सोलन दिनांक 26.10.2021
27 अक्तूबर की सांय 6.00 बजे समाप्त होगा प्रचार अभियान

भारत के निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 50-अर्की विधानसभा क्षेत्र में 30 अक्तूबर, 2021 को होने वाले उप निर्वाचन के दृष्टिगत प्रचार अभियान 27 अक्तूबर, 2021 की सांय 6.00 बजे समाप्त हो जाएगा। इस सम्बन्ध में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी ने भारत के निर्वाचन आयोग एवं हिमाचल प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप आदेश जारी किए हैं।
इन आदेशों के अनुसार 50-अर्की निर्वाचन क्षेत्र में 27 अक्तूबर, 2021 की सांय 6.00 बजे से 30 अक्तूबर, 2021 की सांय 6.00 बजे अथवा मतदान की समाप्ति तक उन राजनीतिक कार्यकर्ताओं, पार्टी कार्यकर्ताओं, चुनाव अभियान में संलग्न कार्यकर्ताओं की उपस्थिति प्रतिबन्धित रहेगी जिन्हें चुनाव प्रचार के लिए अर्की विधानसभा क्षेत्र के बाहर से लाया गया है एवं जो इस विधानसभा क्षेत्र के मतदाता नहीं हैं। ऐसे सभी व्यक्तियों को अर्की विधानसभा क्षेत्र से बाहर जाना होगा क्योंकि प्रचार अभियान समाप्त होने के उपरान्त क्षेत्र में उनकी उपस्थिति से स्वतन्त्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन प्रक्रिया पर असर पड़ सकता है।
आदेशों में स्पष्ट किया गया है कि मतदान केन्द्र की 100 मीटर की परिधि एवं मतदान केन्द्र के भीतर प्राधिकृत निर्वाचन एवं पुलिस कर्मियों के अतिरिक्त किसी भी व्यक्ति को मोबाइल फोन, कोर्डलेस फोन, वायरलेस फोन अथवा ऐसे किसी भी उपकरण को साथ रखने अथवा प्रयोग करने की अनुमति नहीं होगी जिससे कि ध्वनि का प्रसार किया जा सकता हो। मतदान केन्द्र की 200 मीटर की परिधि में किसी भी राजनीतिक दल का बूथ स्थापित नहीं किया जा सकेगा।
आदेशों के अनुसार मतदान की समाप्ति के लिए निर्धारित समय से 72 घण्टे पूर्व से निर्वाचन क्षेत्र में लाउडस्पीकर के प्रयोग की अनुमति नहीं होगी।

===================================================

सोलन - दिनांक 26.10.2021
50-अर्की निर्वाचन क्षेत्र में ‘ड्राई डे’ के सम्बन्ध में आदेश

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी ने भारत के निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देशों के अनुरूप 50-अर्की निर्वाचन क्षेत्र के उप निर्वाचन के दृष्टिगत ‘ड्राई डे’ के सम्बन्ध में आदेश जारी किए हैं। यह आदेश जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा-135-ग, हिमाचल प्रदेश आबाकारी अधिनियम 2011 तथा हिमाचल प्रदेश मदिरा लाइसेंस नियम-1986 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जारी किए गए हैं।
इन आदेशों के अनुसार 50-अर्की विधानसभा क्षेत्र में मतदान की समाप्ति के लिए निर्धारित समय से 48 घण्टे पूर्व से ‘ड्राई डे’ रहेगा। 28 अक्तूबर, 2021 की सांय 6.00 बजे से 30 अक्तूबर, 2021 की सांय 6.00 बजे अथवा मतदान की समाप्ति तक की अवधि को ‘ड्राई डे’ घोषित किया गया है।
आदेशों के अनुसार 02 नवम्बर, 2021 अर्थात मतगणना दिवस पर मतगणना प्रक्रिया पूर्ण होने तक भी ‘ड्राई डे’ रहेगा।
आदेशों के अनुसार इस अवधि में 50-अर्की विधानसभा क्षेत्र में किसी भी प्रकार की मदिरा एवं अन्य मादक द्रव्यों की न तो बिक्री होगी और न ही किसी होटल, रेस्तरां, दुकान, सार्वजनिक एवं निजी स्थल इत्यादि में इनकी बिक्री अथवा वितरण की अनुमति होगी।
इन आदेशों की अवहेलना पर दोषी को 06 माह तक का कारावास अथवा 2000 रुपए तक जुर्माना या दोनों सजाएं हो सकती हैं।

=========================================================

सोलन दिनांक 26.10.2021
उप निर्वाचन के सम्बन्ध में धारा-144 के तहत आवश्यक आदेश

जिला दण्डाधिकारी सोलन कृतिका कुलहरी ने 50-अर्की निर्वाचन क्षेत्र के उप निर्वाचन के दृष्टिगत आपराधिक दण्ड संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए आवश्यक आदेश जारी किए हैं।
इन आदेशों के अनुसार 50-अर्की निर्वाचन क्षेत्र में 27 अक्तूबर, 2021 की सांय 6.00 बजे से 30 अक्तूबर, 2021 की सांय 6.00 बजे अथवा मतदान प्रक्रिया समाप्त होने तक कुछ गतिविधियां प्रतिबन्धित की गई हैं।
आदेशों के अनुसार 50-अर्की विधानसभा क्षेत्र में मतदान केन्द्र भवनांे के 100 मीटर के दायरे में 05 अथवा इससे अधिक व्यक्ति एकत्र नहीं हो सकेंगे। यह आदेश मतदान केन्द्रों पर मतदान के लिए पंक्तिबद्ध मतदाताओं तथा इन परिसरों के आस-पास कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए नियुक्त कर्मियों पर लागू नहीं होंगे। मतदान केन्द्र की 100 मीटर की परिधि में आग्नेय अस्त्रों, घातक हथियारों, पताका, डंडों और अन्य ऐसी वस्तुओं को लेकर चलने पर पूर्ण पाबन्दी रहेगी। निर्वाचन कार्य के लिए नियुक्त सुरक्षा कर्मियों पर यह प्रतिबन्ध लागू नहीं होगा।
इस अवधि में किसी भी प्रकार के प्रचार अभियान, जनसभाओं के आयोजन एवं गैर-कानूनी सभा के आयोजन पर पाबंदी रहेगी। इस अवधि में उम्मीदवार अथवा उनके प्रतिनिधि सहित 05 व्यक्ति ही घर-घर जाकर प्रचार कर सकेंगे।
आदेशों के अनुसार इस अवधि में ऐसी सभी गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबन्ध रहेगा जो निर्वाचन प्रक्रिया में बाधा डाल सकती हों।
यह आदेश कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने, निर्वाचन प्रक्रिया में संलग्न नियुक्त सरकारी कर्मियों एवं एजेंसियों तथा आवश्यक सेवाएं बहाल रखने के लिए नियुक्त कर्मियों पर लागू नहीं होंगे।

.