ग्राम पंचायत हिमगिरी में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित
अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विशाल कौंडल ने की अध्यक्षता

चंबा, 28 जून-जिला विधिक सेवा प्राधिकरण चंबा के तत्वाधान में आज ग्राम पंचायत हिमगिरी में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया ।
शिविर की अध्यक्षता अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव विधिक सेवाएं प्राधिकरण विशाल कौंडल ने की।
शिविर में उन्होंने कहा कि तीन लाख से कम आय अर्जित करने वाले लोगों को अपने अधिकारों की सुरक्षा करने के लिए विधिक सेवा प्राधिकरण मुफ्त में कानूनी सहायता उपलब्ध करवाता है, ताकि किसी अभाव या लाचारी के कारण लोगों को अन्याय का सामना ना करना पड़े।
उन्होंने कहा कि समाज में सकारात्मकता लाने के लिए महिला वर्ग ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है । वर्तमान परिदृश्य में महिलाओं के प्रति लोगों की सोच में सकारात्मक बदलाव लाए जाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए उन्होंने ने कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों की रक्षा के लिए आगे आना चाहिए।
इसके अतिरिक्त उन्होंने लोक अदालत, राष्ट्रीय विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा चलाई जा रही पीड़ित मुआवजा योजना के बारे में विस्तृत जानकारी भी दी।

शिविर में अधिवक्ता संतोषी ठाकुर ने भी महिलाओं के लिए बनाए गए विभिन्न कानूनों के बारे में विस्तृत जानकारी दी ।
शिविर में पंचायत प्रतिनिधियों सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे

=====================================================
ग्राम पंचायत तीसा -1 में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित
सिविल जज तीसा उमेश वर्मा ने की अध्यक्षता
चंबा (तीसा ) , 28 जून
सिविल जज एवं अध्यक्ष उपमंडलीय विधिक सेवाएं समिति तीसा उमेश वर्मा की अध्यक्षता में ग्राम पंचायत तीसा में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया।
शिविर में सिविल जज उमेश वर्मा ने उपस्थित स्थानीय लोगों को जानकारी देते हुए बताया कि आर्थिक दृष्टि से गरीब,पिछड़े और कमजोर वर्ग,अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति महिलाएं ,असहाय बच्चे और ऐसे व्यक्ति जिनकी वार्षिक आय 3 लाख से कम हो विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम सादे कागज पर एक प्रार्थना पत्र देकर निशुल्क कानूनी सहायता प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुकदमों को तुरंत निपटाने के लिए प्राधिकरण राष्ट्रीय,राज्य,जिला तथा उपमंडल स्तर पर नियमित लोक अदालतों का आयोजन करता है। उन्होंने बताया कि विधिक सेवा प्राधिकरण मध्यस्था के माध्यम से विवादित पक्षों के बीच समझौता की आधारभूत आधार भूमि तैयार करता है। इसके अतिरिक्त उन्होंने एफआईआर की प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी भी दी।
शिविर में अधिवक्ता रविंदर कुमार ने मोटर वाहन अधिनियम ,एनडीपीएस एक्ट और अधिवक्ता हेमराज ने मौलिक अधिकार, मौलिक कर्तव्य और पर्यावरण अधिनियम के बारे में विस्तृत जानकारी दें।
शिविर में उपस्थित तहसील कल्याण अधिकारी अक्षय कुमार, सुपरवाइजर महिला एवं बाल विकास विभाग पूजा कुकरेजा, चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर गीतांकशी ने सरकार द्वारा चलाई गई विभिन्न विभागीय योजनाओं के बारे में अवगत करवाया।
इस अवसर पर सहायक जिला न्यायवादी मनोज कुमार, तहसीलदार चुराह प्रकाश चंद , प्रधान ग्राम पंचायत तीसा -1 सीमा महाजन सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।
============================
जिला चंबा में 24वीं हिमाचल प्रदेश दिव्यांग क्रिकेट प्रीमियर लीग संपन्न
पुलिस अधीक्षक चंबा अभिषेक यादव बतौर मुख्य अतिथि रहे उपस्थित
बिलासपुर लीजेंड ने शिमला वॉरियर्स को हराकर खिताब किया अपने नाम
चंबा, 28 जून-24वीं हिमाचल प्रदेश दिव्यांग क्रिकेट प्रीमियर लीग का समापन आज जिला चंबा के ऐतिहासिक चौगान में हुआ। लीग में चंबा,शिमला,बिलासपुर और मंडी की चार टीमों ने भाग लिया। दिव्यांग क्रिकेट प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में बिलासपुर लीजेंड ने शिमला वॉरियर्स को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया। विजेता टीम को इनाम के तौर पर 21 हजार की नगद राशि ट्राफी,प्रमाण पत्र तथा मेडल से मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक चंबा अभिषेक यादव ने पुरस्कृत किया।
इसी प्रकार लीग की उप विजेता टीम शिमला वॉरियर्स को भी 11हजार की नगद राशि,ट्राफी, प्रमाण पत्र व मेडल प्रदान किया गया।
लीग में मैन ऑफ द सीरीज का खिताब बिलासपुर के अंकित ने अपने नाम किया तथा इसके अलावा लीग मैच के दौरान प्रथम मैच का मैन ऑफ दी मैच रिंटू जसवाल जिला शिमला से रहे। इसी तरह द्वितीय मैच का मैन ऑफ दी मैच निहाल सिंह जिला बिलासपुर से, तृतीय मैच का मैन ऑफ दी मैच पंकज जिला चंबा से, चौथे,पांचवे तथा सातवें मैच के मैन ऑफ दी मैच जिला बिलासपुर के अंकित के नाम रहे और छठे मैच का मैन ऑफ दी मैच जिला शिमला के साहिल के नाम रहा।
दिव्यांग क्रिकेट प्रीमियर लीग के समापन समारोह के अवसर पर पुलिस अधीक्षक चंबा अभिषेक यादव कहा कि जीवन में दृढ़ संकल्प व बुलंद हौसला बहुत जरूरी है। जीवन में कोई भी कार्य असंभव नहीं है मेहनत के आगे सभी कार्य असंभव से संभव हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि खेल जीवन का अभिन्न अंग है। जिससे शारीरिक व मानसिक का विकास होता है। इस दौरान उन्होंने सभी दिव्यांग खिलाड़ियों के प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन पर प्रशंसा की ओर विजेता व उपविजेता टीमों को बधाई भी दी।
इस अवसर पर जिला खेल अधिकारी प्रदीप धीमान, अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश दिव्यांग क्रिकेट एसोसिएशन कुलदीप ठाकुर, टीम मैनेजर हिमाचल प्रदेश दिव्यांग क्रिकेट एसोसिएशन वरुण वर्मा, समन्वयक हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन चंबा मनुज शर्मा,अध्यक्ष प्रेरणा दी इंस्पेरेशन दीपक भाटिया सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।