चंडीगढ़ : 09.12.2018 : आज स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया स्‍टाफ एसोसिएशन, चंडीगढ़ मंडल की आठवीं त्रिवर्षीय जनरल कौंसिल की बैठक पोस्‍ट ग्रैज्‍युएट गवर्नमेंट कॉलेज, सैक्‍टर-46बी में आयोजित की गई। इस बैठक में पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्‍मू व कश्‍मीर तथा चंडीगढ़ यूटी से 6000 से अधिक कॉमरेड्स ने भाग लिया। इस समूह में महिला कॉमरेड भी बड़ी संख्‍या में उपस्थित थीं। श्री राणा आशुतोष कुमार सिंह, मुख्‍य महाप्रबंधक, भारतीय स्‍टेट बैंक, चंडीगढ़ मंडल ने इस सम्‍मेलन का उद्घाटन किया। बैठक में कॉमरेड वीवीएसआर शर्मा, अध्‍यक्ष, ऑल इंडिया स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया स्‍टाफ फेडरेशन, कॉ. एससी बालाजी, अध्‍यक्ष, नैशनल कन्‍फेडरेशन ऑफ बैंक एम्‍प्‍लाइज सहित देश के कोने-कोने से बड़ी संख्‍या में अन्‍य नेता भी उपस्थित थे। भारतीय स्‍टेट बैंक के महाप्रबंधक, उप महाप्रबंधक, सहायक महाप्रबंधक एवं प्रबंधन की ओर से अन्‍य अधिकारी भी इस बैठक में उपस्थित हुए। बैठक-स्‍थल पर उत्‍सव जैसा माहौल था और कड़ाके की सर्दी के बावजूद सभा-स्‍थल पर कॉमरेड्स की भारी भीड़ थी। सभा-स्‍थल पर लोगों के विभिन्‍न समूहों के हाथों में बैनर्स एवं झंडे थे जिनपर ‘स्‍टेट बैंक ऑफ स्‍टाफ एसोसिएशन जि़ंदाबाद, ऑल इंडिया स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया स्‍टाफ फेडरेशन जि़ंदाबाद, नैशनल कन्‍फेडरेशन ऑफ बैंक एम्‍प्‍लाइज जि़ंदाबाद, आवर लीडरशिप-जि़ंदाबाद’आदि-आदि नारे लिखे हुए थे।

सभी सदस्‍य एक स्‍थान पर इकट्ठे हुए और उसके बाद जुलूस के रूप में सभागार की ओर गए। उच्‍च पदाधिकारियों ने गैस-भरे गुब्‍बारे हवा में छोड़े। श्री राणा आशुतोष कुमार सिंह ने मंच पर उपस्थित अन्‍य उच्‍च पदाधिकारियों के साथ दीप प्रज्‍वलित कर इस सम्‍मेलन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्‍होंने बैंक की हाल ही की पहल –‘योनो’ के फायदों के बारे में बताया। उन्‍होंने उत्‍कृष्‍ट ग्राहक सेवा पर बल दिया तथा बताया कि बैंक को अन्‍य बैंकों और संस्‍थाओं से किस प्रकार की प्रतिस्‍पर्धा का सामना करना पड़ रहा है। उपस्थित सदस्‍यों से उन्‍होंने आग्रह किया कि वे कड़ी मेहनत से मार्केट शेयर बढ़ाएं और अपने बैंक की अग्रणी स्थिति बरकरार रखकर इस स्थिति का सामना करें। मार्केट की शक्तियों के लिए यही उपयुक्‍त प्रत्‍युत्तर होगा। अन्‍य उच्‍च पदाधिकारियों ने अपने संबोधन में वर्तमान मार्केट की स्थिति के बारे में विस्‍तार से बताया तथा इंडियन बैंक एसोसिएशन द्वारा ग्‍यारहवें द्विपक्षीय समझौते में विलंब करने के बारे में विशेष रूप से प्रकाश डाला जिसमें पहले ही एक वर्ष से अधिक का विलंब हो चुका है। लीडरशिप की ओर से भारत सरकार द्वारा तीन बैंकों, अर्थात् बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक तथा विजया बैंक के विलय संबंधी एकपक्षीय निर्णय का जिक्र किया और सदस्‍यों से 26 दिसंबर 2018 को यूएफबीयू द्वारा प्रस्‍तावित हड़ताल को सफल बनाने का अनुरोध किया।

दोपहर के भोजन के बाद आयोजित सत्र में महासचिव की रिपोर्ट, खातों, संकल्‍पों को पास किया गया तथा सर्वसम्‍मति से आयोजित चुनावों के परिणाम घोषित किए गए। इसमें अध्‍यक्ष के रूप में कॉमरेड श्‍याम लाल हंस और महासचिव के रूप में कॉमरेड संजीव कुमार बंदलिश के नेतृत्‍व वाली टीम को आगामी अवधि के लिए विजयी घोषित किया गया। इस घोषणा के साथ ही पूरा हाल जि़ंदाबाद-जि़ंदाबाद के नारों से गूँज उठा।