शिमला-07 अक्तूबर, 2022
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां खलीणी में 6 करोड़ 45 लाख रुपये की लागत से निर्मित हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के कांप्लेक्स का लोकार्पण किया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस भवन की आधारशिला वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल में उनके द्वारा ही वर्ष 2020 में रखी गई थी और आज यह भवन पूरी तरह बनकर तैयार हो गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों और बागवानों के उत्थान तथा उनकी फसल उत्पादकता को बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयासरत है, ताकि उनकी आर्थिकी को सुदृढ़ किया जा सके।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसानों और बागवानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलवाने के लिए राज्य कृषि विपणन बोर्ड सराहनीय कार्य कर रहा है। प्रदेश सरकार कृषि विपणन बोर्ड के माध्यम से किसानों-बागवानों को उनकी उपज को बेचने के लिए आधारभूत सुविधाएं एवं सेवाएं उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने लगभग 242 करोड़ रुपये की लागत से प्रदेश में नई सब्जी मंडियों का निर्माण और पुरानी मंडियों का विस्तार किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोल्ड स्टोर बनाने पर विशेष बल दिया जा रहा है। कोल्ड स्टोर्स के माध्यम से भी किसानों-बागवानों को लाभ पहुंचाया जा रहा है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि किसानों को उनकी उपज के उचित दाम मिले और फसल बेचने के लिए अपने क्षेत्र के नजदीक ही सुविधा मिल सके, इस दिशा में सरकार ने प्रभावी कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि अनेक स्थानों पर छोटे सब्जी संग्रहण केंद्र और मार्केट यार्ड बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कृषि विपणन बोर्ड के अन्तर्गत जिला स्तर पर कुल 10 मंडियां क्रियाशील हैं और उपमंडियों के माध्यम से भी किसानों को विपणन सुविधा प्रदान की जा रही है।
उन्होंने कहा कि कृषक कल्याण को सर्वाेच्च अधिमान देते हुए राज्य सरकार कृषि को प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए खाद, उपकरण और बीज खरीदने पर उपदान दे रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में कृषकों के उत्थान के लिए कृषि से सम्पन्नता योजना, कृषि उत्पादन संरक्षण योजना, मुख्यमंत्री ग्रीन हाउस नवीकरण योजना जैसी योजनाएं भी चलाई की जा रही हैं। प्रदेश में केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित अनेक महत्वाकांक्षी योजनाएं भी सफलतापूर्वक लागू की जा रही हैं, जिनसे प्रदेश के किसानों की जीवन में सकारात्मक बदलाव आ रहे हैं और उपज में बढ़ोतरी से उनकी आर्थिकी भी सुदृढ़ हो रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड काल में भी प्रदेश सरकार ने किसानों-बागवानों की हरसंभव मदद की है। किसानों-बागवानों को इस मुश्किल दौर में भी फलों के अच्छे दाम मिले और कोई मंडी बंद नहीं रही। इस दौरान किसानों-बागवानों को सभी तरह की सुविधाएं प्रदान की गई।
इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, ग्रामीण विकास, पंचायतीराज और कृषि मंत्री वीरेन्द्र कंवर, राज्य कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव सिंह भंडारी, एपीएमसी के अध्यक्ष नरेश शर्मा सहित वरिष्ठ अधिकारी व पदाधिकारी और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।