धर्मशाला, 25 फरवरी: जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कांगड़ा द्वारा आज पी.टी.सी., डरोह में जागरूकता शिविर आयोजित किया गया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री पुरेन्द्र वैद्य ने शिविर में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। 
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि न्याय पाना प्रत्येक नागरिक का मौलिक अधिकार है। पीड़ित को समय पर सुलभता से न्याय मिल सके इसके लिए प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि घरेलू हिंसा, दहेज हत्या कन्या भ्रुण हत्या, सामाजिक बुराईयां हैं इनको समाज से समाप्त किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि संविधान में प्रत्येक नागरिक को न्याय पाने का अधिकार है। इसके लिए प्रत्येक नागरिक को अपने मौलिक एवं कानूनी अधिकारों के संबध में जानकारी होना आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि विधिक सेवा प्राधिकरण का गठन विधिक सेवा प्र्राधिकरण अधिनियम-1987 के तहत किया गया है। इसका कार्य कानूनी सहायता कार्यक्रम लागू करना एवं उसका मूल्यांकन एवं निगरानी करना तथा कानूनी सहायता उपलब्ध करवाना है। इसके सफल क्रियान्वयन के लिये उपमंडल स्तर पर समितियों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि प्राधिकरण का मुख्य कार्य पात्र लोगों को निःशुल्क कानूनी सहायता उपलब्ध करवाना, विवादों को सौहादपूर्ण ढ़ंग से निपटाने के लिये लोक अदालतों का संचालन करना, विधिक जागरूकता को फैलाना है। 
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव नेहा दहिया ने विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा गरीब लोगों को मुफ्त कानूनी सहायता बारे जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गरीबी उन्मूलन के लिये कई प्रकार की योजनायें चलाई जा रही हैं, जिनकी जानकारी और पंजीकरण के लिये इस तरह के शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।
इस अवसर पर प्रदेश पुलिस,  सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, स्वास्थ्य, कृषि, पशु पालन, उद्योग, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, जिला बाल संरक्षण इकाई, शिक्षा एवं प्रक्षिक्षण इकाई, महिला एवं बल विकास, हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम,  जिला रेडक्रॉस सोसाइटी, श्रम कल्याण, एससी एसटी कमिशन, बैंकिंग, जिला आपदा प्रबंधन, खाद्य आपूर्ति और खंड विकास कार्यालय द्वारा प्रदर्शनियों के माध्यम से लोगों को सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी गई।
इस अवसर पर गुरू द्रोणाचार्य कॉलेज ऑफ नर्सिंग, योल की छात्राओं ने लघु नाटिका के माध्यम से एड्स के बारे जागरूक किया, जबकि सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के कलाकारों ने विधिक साक्षरता पर अपनी प्रस्तुति दी।
शिविर में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव बाली, शरद यादव और ज्योत्सना डढ़वाल, सीजेएम विवेक शर्मा, अतिरिक्त सीजेएम अमित डढ़वाल, मोबाईल ट्रैफिक मैजिस्ट्रेट विशाल तिवारी, सिविल जज उमेश वर्मा, एसपी संतोष पटियाल, पीटीसी डरोह की प्रधानाचार्य सौम्या सांबशिवन, अतुल मेहन्द्रु, एमसी राणा,  रवि कांत कौशल, दिनेश शर्मा, एडीएम एमआर भारद्वाज, एसडीएम पंकज शर्मा, डीएसपी  विकास धीमान सहित विभिन विभागों के अधिकारी और क्षेत्र के लोग उपस्थित रहे।