ऊना 24 मई: राष्ट्रीय कृमि मुक्ति सप्ताह के तहत 26 मई को 1 से 19 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों को आंगनबाडियों व स्कूलों में एल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जाएगी। यह बात उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने नेशनल डीवार्मिंग डे पर आयोजित बैठक में कहीं। राघव शर्मा ने कहा कि 26 मई को किसी कारणवश एल्बेंडाजोल की खुराक से वंचित रहे बच्चों के लिए 30 मई को मोपअप राउंड के अंतर्गत एल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जाएगी। डीसी ने कहा कि अनिमीया मुक्त भारत के तहत 1 से 30 जून तक 10 साल की आयु वर्ग के बच्चों में अनिमीया की स्क्रीनिंग की जाएगी तथा अनीमीया से ग्रसित बच्चों को आयरन आदि निःशुल्क दवाईयां वितरित की जाएगी। इसके अतिरिक्त सघन दस्त रोग नियंत्रण पखवाड़ा 15 से 30 जून तक मनाया जाएगा जिसमें आशा वर्कर और आंगनवाड़ी कार्यकत्र्ताओं के माध्यम से घर-घर जाकर 5 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को ओआरएस व जिंक की गोलियां निःशुल्क दी जाएंगी। उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग को आशावर्कर के माध्यम से स्कूलों व आंगनबाड़ी केंद्रों में जाकर बच्चों को हैंड वाशिंग व ओआरएस घोल की विधि बारे जागरूक करने के निर्देश दिए।
इस अवसर उपायुक्त राघव शर्मा ने कहा कि प्रत्येक छह माह के दौरान प्रत्येक व्यक्ति को एल्बेंडाजोल की दवा का सेवन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पेट में कीडे इत्यादि होने के कारण जो ऊर्जा खानपान से व्यक्ति को मिलनी चाहिए वह उसे पूरी तरह से प्राप्त नहीं हो पाती है तथा व्यक्ति अनीमिया का शिकार होकर कई बीमारियों की चपेट में जल्द आने की संभावना बनी रहती है। इसी के मध्यनज़र एल्बेंडाजोल की खुराक दी जाती है। उन्होने कहा कि कमजोरी व कुपोषण के कारण बच्चों में एकाग्रता की कमी होने से इसका प्रभाव उनकी शिक्षा पर भी पड़ता है।
डीसी ने बच्चों से नियमित तौर पर एल्बेंडाजोल की दवा लेने तथा इस बारे अपने आस पडोस में भी व्यापक जन जागरूकता लाने पर बल दिया। उन्होने कहा कि एल्बेंडाजोल की दवा सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में मुफत में उपलब्ध करवाई जाती है। साथ ही बच्चों से खाना खाने व शौच जाने के बाद अपने हाथों की साबुन से अच्छी तरह से साफ-सफाई बनाए रखने, नाखूनों को साफ सुथरा व छोटा रखने, खुले में शौच न करने तथा शौचालय का ही प्रयोग करने एवं अपने आसपास सफाई रखने का भी आहवान किया।
इस अवसर पर सीएमओ मंजू बहल, एमओएच डाॅ सुखदीप सिंह सिधू, डीपीओ श्रवण कुमार, उपनिदेशक उच्च शिक्षा जनक सिंह, एसआई एमसी आशुतोष सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।