रोहतक/चंडीगढ़, 2 अक्तूबर। एसई साहब, पिछले दिनों लिए गए पीने के पानी के आधे से ज्यादा सैंपल फेल पाए गए है। आप बहानेबाजी पर बहानेबाजी कर रहे है, यह नहीं चलेगा। लोगों की सेहत के साथ आप खिलवाड़ न करें। यदि भविष्य में पानी के सैंपल फैल पाए गए तो आप सख्त कार्रवाई के लिए तैयार रहे। ये बात प्रदेश उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला रोहतक में जिला लोक सम्पर्क एवं परिवेदना समिति की मासिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। बैठक में जनस्वास्थ्य विभाग के एसई से उपमुख्यमंत्री ने पूछा कि आपने गंदे पानी की आपूर्ति को रोकने के लिए क्या योजना बनाई है तो संबंधित अधिकारी कोई कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। इस बैठक में 15 शिकायतें रखी गई, जिनमें से 9 शिकायतों का सुनवाई के उपरांत निपटारा कर दिया गया तथा 4 शिकायतों के संदर्भ में समिति गठित करने के निर्देश दिये गए।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि वे संबंधित क्षेत्र के लोगों को आगामी 15 दिन में शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें अन्यथा उन्हें निलंबित कर दिया जाएगा। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को पेयजल पाइप लाइन व सीवर पाइप लाइन के लिए पांच लाख रुपये की राशि उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने स्थानीय वार्ड नम्बर 16 की पार्षद डिम्पल की स्थानीय आर्य नगर, जनता कॉलोनी आदि से संबंधित पेयजल आपूर्ति एवं सीवरेज ब्लॉक होने की शिकायत की सुनवाई के दौरान जनस्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता को 15 दिन में शुद्ध पेयजल आपूर्ति शुरू करने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारी को इस कार्य को जल जीवन मिशन में शामिल करने के भी निर्देश दिए।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने फ्रेंड्स कॉलोनी निवासी राजबीर व अन्य की शिकायत पर जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कॉलोनी वासियों को तीन दिन में पेयजल की आपूर्ति शुरू करने तथा मरम्मत आदि के कार्य को तुरंत करवाकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने सलारा मोहल्ला निवासी की शिकायत की सुनवाई के दौरान अधिकारियों को 15 दिन में सीवर पाइप लाइन की मरम्मत करवाकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने एचएसआईआईडीसी से संबंधित शिकायत की सुनवाई करते हुए स्पष्ट किया कि यदि किसी विभाग कोई कर्मचारी कार्यरत है तो उस विभाग में संबंधित कर्मचारी का परिजन ठेकेदार इत्यादि का कार्य नहीं कर सकता। दुष्यंत चौटाला ने शिकायतकर्ता की पत्नी का रोहतक से एचएसआईआईडीसी मुख्यालय पर तुरंत तबादला करने तथा मामले में विभागीय जांच के निर्देश दिए।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने खरक जाटान निवासी पुष्पेंद्र व अन्य की गांव में शिक्षा विभाग द्वारा बनाए जा रहे विद्यालय के भवन में गुणवत्ता के संदर्भ में शिकायत की सुनवाई करते हुए स्पष्ट किया कि बच्चों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि निर्माणाधीन भवन में प्रयोग की जा रही सामग्री की गुणवत्ता की जांच के लिए शिकायतकर्ता को 50-50 प्रतिशत राशि जमा करवाने को कहा। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि लोक निर्माण विभाग के अधीक्षक अभियंता की अध्यक्षता में निर्माणाधीन भवन में प्रयोग की जा रही सामग्री की गुणवत्ता जांच की जाएगी।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बलियाना निवासी संजय कुमार की शिकायत के संदर्भ में नगर निगम आयुक्त को एक सप्ताह में रिकॉर्ड चेक कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने सेक्टर तीन निवासी विनोद कुमार की ट्रांसफार्मर शिफ्ट करवाने की शिकायत के संदर्भ में बिजली विभाग के अधिकारियों को शिकायतकर्ता के साथ मौका निरीक्षण कर उचित जगह तलाशने के निर्देश दिये। दुष्यंत चौटाला ने भगवतीपुर निवासी जय प्रकाश की फसल बीमा योजना के संदर्भ में शिकायत की सुनवाई के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में कमेटी गठित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कलानौर निवासी प्रतुल आनंद की शिकायत के संदर्भ में उपायुक्त यशपाल से कहा कि वे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बात कर समस्या का समाधान करवाये। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने राजकीय महाविद्यालय महम में कार्यरत स्टेनो टाइपिस्ट प्रभा तथा बालंद निवासियों द्वारा की गई शिकायतों का निपटारा किया। उपमुख्यमंत्री ने खेड़ी साध निवासी जोगेंद्र व अन्य की शिकायत की सुनवाई के दौरान एचएसआईआईडीसी के वरिष्ठ प्रबंधक से जवाब तलब करते हुए कहा कि सरकारी जमीन पर यदि आम नागरिक ने पर्यावरण बचाने के लिए पेड़ लगा दिया तो इसमें शिकायतकर्ता का क्या दोष है। शिकायतकर्ता ने तो एचएसआईआईडीसी विभाग की ड्यूटी निभाई है। उन्होंने मौके पर ही अधिकारी को एचएसआईआईडीसी की ग्रीन पट्टी पर पौधारोपण करवाकर फैंसिंग करवाने के आदेश दिए। इस अवसर जेजेपी जिलाध्यक्ष दलबीर सिंह भराण, बीजेपी जिलाध्यक्ष अजय बंसल, जेजेपी वरिष्ठ नेता बलवान सुहाग, इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप देशवाल, युवा जेजेपी प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र सांगवान सहित विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी तथा समिति के मनोनीत सदस्य आदि मौजूद रहे।