चंडीगढ़ 24 मई 2022::चंडीगढ़ ऑटो मोबाइल एसोसिएशन का एक प्रतिनिधिमंडल भाजपा इंडस्ट्री प्रकोष्ठ के पूर्व संयोजक अवि भसीन की अध्यक्षता में असिस्टेंट स्टेट ऑफिसर हरजीत सिंह से मिला और ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री को आ रही दिक्कत के बारें अवगत करवाया तथा इस इंडस्ट्री की विभिन्न मांगों को उनके समक्ष रखा। जिस पर हरजीत सिंह ने प्रतिनिधिमंडल को उनकी मांगों को पूरा व समस्याओं के निवारण हेतु आश्वस्त किया।
इस मौके पर अवि भसीन ने बताया कि ऑटोमोबाइल से संबंधित सभी सेवाएं जैसे स्पेयर पार्ट्स, एक्सेसरी,मरम्मत व अन्य कार्य एक दूसरे पर निर्भर हैं और किसी भी तरह से अलग नहीं किया जा सकता है
इसे एकल श्रेणी में ऑटो वर्कशॉप के रूप में माना जाता है जो कि आस पास के राज्यों में ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री का ही बड़ा हिस्सा माना जाता है।इसलिए ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री को चंडीगढ़ इंडस्ट्री का ही हिस्सा माना जाना चाहिए। और यह स्वयं स्पष्ट है कि दोनों विस्तारित औद्योगीकरण हैं। इसलिए इसको इंडस्ट्री में शामिल किया जाना चाहिए। जिसकी मांग उनसे की गई है।
उन्होंने बताया कि इस अहम मांग के अलावा प्रतिनिधि मंडल ने लीज को फ्री होल्ड में स्थानांतरित करने की नीति जो कि अन्य राज्यों में लागू की जा चुकी है, का विस्तार चंडीगढ़ के औद्योगिक क्षेत्र 1 और 2 तक करने की मांग की है।
उन्होंने इस दौरान मारला औद्योगिक प्लॉटों के लिए ऊपरी मंजिल को रेगुलरलाइज़ेड करने का अनुरोध भी किया और असिस्टेंट स्टेट ऑफिसर को मरला प्लॉटों के नक्शे भी सौंपे।