सिरसा, 16 अगस्त: इनेलो के प्रधान महासचिव व ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि पूर्व उपप्रधानमंत्री चौधरी देवी लाल की नीतियां वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में भी प्रासंगिक हैं क्योंकि देश की विभिन्न सरकारों ने उनकी योजनाओं को अपने यहां लागू किया है। वे मंगलवार को सिरसा हलका के गांव कंगनपुर, बाजेकां, फूलकां, कंवरपुरा, कुसुंबी, जोधकां, कुक्कड़थाना, मोचीवाली, डिंग सहित करीब 20 गांवों में जनसंपर्क अभियान के दौरान ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि चौधरी देवी लाल ने बुजुर्गों का सम्मान रखते हुए 100 रुपए प्रतिमाह पेंशन जारी की थी मगर वर्तमान हरियाणा सरकार ने बुजुर्गों की परिवार पहचान-पत्र में दी गई आय को आधार बनाकर उनकी पेंशन काटी है जो निंदनीय है। उन्होंने कहा कि जिले में बढ़ रही नशे की प्रवृत्ति भी घातक है और इसमें ग्रामीणों को भी सामाजिक भागीदारी निभाते हुए इसे रोकने का काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह अति दुर्भाग्यपूर्ण है कि नशा माफिया को सरकारी संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने कहा कि वे जिले के ग्रामीण आंचल में गए हैं जहां उन्होंने पाया कि विकास के नाम पर एक नई ईंट भी नहीं लगी। ग्रामीण मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं। जहां एक ओर स्कूलों की इमारतें जर्जर हो चुकी हैं वहीं प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों में मरीजों का दवा देने वाले चिकित्सक नहीं हैं। सडक़ें पूरी तरह से टूटी पड़ी हैं और लोगों को पर्याप्त परिवहन सुविधाएं भी नहीं मिल पा रही।
इनेलो नेता ने कहा की गांवों में हुई ज्यादा बरसात के कारण नष्ट हुई फसलों की विशेष गिरदावरी भी नहीं करवाई जा रही जिससे किसानों की आर्थिक कमर पूरी तरह टूट चुकी है। उन्होंने कहा की जनता ने सरकार को बदलने का मन बना लिया है । इस जनसंपर्क अभियान के दौरान उन्होंने ग्रामीणों को आगामी 25 सितंबर को जिला फतेहाबाद में होने वाले चौधरी देवी लाल ‘जयंती समारोह’ में अधिकाधिक संख्या में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि 25 सितंबर को केवल हरियाणा ही नहीं बल्कि पूरे देशभर से अनेक लोग उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करने आएंगे। इस जनसंपर्क अभियान के दौरान उनके साथ इनेलो जिलाध्यक्ष कश्मीर सिंह करीवाला, कृष्णा फोगाट, विनोद बेनीवाल, गुरविन्द्र सरपंच, गुरदयाल मेहता, धर्मवीर नैन, महावीर शर्मा, रणधीर जोधकां, नरेश सहारण, अरविन्द इंदोरा, भगवान कोटली, सुरेंद्र महेरिया सहित तमाम इनेलो पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।