हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि कोरोना काल से उबरने के बाद नौनिहालों के सर्वागींण विकास के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों को और अधिक प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन किया जाए। श्री दत्तात्रेय ने यह बात चण्डीगढ़ के सैक्टर-16 स्थित हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद् मुख्यालय का औचक निरीक्षण करते हुए अधिकारियों से कही।

चण्डीगढ़ 22 सितम्बर - हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि कोरोना काल से उबरने के बाद नौनिहालों के सर्वागींण विकास के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों को और अधिक प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन किया जाए। श्री दत्तात्रेय ने यह बात चण्डीगढ़ के सैक्टर-16 स्थित हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद् मुख्यालय का औचक निरीक्षण करते हुए अधिकारियों से कही।

उन्होंने बिना किसी पूर्व सूचना के अचानक मुख्यालय पहुंच कर सभी प्रकार की गतिविधियों की जानकारी ली और बहुत ही बारीकी से कार्यालय के हर कमरे में जाकर कार्य प्रणाली का जायजा लिया। कार्यालय के हर छोटे कर्मचारी से लेकर बड़े अधिकारी तक सबसे मुखातिब हुए और बातचीत की। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव श्री अतुल द्विवेदी, परिषद् के महासचिव प्रवीन अत्री, परिषद् की उप प्रधान श्रीमती परिशा शर्मा व श्री ओ.पी. मेहरा उपस्थित रहे।

श्री दत्तात्रेय ने कहा कि पिछले लगभग दो वर्षों से कोरोना महामारी के चलते बच्चों को कईं प्रकार की समस्याओं को समाना करना पड़ा है। जिला बाल कल्याण कन्द्रों में चलाए जा रहे विभिन्न प्रकार की गतिविधियों से बच्चों को वंचित रहना पड़ा। अब परिषद् के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की जिम्मेवारी है कि वे और ज्यादा कर्मठता के साथ बच्चों के शारीरिक, मानसिक व शैक्षणिक विकास के लिए नए कार्यक्रम प्रभावी ढंग से लागू करें।
उन्होंने कहा कि राज्य में सभी बाल भवनों, मिनी बाल भवनों में लर्निंग फैसिलिटी के तहत बच्चों की रूचि अनुसार कौशलता व पूर्व प्रशिक्षण से सम्बन्धित गतिविधियों को बढ़ाकर उनकी मेधा को विकसित करें। इसके साथ-साथ पूनर्वास व काउसंलिग गतिविधियों को बढ़ाने की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि बाल भवनों में बच्चों की लाईब्ररी, क्राफ्ट सैन्टर, सन्डे कोचिंग क्लासिस व रैगुलर क्लासिस नियमित रूप से चला कर बच्चों की प्रतिभा को और विकसित किया जा सकता है। इससे कोरोना काम में हुए गैप को पाटा जा सकता है। हम देश के भविष्य की इस कर्णधार पीढ़ी का पूरी तरह से विकास कर पाए तो निश्चित रूप से देश मजबूत और विकसित होगा। उन्होंने अपने इस औचक निरीक्षक दौरे में भवन की साफ-सफाई, फाइलिंग, रिकॉर्ड अपडेट रखने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि बच्चों के विकास के मामले में परिषद् के सामने धन की कमी नहीं आने दी जाएगी। प्रदेश सरकार के सहयोग से बच्चों का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित किया जाएगा।

=================================

आजादी के अमृत महोत्सव की श्रंखला में बुधवार को भारतीय वायु सेना द्वारा भारत-पाक युद्ध 1971 के 50 वर्ष पूरे होने पर चण्डीगढ़ की सुखना लेक के आसमान में एयर शो का आयोजन किया गया।

चण्डीगढ़ 22 सितम्बर - आजादी के अमृत महोत्सव की श्रंखला में बुधवार को भारतीय वायु सेना द्वारा भारत-पाक युद्ध 1971 के 50 वर्ष पूरे होने पर चण्डीगढ़ की सुखना लेक के आसमान में एयर शो का आयोजन किया गया। इस युद्ध में भारत विजयी तो हुआ ही साथ ही भारतीय सेनाओं ने बंग्लादेश को भी आजाद करवाया। इस एयर शो में हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय, पंजाब के राज्यपाल श्री बनवारी लाल पुरोहित तथा हिमाचल के राज्यपाल श्री राजेन्द्र विश्वनाथ अर्लेकर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। इस अवसर पर लेडी गवर्नर श्रीमती वसंता भी उपस्थित रही। इनके अलावा भारतीय वायु सेना के अधिकारी व चण्डीगढ़ यू.टी प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।
राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने देशवासियों को आजादी के अमृत महोत्सव और भारत की पाक पर विजय के 50 वर्ष पूरे होने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि भारत के वीर जवानों के शौर्य की बदौलत आज से 75 वर्ष पूर्व देश को स्वतंत्रता प्राप्त हुई। भारत के वीर जवानों के शौर्य के कारण ही 1971 में बांग्लादेश आजाद हुआ। इसी उपलक्ष में भारत की वायु सेना द्वारा अपने शौर्य प्रदर्शन के लिए एयर शो का आयोजन किया गया है। मैं इस अवसर पर भारतीय वायु सेना के साथ-साथ सूर्य किरण एयर शो की पूरी टीम को हार्दिक बधाई देता हूं।
श्री दत्तात्रेय ने कहा कि भारतीय सेना द्वारा समय-समय पर इस प्रकार के आयोजन किए जाते हैं। इन आयोजनों से सेना का मनोबल तो बढ़ता ही है साथ ही देशवासियों व आम नागरिकों का सेना व सामरिक प्रणाली के प्रति विश्वास मजबूत होता है। सभी नागरिकों में राष्ट्र प्रेम की भावना और प्रबल होती है तथा देशवासियों को देश की सामरिक प्रणाली को देखने का मौका भी मिलता है।
उन्होंने कहा कि आज देश की तीनों सेनाएं थल, वायु व नौसेना नए उपकरणों, हथियारों, नई टेक्नोलॉजी तथा नई वार तकनीक से सुसज्जित है। भारत हर तरह से सुरक्षा के मामले में पूरी सामर्थ्य रखता है। भारत अब 1962 वाला भारत नहीं है। हमारे सैनिक हर परिस्थिति से निपटने में सक्षम हैं। उन्होंने कहा कि आज के इस एयर शो से भारतीय नागरिकों का रक्षा प्रणाली पर और ज्यादा विश्वास बढ़ा है। इस एयर शो में राफेल फाईटर जेट व चिनूक हेलीकाॅप्टर के हैरत अंगेज करतब देखने को मिले हैं। इसके साथ गरूड़ कमाण्डोज ने भी अपनी कार्यशैली का प्रदर्शन किया। जनता को विश्वास हुआ है कि आज भारत का जल, थल, व नभ पूरी तरह सुरक्षित है।
श्री दत्तात्रेय ने सभी सरकारी, गैर सरकारी, सामाजिक व धार्मिक संगठन व आम नागरिकों से अपील की है कि वे आजादी के अमृत महोत्सव के कार्यक्रमों को आयोजन करें और ज्यादा से ज्यादा इन कार्यक्रमों में भाग लें। इन कार्यक्रमों में भाग लेने से देश की आजादी में योगदान देने वाले वीर शहीदों की जानकारी मिलेगी और हम स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी घटनाओं से रू-ब-रू हो पाएंगे।