कुल्लू -24 सितंबर 2018-कुल्लू जिला में लगातार भारी बारिश से उत्पन्न बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए वन, परिवहन, युवा सेवाएं व खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर स्वयं प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करके स्थिति का जायजा ले रहे हैं तथा राहत व बचाव कार्यों की निगरानी कर रहे हैं।
सोमवार सुबह ही गोविंद सिंह ठाकुर ने भंुतर, नगवाईं, जिया, अखाड़ा बाजार, बाशिंग, लुग्गड़भट्ठी और ब्यास नदी के किनारे कुल्लू व मंडी जिले के अन्य क्षेत्रों का दौरा किया। वन मंत्री झीड़ी में ब्यास नदी में बही एक लड़की के परिजनों से भी मिले और उन्हें हरसंभव सहायता प्रदान करने का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और वह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से लगातार संपर्क में हैं। कुल्लू जिला प्रशासन और सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को स्थिति से निपटने के लिए त्वरित कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं। क्षतिग्रस्त सड़कों को तुरंत बहाल करने के लिए लोक निर्माण विभाग को पर्याप्त मशीनरी उपलब्ध करवाने को कहा गया है। किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए सरकार और प्रशासन की ओर से हरसंभव कदम उठाए जा रहे हैं। वन मंत्री ने आम लोगों से आग्रह किया है कि वे लकड़ी, रेत व अन्य सामग्री इकट्ठी करने के लिए नदी-नालों के किनारे न जाएं।
----------
19 लोगों को बचाने वाले एयरफोर्स अफसरों को किया सम्मानित
कुल्लू जिला में डोभी के नजदीक बाढ़ में फंसे 19 लोगों को खराब मौसम के बावजूद सुरक्षित निकालने वाले भारतीय वायुसेना के पायलट व अन्य अधिकारियों को वन, परिवहन, युवा सेवाएं व खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने विशेष रूप से सम्मानित किया। गोविंद सिंह ने कहा कि रविवार शाम को खराब मौसम और कम रोशनी के बावजूद भारतीय वायुसेना के अधिकारियों ने 19 लोगों को सुरक्षित निकालकर अदम्य साहस और सेवाभाव का परिचय दिया है।
रविवार को ब्यास नदी और फोजल नाले में आई बाढ़ के कारण डोभी बिहाल में 19 लोग बुरी तरह फंस गए थे। इसकी सूचना मिलते ही गोविंद सिंह ठाकुर सरकारी कार्यक्रम को बीच में ही छोड़कर बचाव दल के साथ मौके पर पहुंच गए। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए वन मंत्री ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भी इससे अवगत करवाया तथा हैलीकाप्टर के माध्यम से लोगों को सुरक्षित निकालने की अपील की।
गोविंद सिंह ठाकुर ने बताया कि मुख्यमंत्री के प्रयासों से भारतीय वायु सेना ने रेस्क्यू आपरेशन के लिए तुरंत हैलीकाप्टर उपलब्ध करवाया। उन्होंने बताया कि विपरीत परिस्थितियों में भी भारतीय वायुसेना के स्क्वाड्रन लीडर विपुल गोयल और उनके सहयोगियों ने बचाव कार्यों को सफलतापूर्वक अंजाम दिया तथा 19 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया।