चण्डीगढ़, 10 जनवरी- हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री ओ.पी. धनखड़ ने कहा कि किसी भी युवा को अपने छात्र जीवन में भावनात्मक प्रबन्धन के साथ अपने भविष्य के लक्ष्य निर्धारित करने चाहिए। विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ-साथ अन्य राज्यों व विदेशों में सांस्कृतिक व शैक्षणिक आदान-प्रदान के तहत निर्धारित कार्यक्रमों का भ्रमण करना चाहिए। इससे उन्हें जीवन में नये अनुभव प्राप्त होते हैं।
श्री धनखड़ आज सात उत्तर-पूर्वी राज्यों असम, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा, मेघालय और मणिपुर के विद्यार्थियों को अपने आवास पर सम्बोधित कर रहे थे।
उत्तर-पूर्वी राज्यों का शिष्टमण्डल सांस्कृतिक व शैक्षणिक भ्रमण कार्यक्रमों के तहत आजकल चण्डीगढ़, हरियाणा जैसे उत्तरी राज्यों के दौरे पर है और इसी कड़ी में विद्यार्थियों ने आज श्री धनखड़ के यहां आज सरकारी आवास का दौरा किया और दोपहर के भोज में हरियाणवी व्यंजनों का लुप्फ उठाया।
विद्यार्थी व संकाय सदस्यों ने श्री धनखड़ के विद्यार्थी जीवन से जुड़ी जानकारियां प्राप्त की। उल्लेखनीय है कि श्री धनखड़ छात्र जीवन में लम्बे समय से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के साथ जुड़े रहे हैं और वे परिषद के विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके हैं।