चंडीगढ़, 22 जून। हरियाणा नगर निकाय चुनाव परिणाम पर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस चुनाव में बीजेपी-जेजेपी गठबंधन की स्पष्ट जीत हुई है और जनता ने कांग्रेस को आईना दिखाया है। वे बुधवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से रूबरू थे। डिप्टी सीएम ने कहा कि दोनों संगठन ने मिलकर अच्छा चुनाव लड़ा और अच्छे परिणाम आएं। उन्होंने यह भी कहा कि शहरी क्षेत्र में पहले के मुकाबले जेजेपी का वोट शेयर काफी बढ़ा है और चुनाव निशान पर लड़ी 8 सीटों पर जेजेपी ने 24.62 प्रतिशत वोट लिए हैं।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राज्यसभा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी को नगर निकाय चुनाव परिणाम ने एक और बड़ा झटका दिया है तथा इससे गठबंधन की ताकत बढ़ी है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के गढ़ की चार सीटें महम, झज्जर, बहादुरगढ़, गोहाना में गठबंधन चुनाव जीता। इसी तरह मेवात जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस के विधायक हैं और यहां तीनों सीटों पर गठबंधन विजयी हुआ। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पलवल और होडल क्षेत्र में भी गठबंधन जीता। वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला के कैथल और नरवाना में उम्मीदवार थे, यहां पर भी कांग्रेसियों को हार मिली। उन्होंने कहा कि अगर पूरा चुनाव परिणाम देखा जाए तो वह गठबंधन के लिए सकारात्मक है।

डिप्टी सीएम ने यह भी कहा कि 2019 विधानसभा चुनाव के मुकाबले शहरी क्षेत्र में जेजेपी का वोट प्रतिशत बढ़ा है। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं की मेहनत का परिणाम है कि निरंतर संगठन मजबूत हो रहा है। उपमुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि जो निर्दलीय उम्मीदवार नगर निकायों में चुनाव जीते है वे क्षेत्र की प्रगति के लिए सरकार के साथ चलते हुए आगे बढ़ेंगे।

बीजेपी-जेजेपी गठबंधन से जुड़े एक सवाल के जवाब में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि बीजेपी-जेजेपी के गठबंधन का निर्णय राष्ट्रीय स्तर पर लिया गया था और उस पर दोनों पार्टियां बरकरार है। उन्होंने कहा कि बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व और हम मिलकर चलते आएं है और चलते रहेंगे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अगर राज्य स्तर की लीडरशिप में तालमेल में कोई कमी रही है तो उसे बेहतर करेंगे। उन्होंने कहा कि अब राष्ट्रपति चुनाव एनडीए के लिए अगली चुनौती है और हम बड़ी मजबूती के साथ जीतेंगे। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष एनडीए की एक बड़ी रैली हरियाणा में होगी और इसके लिए उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से आग्रह किया है कि बीजेपी-जेजेपी मिलकर रैली करें क्योंकि पिछले पौने तीन साल में कोविड, किसान आंदोलन के कारण गठबंधन द्वारा प्रदेश में कोई बड़ा कार्यक्रम का आयोजन नहीं हो पाया है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी से ईडी पूछताछ और कांग्रेस के प्रदर्शन के सवाल पर दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पिछले कई वर्षों से इस मामले में जांच चल रही है। उन्होंने इसके लिए कांग्रेस को भी सहयोग करना चाहिए, न कि बल प्रदर्शन करके जांच को प्रभावित करने का प्रयास करें। वहीं अग्निपथ योजना के सवाल पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि अभी केंद्र ने इस योजना पर फैसला लिया है और इस योजना के संदर्भ में हरियाणा सरकार ने भी एक बड़ा कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि योजना से जुड़े तमाम जो लोग बाद में पैरामिलिट्री या केंद्र में नहीं लग पाएंगे तो हरियाणा सरकार उन्हें प्रदेश में नौकरी देगी। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इससे पुलिस के जवानों, युवाओं में एक नया विजन दे पाएंगे और हमें ट्रैन्ड फोर्स मिलेगी।