ऊना, 7 अगस्त - हिमाचल प्रदेश औद्योगिक विकास निगम के उपाध्यक्ष प्रो. राम कुमार ने आज हरोली विधानसभा क्षेत्र के तहत धार्मिक कॉरिडोर का शिलान्यास किया। इसके अंतर्गत क्षेत्र के ऐतिहासिक धार्मिक स्थलों गुरुद्वारा श्री गिड़गिड़ा सहिब, डेरा रोटी राम जी, डेरा रंगी राम जी और श्री टाहली साहिब को आपसे में जोड़ने के लिए 9 किलोमीटर लंबे संपर्क मार्ग का निर्माण किया जाएगा जिस पर लगभग 8 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

इस मौके पर जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रो. राम कुमार ने कहा कि गुरुद्वारा गिड़गिड़ा सहिब, डेरा रोटी राम जी, डेरा रंगी राम जी और श्री टाहली सहिब हरोली विधानसभा क्षेत्र के धार्मिक आस्था और भाईचारे के प्रतीक हैं। इस कॉरिडोर के बनने से जहां स्थानीय श्रद्धालुओं को सुविधा मिलेगी तो वहीं धार्मिक पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के गत 19 नवंबर के एक दिवसीय प्रवास के दौरान इस कॉरिडोर के निर्माण की मांग रखी गई थी जिसे पूरा करने को उन्होंने आश्वासन दिया था। उन्होंने धार्मिक कॉरिडोर की मांग को पूरा करने और इसके शिलान्यास के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया।
प्रो राम कुमार ने बताया कि जय राम ठाकुर के नेतृत्व में गत साढे़ 4 वर्षों में हरोली हल्के का एक समान विकास हुआ है। उन्होंने बताया कि हरोली हल्के में जल जीवन मिशन के तहत प्रत्येक घर को नल से स्वच्छ जल मुहैया करवाया गया है। इसके अलावा लोगों को सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध करवाने के लिए जगह-जगह टयूबवैलों का निर्माण भी किया जा रहा है ताकि किसान का रूझान नकदी फसलों को पैदा करने की ओर बढे़। उन्होंने बताया कि जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश में 7.78 लाख घरों को पेयजल कनेक्शन प्रदान किए गए हैं जिससे राज्य के लगभग 89.17 प्रतिशत घरों को स्वच्छ पेयजल सुविधा मिली है।प्रो. राम कुमार ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा बिना आय सामाजिक सुरक्षा पेंशन की आयु सीमा को 60 वर्ष करना, 125 यूनिट तक निःशुल्क बिजली, एचआरटीसी की बसों में महिलाओं को किराए में पचास प्रतिशत की छूट और ग्रामीण क्षेत्रों में पानी के बिल माफ करने जैसे निर्णयों में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की जनहितैषी व दूरदर्शी सोच झलकती है।
इस अवसर पर भाजपा महामंत्री रंजित गागो, लखविन्द्र लक्खी, कुलविन्द्र, ओम कुमार, सतनाम सिंह व दर्शन सिंह सहित अन्य उपस्थित रहे।