20 से 25 सितम्बर तक आयोजित किया जायेगा क्रीमीमुक्त सप्ताह

मंडी, 14 सितम्बर । जिला में 20 से 25 सितम्बर तक आयोजित किए जाने वाले क्रीमीमुक्त सप्ताह तथा कोविड-19 टीकाकरण की दूसरी डोज की समीक्षा के लिए गठित जिला कार्यबल की बैठक आज उपायुक्त अरिदंम चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित की गयी ।

बैठक में उपायुक्त ने बताया कि जिला में 01-19 वर्ष के 2,72,159 बच्चों को घर-घर जाकर कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आशा वर्कर व आंगनवाड़ी कार्यकर्ता क्रीमीनाशक दवा एलवैंडाजोल की दवाई देगी, इनमें से 0-5 वर्ष के 62,712 बच्चों को विटामिन-ए की खुराक भी दी जायेगी । इस दौरान यदि स्कूल खुल जाते हैं तो 10वी से 12वीं कक्षा तक के बच्चों को क्रीमीनाशक दवा स्कूलों में दी जायेगी ।
जिला में 10 लाख 50 हजार 397 लोगों का हुआ कोविड टीकाकरण
कोविड टीकाकरण की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने बताया कि जिला में अब तक 10 लाख 50 हजार 397 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है, जिनमें से 7 लाख 63 हजार 333 को पहली डोज तथा 2 लाख 87 हजार 064 को दूसरी डोज दी जा चुकी है । उन्होंने लोगों का आहवान किया कि जिनको पहली डोज लगाए हुए 84 दिन हो चुके हैं वह दूसरी डोज समय पर अपने समीप के स्वास्थ्य केंद्र में जाकर लगा लें । उन्होंने बताया कि हमें प्रदेश में कोविड टीकाकरण के लिए दोनों डोज लगाने के लिए प्रथम स्थान पर लाना है, जिसके लिए सभी के सहयोग की आवश्यकता है । उन्होंने बताया कि 17 से 24 सितम्बर तक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा प्रदेश में आयोजित किए जा रहे सेवा सप्ताह के दौरान 60 साल से अधिक के सभी वरिष्ठ नागरिकों का दूसरा कोविड का टीका लगाना सुनिश्चित किया जायेगा ।

सहारा योजना के तहत हो अधिक से अधिक पंजीकरण
सहारा योजना में जिला के सभी पात्र व्यक्तियों का पंजीकरण किया जायेगा ताकि उन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके, जिसके लिए पंचायत स्तर पर विभाग द्वारा लोगों को जागरूक करने के लिए सहारा योजना की पात्रता से संबंधित बैनर व पंपलेट इत्यादि बांटे जायेंगे।
आयुश्मान भारत योजना के तहत छुटे हुए लोगों के भी बनाए जायेंगे स्वास्थ्य कार्ड
उन्होंने बताया कि आयुश्मान भारत योजना के तहत छुटे हुए पात्र लोगों के स्वास्थ्य कार्ड बनाए जायेंगे ताकि उन्हें भी स्वास्थ्य बीमा की सुविधा उपलब्ध हो सके ।
बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. देवेन्द्र षर्मा ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया तथा विभाग द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की जानकारी दी । जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनुराधा ठाकुर ने जिला में चलाए जाने वाले क्रीमीमुक्त सप्ताह तथा अब तक हुए कोविड टीकाकरण की विस्तृत जानकारी दी । जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेष ठाकुर ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया ।
इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आषीश षर्मा, चिकित्सा अधीक्षक धर्म सिंह ठाकुर, जिला पंचायत अधिकारी हरी सिंह ठाकुर, समस्त खंड चिकित्सा अधिकारी व जिला कार्यबल के सभी सदस्य उपस्थित थे ।

================================

सेवा सप्ताह आयोजन बारे बैठक का आयोजन
मंडी, 14 सितम्बर । अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल की अध्यक्षता में आज जिला में सेवा सप्ताह के आयोजन बारे बैठक का आयोजन किया गया । उन्होंने बताया कि यह सप्ताह 17 सितम्बर से मनाया जायेगा ।
उन्होंने बताया कि इस दौरान प्रतिदिन वरिश्ठ नागरिकों के सम्मान, स्वास्थ्य के संदर्भ में अनेक गतिविधियां तहसील तथा पंचायत स्तर पर आयोजित की जायेंगी । उन्होंने बताया कि कार्यक्रमों में स्वास्थ्य, कल्याण, पंचायती राज, षिक्षा, महिला एवं बाल विकास, सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जायेगी ।
उन्होंने बताया कि 17 सितम्बर स्वास्थ्य जागरूकता दिवस के रूप में मनाया जायेगा, जिसमें वरिश्ठ नागरिकों की स्वास्थ्य जांच तथा स्वस्थ रहने के टिप्स स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा दिए जायेंगे । 18 सितम्बर को बढ़ती उम्र का उल्लास विशय पर वरिश्ठ नागरिकों की प्रतिभाओं के तहत कार्यक्रमों का आयेाजन किया जायेगा, जिसमें गायन, नृत्य, कवि सम्मेलन इत्यादि का आयोजन किया जायेगा । 19 सितम्बर सेवा संकल्प दिवस के रूप में मनाया जायेगा, जिसमें जिला के प्रषासनिक अधिकारी जिला में वृद्व आश्रमों, डे केयर सेंटरों का दौरा कर वहां पर रह रहे वृद्वजनों को प्रदान की जा रही सुविधाओं का जायजा लेंगे। 20 सितम्बर को आर्षीवाद दिवस के अवसर पर बच्चों द्वारा अपने बुजुर्गो का आर्षीवाद लेंगे जबकि 21 सितम्बर वरिश्ठ नागरिक सम्मान दिवस के उपलक्ष्य पर 90 वर्श की आयु से उपर के वरिश्ठ नागरिकों को सम्मानित कर उनके कर कमलों से वृक्षारोपण किया जायेगा । 22 सितम्बर संवाद दिवस के रूप में मनाया जायेगा, इसमें जिला के वरिश्ठ नागरिकों से संवाद स्थापित किया जायेगा । 23 सितम्बर को प्रज्ञयता दिवस के अवसर पर वरिश्ठ नागरिकों के अनुभवों पर आधारित सफलता की कहानियां को युवा पीढ़ी तक पहुंचाया जायेगा ताकि वे इससे प्रेरित हो सके ।
अतिरिक्त उपायुक्त ने जिला के सभी वरिश्ठ नागरिकों तथा संगठनों से आग्रह किया कि वह सेवा सप्ताह के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में बढ़चढ़ कर भाग लें तथा इसमें प्रदान की जाने वाली सुविधाओं का लाभ उठाएं ।
इस अवसर पर जिला कल्याण अधिकारी आर.सी. बंसल जबकि उप निदेषक, प्रारम्भिक षिक्षा, जिला के समस्त तहसील कल्याण अधिकारी एवं जिला के अन्य अधिकारियों के अलावा वरिश्ठ नागरिक संगठनों के पदाधिकारियों ने वर्चुअल माध्यम से भाग लिया ।

=================================

मंडी शहर में पेयजल आपूर्ति आंशिक रूप से बाधित रहेगी

मंडी, 14 सितम्बर । सहायक अभियंता, जल शक्ति उपमंडल-एक, मंडी ने सूचित किया है कि भारी वर्षा के कारण उहल नदी का जल स्तर बढ़ने से पानी में गाद की मात्रा मानकों से अधिक है, जिसके कारण उहल नदी पर जल पकड़ने के लिए बनी ट्रैंच वेयर से गाद को हटाना जरूरी है तथा गाद को हटाकर सफाई का कार्य युद्व स्तर पर किया जा रहा है । उन्होंने बताया कि मंडी शहर में योजना के सुचारू रूप से चलने तक पेयजल आपूर्ति आंशिक रूप से बाधित रहेगी ।
उन्होंने पेयजल उपभोक्ताओं से अनुरोध किया है कि वे पानी का उपयोग अति आवश्यक कार्यो के लिए ही करके विभाग का सहयोग करें । उन्होंने बताया कि शीघ्र ही जल आपूर्ति को पूरी तरह से बहाल कर दिया जायेगा ।

===============================

14 सितम्बर के बाद निर्धारित ड्राईविंग टैस्ट व वाहन पासिंग रद्द

मंडी 14 सितम्बर । वाहन पंजीयन एवं अनुज्ञापन अधिकारी एवं एसडीएम मंडी सदर रीतिका ने सूचित किया मोहन वाहन निरीक्षक के स्थानांतरण के कारण 14 सितम्बर के बाद निर्धारित ड्राईविंग टैस्ट व वाहन पासिंग को रद्द किया गया है । उन्होंने बताया कि नए मोटर वाहन निरीक्षक द्वारा क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में उपस्थिति दर्ज करवाने के बाद ही नई तिथि बारे सूचित किया जायेगा ।

=================================

15 सितम्बर को मेगा मॉक अभ्यास
मंडी, 14 सितम्बर । आपदा प्रबंधन को लेकर 15 सितम्बर को सुबह 11 बजे वल्लभ महाविद्यालय, मंडी में सायरन बजने शुरू हों तो घबराएं नहीं । ध्यान रहे, यह सचमुच की आपदा नहीं एक मॉक अभ्यास है। मेगा मॉक अभ्यास के जरिये जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण तथा एनडीआरएफ की टीमें लोगों को तो शिक्षित करेगा ही कोई भी आपदा आने की स्थिति में आपदा प्रबंधन की अपनी तैयारियों की समीक्षा और कमियों का विश्लेषण भी करेगा।
अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी राजीव कुमार ने मंगलवार को अधिकारियों के साथ बैठक कर मेगा मॉक अभ्यास के विभिन्न पक्षों की समीक्षा की । इस दौरान उन्होंने जिला आपदा प्रबंधन योजना के सभी पहलुओं पर भी विस्तार से चर्चा की।
उन्होंने कहा यह मॉक अभ्यास वास्तविक आपात स्थिति की तरह ही किया जाएगा। इससे जिला आपदा प्रबंधन योजना के अलावा विभागों की अपनी आपदा प्रबंधन योजना की भी समीक्षा होगी। हमें अपनी कमियों का अंदाजा होगा, साथ ही तैयारियों में अंतर का भी पता चलेगा। यह भी साफ होगा कि आपदा की स्थिति में वल्लभ महाविद्यालय में निर्धारित स्टेजिंग एरिया में पहुंचने में अधिकारियों-कर्मचारियों को कितना समय लगता है और कितनी जल्दी राहत-बचाव कार्य शुरू हो पाते हैं। संसाधनों के उपयोग और संचार आदि की कमियों तथा तैयारियों का भी पता चलेगा। इससे सीख लेकर जिला आपदा प्रबंधन योजना को और पुख्ता बनाने में मदद मिलेगी।
अधिकारियों-कर्मचारियों को पता हों अपने दायित्व
सभी उत्तरदायी अधिकारियों और उनके स्टाफ को आपदा प्रबंधन को लेकर अपने दायित्व पता होने चाहिए। कार्यालय प्रमुख यह सुनिश्चित करें कि आपदा प्रबंधन में उनके विभाग का क्या काम है, उत्तरदायी अधिकारी की गैर मौजूदगी में अधीनस्थ अधिकारी-कर्मचारी को क्या करना है, सभी को इसकी जानकारी हो।
अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी ने कहा कि मॉक अभ्यास के दौरान सभी विभागों और अधिकारियों-कर्मचारियों के आपसी समन्वय का भी सही पता चलेगा। इस तरह की आपात परिस्थिति में संबंधित विभागों की दक्षता और आपसी समन्वय का विश्लेषण किया जाएगा।
उन्होंने कहा मॉक अभ्यास के माध्यम से जिला में आपदा प्रबंधन की तैयारियों व क्षमताओं का गहन आकलन एवं विश्लेषण किया जाएगा। इस दिन जिला मुख्यालय सहित समस्त उपमंडलों में विभिन्न प्रकार की आपदाओं से प्रतीकात्मक नुकसान मानकर मॉक अभ्यास किया जाएगा, जिसमें राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल जैसी केन्द्रीय एजेंसियों के अलावा जिला के आपदा प्रबंधन से जुड़े सभी विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी हिस्सा लेंगे।
उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा देश के सभी राज्यों में जिला स्तर पर आपदा प्रबंधन की तैयारियों की समीक्षा के लिए मॉक ड्रिल का आयेाजन किया जा रहा है, इसी कड़ी में 15 सितम्बर 2021 को जिला मंडी में भी यह कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा ।
बैठक में एसडीएम सदर रितिका जिंदल, डीएसपी, हैडक्वारटर राजेश कुमार, जिला राजस्व अधिकारी राजीव सांख्यान, रैडक्रास सोसायटी के सचिव ओ.पी. भाटिया, एनडीआरएफ, बीबीएमबी पंडोह के अधिकारी सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

=============================

14 सितम्बर के बाद निर्धारित ड्राईविंग टैस्ट व वाहन पासिंग रद्द

मंडी 14 सितम्बर । वाहन पंजीयन एवं अनुज्ञापन अधिकारी एवं एसडीएम मंडी सदर रीतिका ने सूचित किया मोहन वाहन निरीक्षक के स्थानांतरण के कारण 14 सितम्बर के बाद निर्धारित ड्राईविंग टैस्ट व वाहन पासिंग को रद्द किया गया है । उन्होंने बताया कि नए मोटर वाहन निरीक्षक द्वारा क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में उपस्थिति दर्ज करवाने के बाद ही नई तिथि बारे सूचित किया जायेगा ।