हमीरपुर 26 जनवरी। 73वां गणतंत्र दिवस समारोह बुधवार को हमीरपुर में भी हर्षोल्लास एवं कोरोना संबंधी सावधानियों के साथ मनाया गया। ब्वायज सीनियर सेकेंडरी स्कूल हमीरपुर के मैदान में आयोजित जिला स्तरीय समारोह में उद्योग, परिवहन, श्रम एवं रोजगार मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा भव्य परेड की सलामी ली। इस भव्य परेड में पुलिस, होमगार्ड, एनसीसी और कोरोना वारियर्स हेल्थ वर्कर्स की टुकडिय़ों ने शानदार मार्च पास्ट किया।
जिलावासियों को शुभकामनाएं देते हुए विक्रम सिंह ने कहा कि इस पावन अवसर पर उन सभी शहीद जवानों को श्रद्धासुमन अर्पित करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है, जिन्होंने देश की आजादी, इसकी रक्षा, एकता और अखण्डता को बनाए रखने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है।
उन्होंने कहा कि हमारा संविधान देशवासियों को बिना किसी भेदभाव के विकास एवं उत्थान के समान अवसर प्रदान करता है। हिमाचल प्रदेश की चर्चा करते हुए विक्रम सिंह ने कहा कि यह छोटा सा प्रदेश देवभूमि के साथ-साथ वीरभूमि भी है। प्रदेश के युवा सुरक्षा बलों व सैन्य बलों में सेवा करना अपनी शान समझते हैं। प्रदेश सरकार ने सैनिकों के परिवारों को अनेक सुविधाएं प्रदान की है। वीरता पुरस्कारों के विजेता सैनिकों की वार्षिक राशि में भारी वृद्धि की गई है। शहीद और सैन्य आपरेशनों में अपंग हुए सैनिकों को भी सहायता राशि प्रदान की जा रही है।
प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए उद्योग मंत्री ने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन का दायरा बढ़ाने से राज्य में लाखों वरिष्ठ नागरिक लाभान्वित हो रहे हैं। पारदर्शी एवं जवाबदेह प्रशासन सुनिश्चित करने तथा मुख्यमंत्री कार्यालय में ऑनलाइन निगरानी के लिए ‘हिम प्रगति’ पोर्टल आरंभ किया गया है। इससे विभिन्न योजनाओं की ऑनलाइन निगरानी की जा रही है। आम लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए अभी तक प्रदेश में आयोजित 232 जनमंच कार्यक्रमों में 53 हजार 665 जनशिकायतों की सुनवाई की गई है। इनमें से 93 प्रतिशत का समाधान किया जा चुका है। घर बैठे समस्याओं के शीघ्र समाधान के लिए मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100 भी शुरू की गई है। मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना से अब तक 3 लाख 23 हजार परिवारों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। मुख्यमंत्री हिमकेयर योजना के अंतर्गत 5 लाख 13 हजार परिवार पंजीकृत हैं और सरकार द्वारा 2 लाख 17 हजार लोगों को मुफ़्त इलाज की सुविधा प्रदान करने पर लगभग 200 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं। प्रदेश के सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में सभी मरीज़ों को निर्धारित 1374 प्रकार की दवाइयां मुफ़्त उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इंडिया टुडे समूह द्वारा हाल ही में जारी मोस्ट इम्प्रूवड स्टेट्स इन हैल्थ सर्वे में हिमाचल प्रदेश को पहले स्थान पर आंका गया है।
विक्रम सिंह ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में औद्योगिक निवेश आकर्षित करने के लिए सरकार ने विशेष प्रयास किए हैं, जिसके लिए निवेशकों को कई प्रकार की राहत और प्रोत्साहन दिए जा रहे हैं। वर्ष 2019 में ग्लोबल इन्वेस्टर्ज मीट का आयोजन इस दिशा में एक मील पत्थर साबित हुआ, जिसमें 96 हजार 721 करोड़ रुपये निवेश के 703 समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित हुए। इन परियोजनाओं से प्रदेश के लगभग 2 लाख लोगों को रोजग़ार मिलने की संभावना है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में जल जीवन मिशन के तहत अभी तक प्रदेश में 7 लाख 78 हजार नल कनेक्शन लगाए जा चुके हैं। इससे पहले पूरे प्रदेश में केवल 7 लाख 63 हजार कनेक्शन ही प्रदान किए गए थे।
विभिन्न आवास योजनाओं के तहत 14 हजार 366 पात्र लोगों को आवास बनाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की गई है। पिछले चार वर्षांे में 3108 किलोमीटर लंबी सडक़ों और 240 पुलों का निर्माण हुआ है तथा 321 गांवों को सडक़ों से जोड़ा गया। प्रदेश सरकार ने 412 नई ग्राम पंचायतों और तीन नगर निगमों का सृजन किया है। पिछले चार वर्षांे में विभिन्न विभागों में अलग-अलग श्रेणियों के हज़ारों पद भरे गए हैं। उद्योग मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, अधोसंरचना विकास, सतत् विकास लक्ष्यों की प्राप्ति तथा व्यापार में सुगमता में प्रदेश के प्रयासों को राष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली है। हिमाचल प्रदेश ने टीकाकरण के पहले और दूसरे चरण के देशव्यापी अभियान का शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर इतिहास रचा है।
इस अवसर पर उद्योग मंत्री ने कोरोनाकाल में सराहनीय कार्य करने वाले चिकित्सा संस्थानों डॉ. राधाकृष्णन राजकीय मेडिकल कालेज हमीरपुर और पार्वती अस्पताल दिम्मी-दसमल को सम्मानित किया। इसके अलावा सराहनीय सेवाओं के लिए पुलिस कर्मचारियों, होमगार्ड की दसवीं वाहिनी के अधिकारियों-कर्मचारियों और स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों को सम्मानित भी किया। उद्योग मंत्री जिला रैडक्रॉस सोसाइटी का रैफल ड्रा भी निकाला। समारोह के दौरान जिला के विभिन्न सांस्कृतिक दलों के लोक कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।
इस मौके पर विधायक एवं विधानसभा में उप मुख्य सचेतक कमलेश कुमारी, नरेंद्र ठाकुर, पूर्व विधायक बलदेव शर्मा, एचआरटीसी उपाध्यक्ष विजय अग्रिहोत्री, कामगार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. राकेश शर्मा बबली, कौशल विकास निगम के समन्वयक नवीन शर्मा, जिला परिषद अध्यक्ष बबली देवी, डीसी देबश्वेता बनिक, एसपी डॉ. आकृति शर्मा, अन्य अधिकारी तथा स्थानीय निकायों के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।
-0-