चंडीगढ़,(सुनीता शास्त्री)18.03.19- भारतीय इतिहास में ‘सारागढ़ी दिवस’ के रुप में याद किया जाता है। केसरी फिल्म मुख्य डॉयलॉग‘आज मेरी पगड़ी केसरी, जो बहे मेरा लहू भी केसरी और मेरा जवाब भी केसरी’ 21 सूरमाओं ने कितनी निडरता से ये लड़ाई लड़ी थी। केसरी रंग उनके साहस और बहादुरी का प्रतीक हैयह बात प्रसिद्ध अभिनेता अक्षय कुमार कही जो आज भी प्रसांगिक है। आज अक्षय कुमार, परिणीति चोपड़ा और डायरेक्टर अनुराग सिंह फिल्म केसरी के प्रमोशन के लिए चंडीगढ़ के एलांटे मॉल आए और यहां एक प्रेसवार्ता में मीडिया और अपने फ्रेंडस से रुबरु हुए और जमकर मस्ती की इस दौरान बातचीत में अक्षय कुमार ने फिल्म में परदे के पीछे के पहलुओं उजागर किया। इस फिल्म में अक्षय एक हवलदार ईशर सिंह के रोल में हैं। खास बात यह है कि इस फिल्म में अक्षय 6 किलो की पगड़ी पहन के युद्ध करते हुए दिखाई देंगे।अक्षय और परिणीति द्वारा अभिनीत धर्मा प्रोडक्शंस की आगामी फिल्म, सारागढ़ी की लड़ाई की अनकही कहानी के बारे में बताती है, जो भारतीय इतिहास की सबसे भयानक लड़ाई थी। 10,000 आक्रमणकारियों की एक टुकड़ी ने इस क्षेत्र की ओर रुख किया लेकिन 21 सिखों ने सफलतापूर्वक किलों को बचाने के लिए कड़ा संघर्ष किया। सराहनीय वीरता का प्रदर्शन करते हुए बहादुर सिखों ने 12 सितंबर 1897 को इस लड़ाई के लिए दिल-ओ-जान से खुद को समर्पित कर दिया । केसरी फिल्म में अक्षय के साथ परिणीति एक फौजी की पत्नी का रोल निभाया है । करन जोहर और हीरु जोहर ने अपने धर्मा प्रोडक्शन के बैनर के तहत यह फिल्म प्रोड्यूस की है, जो पूरे भारत के सिनेमाघरों में 21 मार्च, 2019को रिलीज़ होगी।