सिरसा, 13 अक्तूबर: इनेलो के प्रधान महासचिव व ऐलनाबाद के पूर्व विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि ऐलनाबाद की जनता के साथ उनका व उनके परिवार का पिछले 30 सालों से भी ज्यादा समय से पारिवारिक रिश्ता है और उन्होंने इनेलो के पक्ष में मतदान करने का निर्णय पहले से ही ले रखा है, अब तो केवल कांग्रेस और भाजपा में यह होड़ लगी है कि जमानत कौन जब्त होने से बचाएगा?
वे बुधवार को ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के गांव माखोसरानी, शक्करमंदौरी, रूपाणा बिश्रोइयां, गंजा रूपाणा, चाहरवाला, जोगीवाला, रामपुरा बगडिय़ा, शाहपुरिया, तरकांवाली, नाथूसरी कलां और दड़बा आदि गांवों में अपने जनसंपर्क अभियान के तहत ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ऐलनाबाद में चुनाव के रूप में यह तीन काले कृषि कानूनों के लिए किसानों और पंूजीपतियों के बीच की लड़ाई है और अब ऐलनाबाद की जनता ही यह तय करे कि इसमें किसे विजयी बनाना है। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि उन्होंने ऐलनाबाद के विधायक पद से इस्तीफा ऐलनाबाद की जनता के कहने से दिया था और अब वे उपचुनाव भी उन्हीं के कहने के मुताबिक लड़ रहे हैं।
उन्होंने कांग्रेस पर वार करते हुए कहा कि वर्ष 2012-13 में कांग्रेसराज में ही तीनों कृषि कानूनों के ड्राफ्ट तैयार किए गए थे मगर संसद में बहुमत न होने के कारण ये पारित नहीं हो सके मगर भाजपा ने शासन में आते ही इसे लागू कर दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा किसानों का दर्द नहीं जानते और इसलिए इन कानूनों के माध्यम से किसानों को पूरी तरह से बर्बाद करना चाहते हैं। इनेलो नेता ने कहा कि इलाके की अधिकांश समस्याओं का निराकरण उन्होंने करवाया है और शेष रहती कुछ समस्याओं का हल भी वे उपचुनाव में विजयी होने के बाद करवाएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा-जजपा गठबंधन और कांग्रेस के पास अपने कोई उम्मीदवार नहीं हैं, इसलिए उधार के उम्मीदवारों को टिकट दिया गया, जिनका कोई वजूद नहीं है। उन्होंने कहा कि आज कुछ लोग इलाके में मंदिर और गौशालाओं के नाम पर राजनीति करते हुए लोगों का ईमान खरीदने की कोशिश कर रहे हैं मगर जनता उनके बहकावे में नहीं आएगी। इस जनसंपर्क अभियान में उनके साथ इनेलो नेता विनोद बेनीवाल, युवा इनेलो के जिलाध्यक्ष धर्मवीर नैन, जरनैल सिंह चंदी, जिला प्रेस प्रवक्ता महावीर शर्मा, कृष्ण झोरड़, दिनेश बेनीवाल सहित अनेक पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।