चंडीगढ़, 21 जुलाई- केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज गुरुग्राम से देशभर में स्टूडेंट पुलिस कैडेट(एसपीसी) कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए कहा कि यह कार्यक्रम शुरूआती चरण में देश में सभी शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी स्कूलों में लागू किया जाएगा जिसके लिए प्रत्येक स्कूल को 50 हज़ार रूपये की राशि शैक्षणिक सहायता, प्रशिक्षण और आकस्मिक खर्च के लिए उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस साल यह कार्यक्रम देश के सभी राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों में पॉयलेट आधार पर चलाया जाएगा। इस कार्यक्रम के शुरूआत समारोह के दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कैडेटों को संबोधित करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने वाले कैडेट्स को भविष्य में हरियाणा पुलिस में होने वाली भर्ती में वरीयता दी जाएगी।
श्री राजनाथ सिंह आज गुरुग्राम में एसपीसी कार्यक्रम के राष्ट्रीय लांच समारोह में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विद्यार्थियों में नैतिक मूल्य विकसित कर उन्हे अनुशासित बनाने पर जोर दिया ताकि बच्चे आगे चलकर नए भारत के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।
केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम के शुरूआत चरण के बाद इस कार्यक्रम को देश के सभी स्कूलों में शुरू किए जाने की योजना है। इस कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिए 67 करोड़ रूपये की राशि राज्यों को जारी की गई है। एसपीसी कार्यक्रम के माध्यम से समाज के हर व्यक्ति द्वारा कानून का पालन स्वैच्छा से करने पर बल देने के साथ साथ अपराध की रोकथाम और नियंत्रण सहित नैतिक मूल्यों पर ध्यान केन्द्रित किया गया है।
श्री राजनाथ सिंह ने कार्यक्रम की लांचिंग को लेकर किए गए इंतजामों की सराहना करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को बधाई दी और कहा कि इसका उद्द्ेश्य स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों में नैतिक मूल्यों का समावेश कर उन्हें जिम्मेदार, अनुशासित, संस्कारवान और चरित्रवान नागरिक बनाना है। साथ ही इससे स्कूलों में विद्यार्थियों और पुलिस के बीच सामंजस्य की शुरूआत होगी ताकि समाज में शान्ति और जनसुरक्षा के लिए नागरिकों का सहयोग लिया जा सके। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से युवाओं में सामाजिक प्रतिबद्धता की भावना उत्पन्न होगी और वे अनुशासित होकर असहिष्णुता, नशा, अपराध और अन्य सामाजिक बुराइयों से दूर रह सकेंगे। उन्होंने उपस्थित कैडेट्स का आह्वान करते हुए कहा कि सभी पूरी लग्र के साथ इस कार्यक्रम का हिस्सा बने और भारत को एक नया समृद्ध और मजबूत राष्ट्र बनाने में अपनी अहम् भूमिका निभाएं। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम पुलिस व जनता के बीच सौहार्दपूर्ण संबंध की मजबूत नींव स्थापित करेगा। इससे पुलिस विभाग को भी यह जानने में मदद मिलेगी कि युवाओं की पुलिस से क्या अपेक्षाएं हैं।
गृहमंत्री ने समारोह में टीवी, इंटरनेट व सोशल मीडिया के कारण बच्चों पर पड़ते दुष्प्रभाव का जिक्र करते हुए कहा कि इसका प्रभाव आज पूरे समाज पर पड़ रहा है जोकि चिंता का विषय है। ऐसे में हमें घर के साथ साथ स्कूलों में भी बच्चों को चरित्र निर्माण की शिक्षा देने की जरूरत है। बच्चों को किताबी ज्ञान के साथ उन्हें आदर्श नागरिक बनाने की दिशा में काम किए जाने की आवश्यकता है जिससे उनमें समाज के प्रति संवेदनशीलता उत्पन्न हो। इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए इस एसपीसी कार्यक्रम को आज राष्ट्रीय स्तर पर लांच किया गया है जोकि समाज व देश में सकारात्मक परिणाम लाएगा।
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने स्टूडेंट पुलिस कैडेट कार्यक्रम को समाज निर्माण की दिशा में मील का पत्थर बताते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने वाले कैडेट्स को भविष्य में हरियाणा पुलिस में होने वाली भर्ती में वरीयता दी जाएगी। इन कैडेट्स के आने से पुलिस विभाग के काम की गुणवत्ता का स्तर पहले की अपेक्षा बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से विद्यार्थियों मे अनुशासन व समाज के प्रति संवेदनशीलता का भाव पैदा होगा जिससे उनमें समाज की समस्याओं को दूर करने का भाव जागेगा। यह भाव समाज को नई दिशा प्रदान करेगा। उन्होंने कार्यक्रम की शुरूआत हरियाणा से करने के लिए गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह का आभार जताया और कहा कि युवाओं को नई दिशा देने में यह कार्यक्रम रचनात्मक योगदान देगा।
खेलों में प्रदेश के खिलाडिय़ों की प्रतिभा का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा के खिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में दुनिया भर में परचम लहराया है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार खेलों में पदक लाने वाले खिलाडिय़ों को पुलिस विभाग में प्राथमिकता दी जाती है उसी प्रकार एसपीसी कार्यक्रम से जुडऩे वाले प्रतिभावान विद्यार्थियों को भी तरजीह देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही प्रदेश सरकार द्वारा 6 हज़ार पुलिसकर्मियों की भर्ती की जाएगी। उन्होंने पुलिस को सिस्टम का चेहरा बताते हुए कहा कि उनके जनता के साथ अच्छा व्यवहार हो इसके लिए उन्हें ट्रेनिंग दी जा रही है।
समारोह में पहुंचे केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने एसपीसी कार्यक्रम को जिंदादिल बताते हुए कहा कि हर विद्यार्थी प्रतिभावान है, जरूरत है तो सिर्फ उनमें अनुशासन की भावना जागृत करने की। उन्होंने कहा कि शिक्षा के पाठ्यक्रम व एसपीसी कार्यक्रम में सामन्जय स्थापित किया जाएगा ताकि विद्यार्थी इस ओर भी अपना ध्यान केन्द्रित कर अनुशासित बन सकें। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से देश भर से 8वीं व 9वीं कक्षा के लगभग 4 करोड़ बच्चे जुड़ेंगे। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम भावी पीढ़ी को संस्कारवान बनाने के साथ साथ देश को आगे बढ़ाने में मददगार होगा।
केन्द्रीय गृहराज्यमंत्री श्री हंसराज गंगाराम अहीर ने विद्यार्थियों को देश का भविष्य बताते हुए इस पहल के लिए हरियाणा सहित विभिन्न राज्यों को बधाई दी। समारोह में केंद्रीय योजना,रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने भी अपने विचार रखते हुए विद्यार्थियों में अनुशासन पर बल दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग लोगों में अनुशासन की भावना जागृत करने के लिए धरातल स्तर पर कार्य कर रहा है, जोकि सराहनीय है।
समारोह में हरियाणा के मुख्य सचिव श्री दीपेंद्र सिंह ढेसी ने पधारे सभी अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि आज देश के 28 विभिन्न राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों से लगभग 6000 विद्यार्थी इस एसपीसी लांचिंग समारोह के साक्षी बने हैं। स्टूडेंट् पुलिस कैडेट कार्यक्रम के माध्यम से विद्यार्थियों में कानून के प्रति सम्मान की भावना जागृत होगी।
हरियाणा के पुलिस महानिदेशक श्री बी एस संधु ने हरियाणा पुलिस की तरफ से केन्द्रीय गृहमंत्री , मुख्यमंत्री हरियाणा तथा अन्य सम्मानित अतिथियों का कार्यक्रम में पधारने पर धन्यवाद व्यक्त किया। उन्होंने विश्वास दिलाया कि हरियाणा सहित सभी प्रदेशो में यह कार्यक्रम भव्य तरीके से लागू किया जाएगा।
समारोह में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, गृह राज्यमंत्री हंसराज गंगाराम अहीर, केन्द्रीय योजना, रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री राव इन्द्रजीत सिंह, हरियाणा के लेाक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह, गृह मंत्री के सलाहकार एच के पालिवाल, केन्द्रीय गृह सचिव राजीव गाबा, हरियाणा के गृह सचिव एस एस प्रसाद, केन्द्रीय गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव विवेक भारद्वाज, हरियाणा के पुलिस महानिदेशक बी एस संधु, एडीजीपी ए एस चावला, आईजी सीआईडी अनिल कुमार राव, मेयर मधु आजाद, भाजपा जिला अध्यक्ष भूपेन्द्र चौहान, पुलिस आयुक्त के के राव, आईजी रोहतक संदीप खिरवार, उपायुक्त विनय प्रताप सिंह सहित कई गणमान्य व्यक्ति व अधिकारीगण उपस्थित थे।