rajgarh, 07.08.22-हिमाचल प्रदेश के युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाकर उन्हें स्वरोजगार अपनाने के प्रति प्रेरित करने के साथ- साथ उनका कौशल विकास करने तथा स्वावलंबी बनाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना क्रियान्वित की जा रही है। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के अतंर्गत प्रदेश के अधिक से अधिक युवाओं, युवतियों एवं महिलाओं को स्वरोज़गार प्रदान करने के उदेश्य से योजना के तहत पुरूष लाभार्थियों के लिए 25 प्रतिशत और महिलाओं के लिए 30 प्रतिशत तथा विधवा महिलाओं के लिए 35 प्रतिशत तक अनुदान प्रदान किया जा रहा है।

प्रदेश के ऐसे अनेंको युवा एवं युवतियां हैं जिन्होंने मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना का लाभ उठाकर नौकरी के बजाय स्वरोजगार को तरजीह दी है। ऐसे युवक एवं युवतियां अपना कारोबार आरम्भ कर समाज में स्वाभिमान के साथ जीवन यापन करने के साथ-साथ अन्य बेरोज़गार युवाओं को भी रोजगार दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना की लाभार्थी रीचा भारद्वाज, जोकि ज़िला सिरमौर के विकास खंड संगड़ाह के नौहराधार गांव की निवासी हैं, ने बताया कि उन्होंने कंप्यूटर साइन्स में इंजीनियरिंग की है और वह शिमला में आईटी सेक्टर में कार्यरत थी। लेकिन कुछ पारिवारिक परिस्थितियों के चलते उन्हें यह नौकरी छोड़नी पड़ी। उन्होेंने बताया कि उनके पति भी मर्चेंट नेवी में कार्यरत हैं जिसके कारण उन्हें अपने घर के अन्य कार्यों को निपटाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता था। इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़ कर घर के नज़दीक अपना कारोबार करने का मन बनाया। उन्होंने बताया कि अपना व्यापार शुरू करने के लिए उन्हें मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के बारे में पता चला।

मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के बारे में पता करने के बाद उन्होंने जिला उद्योग केन्द्र नाहन से इस योजना के बारे में पूर्ण जानकारी प्राप्त की। उद्योग केन्द्र से जानकारी प्राप्त होने के पश्चात उन्होंने स्वरोजगार हेतु आवेदन किया और कुछ ही समय बाद मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत विभाग द्वारा उन्हें अपना स्वरोज़गार स्थापित करने के लिए 4 लाख का टर्म लोन व 12 लाख तक का सीसी लिमिट ऋण बैंक के माध्यम से प्राप्त हुआ।

योजना के तहत राशि प्राप्त होने पर उन्होंने सिरमौर जिला के विकास खण्ड राजगढ़ बाजार में मार्ट खोला, जिसका नाम है भुवनेष्वरी मार्ट। उन्होंने बताया कि इस मार्ट में बच्चों के खिलौने, काॅस्मेटिक सामान व ग्राॅसरी स्टोर व अन्य वस्तुएं भी बिक्री के लिए उपलब्ध हैं।

रीचा ने बताया कि उन्होंने इस योजना के माध्यम से अपने घर के नज़दीक स्वरोजगार तो प्राप्त किया ही है, बल्कि अन्य लोगों को भी रोज़गार के अवसर उपलब्ध करवाए हैं। उन्होंने बताया कि उनके मार्ट में 3 से 4 लोग कार्यरत हैं।

भुवनेष्वरी मार्ट में काम करने वाले राजगढ़ निवासी विकास का कहना है कि उन्हें भी मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत खोले गए इस मार्ट में घर के समीप ही रोज़गार मिला है जिससे उनके घर का दैनिक खर्चा भी आसानी से चल रहा है, जिसके लिए उन्होंने इस मार्ट में रोज़गार देने के लिए रीचा भारद्वाज का धन्यावाद करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का भी आभार व्यक्त किया।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को शशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने एवं अपना कारोबार आरम्भ करने के उद्देश्य से ऋण पर 30 प्रतिशत अनुदान उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का आभार व्यक्त करते हुए भविष्य में भी प्रदेश की महिलाओं के पक्ष में ऐसे ही रोजगारोन्मुखी योजनाएं आरम्भ करने का आग्रह किया है।