HISAR, 04.10.22-आखिरकार मंडी आदमपुर उपचुनाव की घोषणा हो गयी । तीन नवम्बर को होगा यह उपचुनाव ! वैसे तो सभी दल पहले से ही इसकी तैयारियों में जुटे हुए है लेकिन अब घोषणा के बाद और तेजी आयेगी । इस संभावित उपचुनाव की नौबत आई मंडी आदमपुर के कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई के पाला बदलने से । राज्यसभा चुनाव में ही अंतरात्मा की आवाज सुनकर कार्तिकेय शर्मा को वोट की और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिले । नितिन गडकरी को भी याद किया । इस तरह कांग्रेस छोड़ने के सारे तरीके अपना लिये और आखिरकार राष्ट्रपति पद के चुनाव के समय एक बार फिर क्राॅस वोटिंग कर कांग्रेस को अलविदा कह गये । तीसरी बार उपचुनाव हो रहा है कुछ ही वर्षों में । कारण चौ भजनलाल के परिवार द्वारा इस चुनाव क्षेत्र को अपनी मनमानी राजनिति के लिए विरासत समझना है ! राजनीति में चौ भजन लाल ने यहां बड़े बड़े सूरमाओं को हराया । चौ देवलाल से लेकर प्रो गणेशी लाल तक ! सबके सब यहां चित्त हुए । पचास वर्ष का फेविकोल जैसा जोड़ जो ठहरा । यहां से चौ भजन लाल, उनकी धर्मपत्नी जसमा देवी , बेटा कुलदीप बिश्नोई और बहूरानी रेणुका बिश्नोई सबके सब विधायक बने और राजनीति में अपनी पारी शुरू की ! अब ऐसा लगता है कि कुलदीप अपने बेटे भव्य की सफलता की पारी यहां से शुरू करवाने की फिराक में हैं । हालांकि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से जिद्द कर बेटे भव्य के लिए ली गयी टिकट पर मंडी आदमपुर में ही भव्य बुरी तरह से पिछड़ गये थे ! जमानत तक जब्त हुई पूरे चुनाव में ! अब क्या होगा ? यह कुलदीप बिश्नोई की अग्निपरीक्षा के समान है । कब तक राजनिति में दलबदल कर अपनी राजनीति चलाते रहोगे ? क्या जनता आपके दलबदल पर इस बार भी मोहर लगायेगी ? यह बहुत बडा सवाल है ।
दूसरी ओर कांग्रेस में कुलदीप बिश्नोई लगातार पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को चुनौती दे रहे हैं कि मंडी आदमपुर से चुनाव लड़ने आ जाओ । यह चुनौतियां देना हरियाणा की राजनीति का पुराना खेल है और जनता का बहुत मनोरंजन होता है बिना कोई टैक्स दिये ! कोई जीएसटी दिये ! कांग्रेस किसको चुनाव मैदान में उतारेगी ? लम्बी सूची है -प्रो सम्पत सिंह , जयप्रकाश जेपी , रामनिवास घोड़ेला, कर्ण सिंह रानोलिया या कोई और ? प्रो सम्पत सिंह और कर्ण सिंह रानोलिया हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए हैं और ऐसा लगता है कि इनके से किसी को टिकट दिया जायेगा । कांग्रेस की ओर से राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा लगातार फील्डिंग कर रहे हैं पिछले एक महीने से । कभी वे बंद किये गये स्कूलों के प्रदर्शनकारियों से मिले तो कभी सोनाली फौगाट के परिजनों के बीच शोक व्यक्त करने गये ! इस फील्डिंग का कितना असर होगा , यह देखना है और यह भी कि जब कांग्रेस हाईकमान ने हरियाणा में हुड्डा को फ्री हैंड दिया है तो क्या परिणाम आता है । यह एक अग्निपरीक्षा है नये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष उदयभान की भी !
तीसरी ओर आप पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के साथ आए और तिरंगा यात्रा मंडी आदमपुर में निकाल कर चुनाव प्रचार अभियान की शुरूआत कर गये । भाजपा से दलबदल कर आये सतिंद्रर सिंह को आप पार्टी में शामिल किया और ऐसी संभावनायें हैं कि सतिंद्र सिह आप पार्टी की ओर से चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं । वे शिक्षा के अधिकार को लेकर रैलियां कर रहे हैं । वैसे सभी दल अरविंद केजरीवाल को एसविईएल पर घेरने की तैयारी में हैं ! बाकी जजपा तो भाजपा के साथ ही रहेगी गठबंधन में और इनेलो की ओर से अभय चौटाला जरूर कोई न कोई प्रत्याशी उतारने के मूड में हैं ।
इस तरह मंडी आदमपुर के महाभारत के नये सीजन का शंखनाद हो गया है । देखते हैं आने वाले दिनों में क्या-क्या दृश्य , कैसे कैसे मंजर सामने आते हैं !
दुष्यंत कुमार के शब्दों में :
कैसे कैसे मंजर सामने आने लगे हैं
गाते गाते लोग चिल्लाने लगे हैं !
-पूर्व उपाध्यक्ष, हरियाणा ग्रंथ अकादमी ।
9416047075