रोहतक।13 जनवरी,हल्का गढ़ी सांपला किलोई के अंर्तगत गांव दत्तौड़ में लोहड़ी के पावन अवसर पर कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने आंगनबाड़ी केन्द्र का लोकापर्ण किया एवं उप-स्वास्थ्य केन्द्र की नींव रखी।  इस अवसर पर गरीबों एवं जरुरतमंदों के लिए कम्बल वितरण समारोह का आयोजन भी किया गया जिसकी अध्यक्षता किसान मोर्चा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रवीण घुसकानी ने की।
इस अवसर पर कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने उपस्थित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा की वर्तमान सरकार गांव और किसान की भलाई व कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। कृषि मुनाफे का व्यवसाय बने और निर्धारित समय अवधि किसानों की आमनी दोगुनी की जा सके इसके लिए पुरजोर प्रयास किए जा रहे है। भाजपा कार्यकर्त्ता पार्टी की रीढ़ है। और भाजपा का कार्यकर्त्ता अपनी समझ बूझ के दम पर हताशा में बौखलाए हुए विपक्ष के दुष्प्रचार और षड्यंत्रो का मूंह तौड़ जबाब देने का हौसला रखता है किसानों के मुद्दो पर चर्चा करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि प्राकृतिक आपदा में खराब होने वाली फसल की प्रति एकड़ मुआवजे की राशी पूर्व सरकार के मुकाबले वर्तमान सरकार ने ही दोगुना की है यह बढ़ोतरी स्वामीनाथन आयोग की शिफारिश से भी ज्यादा है उन्होनें कहा कि फसल बीमा योजना को किसानों के लिए अधिक लाभकारी और सुगम बनाया गया है पहले की तुलना मे कम प्रिमियम पर अधिक राशी के लिए फसल का बीमा किया जा रहा है और शत प्रतिशत खराब होने की सूरत में प्रति एकड़ 25000 तक की राहत किसानों को देने की व्यवस्था की गई है उन्होने कहा कि कृषि प्रधान राज्य में अगर किसी किसान को राजनैतिक स्वार्थ के तहत वर्षो तक पानी ही न मिलें तो इससे शर्मनाक उन दलोें के लिए कुछ नही है जिन्होनें अभी तक यहां राज किया है। प्रदेश में जल बटवारें में पहली बार इंसाफ भाजपा की सरकार बनने के बाद पिछलें 3 सालों में हुआ है। भावांतर योजना किसानों के लिए वरदान साबित होगी इस योजना के बाद किसी भी किसान को अब नुकसान नही होगा इसी योजना में अभी तक चार फसलों को शामिल किया गया है जल्दी ही अन्य फसलों को भी शामिल किया जाएगा। भाजपा देश की ऐसी सरकार बन गयी जिससे किसानो को फायदा हुआ है। 
इस अवसर पर रामअवतार बाल्मीकि, अजय बंसल, सतबीर सैनी, जयसिंह लाकड़ा, नरेन्द्र वत्स, विकास रोहिल्ला, नरेन्द्र पंचार, दिनेश घिलौड़, रणवीर ढाका, वजीर खोकर, प्रदीप आर्य, विकास पवांर, प्रवीण आर्य, सुरेन्द्र कौशिक, देवराज सांपला, विरेन्द्र प्रभारी, संदीप बुधवार, गणपत आर्य, सुन्दर औल्याण, राकेश आर्य, राजकुमार प्रजापत, सुनिल जिंदरान, अशोक कुमार, सुशील आर्य आदि गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।