झज्जर , 21 जनवरी। साधारण जन की मदद में सहकारिता कार्यक्रम मुख्य भूमिका निभाने की क्षमता रखता है। हमारे युवाओं में प्रतिभा है, मिलकर आगे बढऩे का जज्बा है, जरूरत है, सही मार्गदर्शन की। केंद्रीय सहकारी बैंक के सभी चेयरमैन अपने अनुभव का नवाचार और उर्जा के साथ समन्वय करते हुए सहकारिता कार्यक्रम को नये स्तर पर लेकर जाएं। हरियाणा के सर्वाङ्क्षगंण विकास में सहकारिता कार्यक्रम का अहम स्थान है। केंद्र में भाजपा की सरकार ने सहकारिता कार्यक्रम को प्रोत्साहित करने के लिए अलग से मंत्रालय स्थापित कर इसकी शुरूआत कर दी है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष औम प्रकाश धनखड़ ने झज्जर में हरियाणा केंद्रीय सहकारी बैंकों के चैयरमैन और नवनिर्वाचित एशोसिएशन के पदाधिकारियों के अभिनंदन समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही। धनखड़ ने झज्जर केंद्रीय सहकारी बैंक लिमिटेड की चैयरपर्सन नीलम अहलावत को चेयरमैन एशोसिएशन का प्रधान चुनने पर शुभकामनाएं दी।

धनखड़ ने कहा कि देश के कई राज्यों में सहकारिता कार्यक्रम ने नये आयाम स्थापित किए हैं । गुजरात में सरदार पटेल द्वारा शुरू किए गए सहकारिता कार्यक्रम अमूल का नाम आज हर कोई जानता है। कई राज्यों में चीनी मिल, सहकारिता बैंक आदि अच्छा कार्य कर रहे हैं। हङ्क्षरयाणा में भी बड़े स्तर पर सहकारिता कार्यक्रम को आगे बढ़ाने की जरूरत है। कृषि, दूध, सब्जी, फल,पशुपालन आदि उत्पादन में हम आगे बढ़ सकते हैं। कृषि क्षेत्र में एफपीओ सामने आ रहे हैं। धनखड़ ने कहा कि सहकारिता कार्यक्रम हमारे लिए नया विषय नहीं है, यह हमारी सदियों पुरानी संस्कृति का हिस्सा रहा है। पहले भी हम मिलकर कार्य करते रहे हैं। आपसी विश्वास का नाम सहकारिता है। केंद्र सरकार ने सहकारिता को आगे बढ़ाने के लिए अलग मंत्रालय स्थापित किया है। देश के गृहमंत्री अमित शाह को इसका प्रभार दिया गया है।