 वर्षों के बाद ये आखिरी पांच शब्द ही सबसे मुख्य हो गये हैं। तकनीक मानव सभ्यता पर भी हावी होती जा रही है। तकनीक इतनी तेजी से विकसित हो रही है कि उसका इस्तेमाल मानवीय गौरव को खराब करने के लिए भी किया जा रहा है। तकनीक के जरिए अपराधों की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं तथा महिलाओं के सम्मान के विरूद्ध भी कार्य कर रही हैं। ऐसे में मानवीय मूल्यों को बचाने की बेहद जरूरत है। समाज में जाग्रति लाने के लिए तकनीक के नियम तय करना जरूरी हो गया है। साथ ही बदलती दुनिया में सभी को तकनीक का ज्ञान करवाना बेहद आवश्यक है। दुनिया के करोड़ों लोग अब तकनीक को ग्रहण कर पा रहे हैं। ऐसे में बदलते समाज में मानवीय अधिकार बढ़ रहे हैं तथा सभी को तकनीक की सर्वसुलभता मिल रही है।
उन्होंने कहा कि वे इस प्रतिष्ठित कांफ्रेंस में हिस्सा लेने के लिए उत्साहित हैं। वे अपनी रिसर्च द्वारा देश में चल रहे मानवीय अधिकारों के मामलों को इस कांफ्रेंस में उठायेंगी तथा देश का प्रतिनिधित्व करेंगी।
------------------------
राजकीय उच्च विद्यालय गढ़ी सांपला का शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम
रोहतक, 20 मई। राजकीय उच्च विद्यालय गढ़ी सांपला का दसवीं कक्षा का परिणाम शत-प्रतिशत आने से स्कूल में जश्न का माहौल रहा। विद्यालय के 4 छात्रों ने मैरिट में जगह बनाई। विद्यालय के प्राचार्य मुकेश कुमार ने इस शानदार उपलब्धि के समस्त विद्यालय स्टाफ को हार्दिक शुभकामनाएं प्रदान की तथा इस उपलब्धि का श्रेय स्टाफ की कड़ी मेहनत को दिया। उन्होंने कहा कि सभी स्टाफ सदस्यों ने कड़ी मेहनत से विद्यालय का नाम रोशन किया। सरकारी स्कूलों में बच्चों को सभी सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। इस बार सरकारी स्कूलों के परीक्षा परिणाम ने प्राईवेट स्कूलों को पीछे छोड़ दिया है। इस अवसर पर डॉ. रमेश कुमार, अमित कुमार, जगदीप सिंह, सुरेन्द्र कुमार, सुनील कुमार, शमशेर सिंह, मनोज कुमार, रोशनी देवी, मोनिका, बबीता, राजेश, मीना कुमारी, सरला आदि उपस्थित थे।
------------------------
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की छात्रा मनु ने पाया प्रथम स्थान
रोहतक, 20 मई। गांव ककराना स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के दसवीं कक्षा में 7 विद्यार्थियों ने मैरिट में स्थान प्राप्त किया। छात्रा मनु ने 90.4 प्रतिशत अंक लेकर प्रथम स्थान, भावना ने 89.6 प्रतिशत अंक लेकर द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार 12वीं में भी विधि ने 88.6 अंक लेकर प्रथम स्थान तथा 88.2 अंक लेकर लेकर द्वितीय स्थान प्राप्त किया। बाहरवीं कक्षा में भी 8 विद्यार्थियों ने मेरिट में स्थान प्राप्त किया। इस अवसर पर सभी स्टाफ सदस्यों तथा प्राचार्य डॉ. जसबीर सिंह धनखड़ ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना की।