चंडीगढ़, 16 अक्तूबर- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुरूप विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी 31 अक्तूबर, 2018 को गुजरात में नर्मदा नदी के निकट केवडिया से राष्ट्र को समर्पित की जाएगी।

यह जानकारी गुजरात के शिक्षा मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह चूड़ासमा, जो हरियाणा के लोगों को निमंत्रण देने चण्डीगढ़ आए थे, ने आज यहां हरियाणा निवास में शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ के साथ एक संयुक्त पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए दी।
स्वतंत्रता प्राप्ति व उसके बाद देश की एकता एवं अखण्डता बनाए रखने में उल्लेखनीय योगदान देने वाले लौहपुरूष व भारत के पूर्व गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की वैश्विक पहचान तथा एक भारत-श्रेष्ठ भारत के रूप में उनको सच्ची श्रद्धांजलि देने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुरूप विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी 31 अक्तूबर, 2018 को नर्मदा नदी के निकट केवडिया से राष्ट्र को समर्पित की जाएगी।
इस अवसर पर सरदार वल्लभभाई पटेल के जीवन व देश की एकता एवं अखण्डता बनाये रखने के लिए चलाए गए आंदोलनों पर एक वृत्तचित्र भी दिखाया गया।
एक प्रश्न के उत्तर में श्री चूड़ासमा ने कहा कि सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा के लिए लोहा एकत्रित करने हेतु श्री ओम प्रकाश धनखड़ को प्रभारी बनाया गया था और 42 महीनों में 182 मीटर विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी तैयार की गई है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 31 अक्तूबर को सरदार पटेल की 142वीं जयंती पर देश के लोगों को समर्पित करेंगे।
उन्होंने बताया कि गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रुपाणी द्वारा सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को निमंत्रण के लिए अलग से पत्र भी लिखे गए हैं। इसके अतिरिक्त, गुजरात के मंत्री, सांसद व विधायक एक टीम के रूप में व्यक्तिगत रूप से भी दौरा कर निमंत्रण दे रहे हैं। इसी कड़ी में आज वे हरियाणा में आए हैं और हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य व मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को भी इस भव्य कार्यक्रम में बुलाया गया है।
इस अवसर हरियाणा के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले राज्यमंत्री कर्णदेव काम्बोज, गुजरात के सांसद लाल सिंह बडौदिया, विधायक रत्न सिंह राठौर, श्रीमती मनी शाहबेन वाकिल, बाबू भाई पटेल के अतिरिक्त, गुजरात की प्रधान सचिव श्रीमती सुनीना तोमर व अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अजय तोमर, हरियाणा सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक, श्री समीर पाल सरो व अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी उपस्थित थे।