धर्मपुर (मंडी)13 मई -जलशक्ति, बागवानी, राजस्व एवं सैनिक कल्याण मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने आज धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में 73 लाख रुपये की लागत से बनी टपोहल सम्पर्क सड़क का उदघाटन ,165 लाख रूपये की लागत से बनी रथौण-कोट-जंगेल सड़क का उदघाटन तथा 10 लाख रुपये की लागत से बनी सदाड़ सड़क का उदघाटन भी किया तथा पपलोग में राजकीय आईटीआई पपलोग में उन्होंने अपनी ओर से बच्चों को 400 वर्दियां बांटी ।उन्होंने पपलोग, जोल,मल्हुआ ,लोअर थाती ,रथौण, कोट,जंंगेल,जागणा,भरतपुर ,गललू,घलेेड,सदाड़ एवं बैम्पड मेें लोगों की समस्याओं सुुना तथा उनका मौके पर समाधान भी किया तथा शेष को शीघ्र ही निपटान के लिए समबन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देश भी दिए ।
इन मौकों पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्य मंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में गत सवा चार वर्षों के अधिक समय अवधि में प्रदेश का चंहुमुखी एक समान विकास हुआ है ।
उन्होने कहा कि धर्मपुर क्षेत्र में बिना किसी भेदभाव के मूलभूत सुविधाएं लोगों को उपलब्ध करवाई गई तथा क्षेत्र का अभूतपूर्व सर्वांगीण विकास सुनिश्चित हुआ ।
महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के निचले क्षेत्रों के किसानों व बागवानों की आर्थिकी को सुदृढ़ बनाने के लिए प्रदेश में एचपी शिवा प्रोजेक्ट की शुरूआत की गई है। इसके माध्यम से प्रदेश के सात जिलों में बागवानी से किसानों की आर्थिकी को सुदृढ करने के लिए एचपी शिवा प्रोजेक्ट के तहत 1825 करोड़ रूपये की धनराशि व्यय हो रही है। उन्होने कहा कि प्रदेश के निचले क्षेत्रों के लिए यह प्रोजेक्ट न केवल बागवानी के नए द्वार खोल रहा है बल्कि पढे - लिखे बेरोजगार युवाओं के लिएभी घर बैठे स्वरोजगार का भी एक अहम जरिया साबित हो सकता है। उन्होने बेरोजगार युवाओं के साथ-साथ किसानों व बागवानों से बड़े स्तर पर एचपी शिवा प्रोजेक्ट के साथ जुडऩे का आहवान किया।
इस प्रोजेक्ट के माध्यम से सरकार किसानों को न केवल नि:शुल्क पौधे मुहैया करवा रही है बल्कि जमीन की बाड़बंदी से लेकर सिंचाई जैसी अन्य तमाम सुविधाएं भी नि:शुल्क उपलब्ध करवा रही है। प्रोजेक्ट किसानों की आर्थिकी को बल प्रदान करेगा बल्कि शिक्षित युवाओं को घर बैठे रोजगार के अवसर भी सृजित करेगा।
महेंद्र सिहं ठाकुर ने लोगों से विकास करवाने के लिए एक जुट होकर चलने को कहा ताकि विस क्षेत्र के विकास कार्यों को न केवल आगे बढ़ाया जा सकें बल्कि नया मुकाम दिया जा सके ।मंत्री ने बताया कि शीघ्र ही इस क्षेत्र के लोगों के लिए 115 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाली संधोल-अवाहदेवी- बरच्छबाड़ पेयजल योजना का पानी उपलब्ध होगा।
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार का मुख्य उद्देश्य गरीबों और कमजोर वर्गों का सामाजिक, आर्थिक उत्थान सुनिश्चित करना रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की सभी योजनाओं, नीतियों और कार्यक्रमों का मुख्य उद्देश्य कमजोर वर्ग का उत्थान करना है।
इस अवसर पर , जिला परिषद सदस्य वंदना गुलेरिया ,प्रधान सरस्वती देवी, पूर्व प्रधान पवन बनयाल, अधिशाषी अभियन्ता जलशकित एलआर शर्मा ,विषयवाद विशेषज्ञ बागबानी रामेश ठुकराल, प्रिन्सिपल आईटीआई पपलोग लता देवी , आईटीआई स्टाफ व छात्र, पार्टी पदाधिकारी एवं सदस्य,पंचायती राज संस्थान के पदाधिकारियों, विभिन्न विभागों के अधिकारियों सहित कई गण्यमान्य लोग मौजूद रहे।