चंडीगढ़19.09.22-- हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव बजरंग गर्ग ने व्यापारी व किसानों से बातचीत करने के उपरांत कहा कि सरकार को धान की सरकारी खरीद 20 सितंबर से मंडियों में शुरू करनी चाहिए जबकि किसान की धान की कटाई हो चुकी है। खरीद लेट शुरू होने से किसानों को धान खराब होने का डर सता रहा है। सरकार को देश व प्रदेश में अनाज की खरीद ई-ट्रेडिंग के माध्यम से ना करके पहले की तरह मंडियों में खुली बोली से करनी चाहिए अगर सरकार ने अनाज की खरीद मंडियों में खुली बोली से नहीं की तो 19 सितंबर को हरियाणा की मंडियों में अनिश्चितकाल हड़ताल रहेगी। अगर ई-ट्रेडिंग के माध्यम से गुजरात, महाराष्ट्र, बंगाल का व्यापारी अनाज की खरीद करता है तो हरियाणा की मंडियों से कैसे अन्य राज्यों का व्यापारी अनाज का उठान कर पाएगा और अनाज खरीद का किसान का समय पर भुगतान कर पाएगा, यह बहुत बड़ा चिंता का विषय है।

बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार को तुरंत प्रभाव से ई-ट्रेडिंग अनाज खरीद का फरमान देश व प्रदेश के किसान,आढ़ती व मजदूरों के हित में वापिस लेना चाहिए और किसान की हर फसल की खरीद पर आढ़तियों को पहले की तरह 2.5 प्रतिशत आढ़त मिलनी चाहिए और आढ़तियों को कमीशन व पल्लेदारों की मजदूरी जो सरकार ने एक-एक साल बता देती है। सरकार अनाज खरीद का भुगतान के साथ-साथ आढ़तियों की आढ़त व पल्लेदारों की मजदूरी देनी चाहिए। अगर किसी कारण फसल का भुगतान, आढ़तियों की आढ़त व पल्लेदारों की मजदूरी का भुगतान लेट हो जाता है तो सरकार को ब्याज सहित उसका भुगतान करना चाहिए।