बिलासपुर 26 जनवरी:- 73 वें गणतंत्र दिवस का जिला स्तरीय समारोह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक छात्र पाठशाला बिलासपुर के खेल मैदान में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर प्रदेश के जल शक्ति, राजस्व, बागवानी और सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने ध्वजारोहण कर भव्य मार्च पास्ट की सलामी ली।

उन्होंने चंगर स्थित शहीद स्मारक में वीर शहीदों को माल्यार्पण कर अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए।
उन्होंने जिला वासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मातृभूमि पर सर्वस्व न्यौछावर करने वाले अनेकों महान वीर सपूत हुए है, जिनकी वजह से आज हम यह राष्ट्रीय पर्व मना रहे है। उन्होंने कहा कि यह दिन उन वीर शहीदों को याद करने का है, जिन्होंने देश की आजादी और संप्रभुता के लिए अपने प्राणों की आहुतियां दी हैं। उन्होंने कहा कि आज देश हर क्षेत्र में तेजी से विकास कर रहा है जो कि आजादी के बिना संभव नहीं था। उन्होंने कहा कि विकास के हर क्षेत्र में भारत अपनी सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित कर रहा है जिससे आज भारत का गौरव विश्व में और भी ऊंचा हुआ है।
उन्होंने कहा कि जिला बिलासपुर से सम्बन्धित वीर सैनिकों में विक्टोरिया क्राॅस विजेता स्व0 कैप्टन वीर भण्डारी, कारगिल आॅप्रेशन के दौरान बहादुरी के लिए सैन्य सर्वोच्च सम्मान प्राप्त परमवीर चक्र नायब सुबेदार संजय कुमार तथा द्वितीय विश्व युद्व के दौरान ब्रिटिश सरकार का दूसरा सबसे बड़ा बहादुरी पुरस्कार जार्ज क्रास इसी जिले के शहीद नायक कृपा राम को मिला है। उन्होंने बिलासपुर के इन वीर सपूतों को शत-शत नमन किया।
उन्होंने कहा कि लोगों को सुचारू पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 15 अगस्त, 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जल जीवन मिशन शुरू किया गया था जिसका 25 दिसम्बर, 2019 को उद्घाटन किया गया। उन्होंने बताया कि इस महत्वकांक्षी जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रदेश सरकार ने अब तक लगभग 8 लाख 5 हजार कनेक्शन प्रदान किए गए है। इस योजना में नल कनेक्शन उपलब्ध करवाने में प्रदेश पूरे देश में प्रथम स्थान पर है।
उन्होंने कहा कि एशियन विकास बैंक द्वारा वित्त पोषित 1668 करोड़ रुपये की एचपी शिवा परियोजना प्रदेश सरकार ने हिमाचल प्रदेश के निचले क्षेत्रों में फल उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए आरम्भ की है। इस परियोजना से जहां युवाओं को घर-द्वार पर रोजगार मिलेगा वहीं हिमाचल प्रदेश फल राज्य के रूप में विकसित भी होगा। उन्होंने कहा कि जिला बिलासपुर में मझेर, तलवाडा, लंजता तथा धलेज में 4 क्लस्टर चयनित किए गए है जहां 55.78 हेक्टेयर भूमि पर 50500 फलदार पौधों का रोपण करवाया गया है जिससे 178 किसान परिवार लाभान्वित हुए। एचपी शिवा परियोजना के अंतर्गत वर्ष 2021-22 में चारों विधानसभा क्षेत्रों में 27 अग्रिम पंक्ति स्थल स्थापित किए गए है जिसके अंतर्गत मौसमी, अमरूद, लीची तथा अनार के 31880 पौधों का रोपण किया गया जिससे लगभग 218 किसान परिवार लाभान्वित हुए।
उन्होंने कहा कि जिला बिलासपुर में आयुष्मान भारत योजना के तहत 1 हजार 170 लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि हिमकेयर योजना के तहत 74 लाख 52 हजार 500 रुपये खर्च कर 3558 लाभार्थी लाभान्वित हो चुके है।
उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की उज्ज्वला योजना के सार्वभौमिकरण के लिए राज्य सरकार ने महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना को सफलतापूर्वक संचालित किया है। अब तक 3 लाख 23 हजार परिवारों को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्राप्त किए गए है। उन्होंने बताया कि यह बड़ी उपलब्धि है कि हिमाचल प्रदेश को वर्ष 2019 में देश का पहला चूल्हा धंुआमुक्त राज्य घोषित किया गया है।
उन्होंने कहा कि जिला बिलासपुर में जल, थल तथा वायु तीनों सेवाओं के 11063 पूर्व सैनिक तथा विरांगनाएं है। स्वतंत्रता प्राप्ति के उपरांत जिला में 64 वीरता पुरस्कार विजेता हैं जिसमें 01 परमवीर चक्र विजेता, 03 कीर्ति चक्र विजेता, 03 वीर चक्र, 05 शौर्य चक्र, 35 सेना मेडल विजेता तथा 17 अन्य विजेता शामिल है। उन्होंने कहा कि द्वितीय विश्व युद्व में भाग लेने वाले 60 वर्ष से अधिक आयु के सैनिकों को 10 हजार रुपये प्रतिमाह तथा विरागनाओं को 5 हजार रुपये प्रतिमाह की राशि प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व सैनिक तथा पूर्व सैनिकों की विधवाओं की दो बेटियों की शादी के लिए 50 हजार रुपये प्रति बेटी की दर से सहायता राशि प्रदान की जाती है।
उन्होंने कहा कि लोगों की समस्याओं के उनके घर-द्वार के समीप ही निवारण करने के उद्देश्य और उनसे सीधा संवाद स्थापित करने के लिए प्रदेश सरकार ने जनमंच की अनूठी पहल की है। अब तक प्रदेश में 232 जनमंच आयोजित किए गए है, जिनमें 53 हजार 665 शिकायतें व मांगे प्राप्त हुई है, इनमें से 93 प्रतिशत का समाधान किया जा चुका है।
उन्होंने कहा कि कोरोना रुपी इस महामारी ने हमारे विकास के पहियों को थोड़ा धीमा कर दिया है परंतु इस सब के बावजूद हमें निरंतर आगे बढ़ना होगा। मास्क पहन कर व सामाजिक दूरी बनाकर अन्य निर्धारित नियमों का पालन कर हमे स्वयं को भी बचाना है तथा अपने परिवार, समाज व देश को भी बचाना है। यह आपदा हमें कब तक प्रभावित करेगी इसका ठीक-ठीक अनुमान लगाना मुश्किल है क्योंकि अभी भी तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। अतः हमें सतर्क रहते हुए ही विकास के मार्ग पर आगे बढ़ना है।
इस मौके पर उन्होंने स्वतंत्रता सेनानी धर्मपत्नी एवं स्वतंत्रता सेनानी कल्याण परिषद की अध्यक्षा प्रेमी देवी को सम्मानित किया तथा एचपी शिवा परियोजना में कलस्टर के अंतर्गत निर्मित सोसाइटी के माध्यम से पौधारोपण के लिए बंसीराम वर्मा, कृष्ण मुहल, धनी राम, रणजीत सिंह, आर.के. शर्मा, ओंकार सिंह, करतार सिंह, संजय शर्मा, आयुष्मान भारत और प्रधानमंत्री भारत जन आरोग्य योजना के तहत उत्कृष्ट सेवाओं के लिए क्षेत्रीय अस्पताल और रेनबो अस्पताल को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले कलाकारों और मार्च पास्ट में भाग लेने वाली टुकड़ियों को भी पुरस्कृत किया गया।
इस मौके पर पूर्व मंत्री एवं विधायक राम लाल ठाकुर, विधायक सुभाष ठाकुर, जे.आर. कटवाल, राज्य आपदा प्रबंधन बोर्ड के अध्यक्ष रणधीर शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, पूर्व विधायक के.के कौशल और बाबू राम गौतम, जिला भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र संख्यान, जिला परिषद की अध्यक्षा मुस्कान, नगर परिषद के अध्यक्ष कमलेन्द्र कश्यप, उपाध्यक्ष कमल गौतम, पार्षदगण, उपायुक्त पंकज राय, पुलिस अधीक्षक एस.आर. राणा, अतिरिक्त उपायुक्त तोरूल रवीश, सहायक आयुक्त योगराज धीमान के अतिरिक्त अन्य पदाधिकारी, गणमान्य व्यक्ति तथा स्थानीय नागरिक उपस्थित रहे।