चण्डीगढ़, 26 फरवरी- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने शुक्रवार को युवा विकास केन्द्र, नैशनल इंटीगे्रेटिड फोर्म ऑफ आर्टिस्ट एण्ड एक्टीविस्ट (निफा) त्रिपुरा की ‘‘सद्भावना यात्रा-2021‘‘ के कार्यक्रम में राजभवन प्रांगण में ‘‘कपूर’’ के पौधे का रोपण किया। पौधारोपण में माता त्रिपुरा श्री मंदिर की मिट्टी का प्रयोग किया गया और मंदिर से लाये हुए जल से ही पौधे को सींचा गया। उन्होंने सदभावना यात्रा-2021 टीम को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी।
श्री आर्य ने कहा कि त्रिपुरा राज्य का स्वर्ण जयंती राज्य उत्सव आगामी वर्ष 2022 में मनाया जा रहा है। उन्होंने हरियाणा प्रदेशवासियों की ओर से त्रिपुरावासियों को शुभकामनाएं दी। इस अवसर ‘‘सद्भावना यात्रा-2021‘‘ व निफा की टीम के सभी 11 सदस्य मौजुद रहे। इनमें श्री देवाशीष मजुमदार, श्री पिंकू दास, के, यादवाराजू, निफा के तरूणपाल सिंह, शोकान्ता सरकार, समीर भट्टाचार्य , राजेश दास, इंद्रजीत सरकार, स्वपन्न दास, विजय राम तथा शुभंकर साहा उपस्थित थे।
‘‘सद्भावना यात्रा-2021‘‘ टीम के प्रभारी श्री देवाशीष मजुमदार ने बताया कि आगामी 21 जनवरी 2022 को त्रिपुरा राज्य अपने पूर्ण राज्य गठन के 50 वर्ष पूरे कर रहा है। इसी उपलक्ष में त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में जनवरी 2022 में सात दिवसीय पूर्ण राज्य दिवस समारोह का आयोजन किया जाएगा। इस समारोह में देश भर के कलाकारों व सामाजिक कार्यकर्ताओं को आमंत्रित करने के लिए ‘‘सद्भावना यात्रा-2021‘‘ शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि अब तक टीम देश के 22 राज्यों का दौरा कर चुकी है।
इस यात्रा के दौरान युवा विकास केन्द्र के साथ-साथ नैशनल इंटीगे्रेटिड फोर्म ऑफ आर्टिस्ट एण्ड एक्टीविस्ट (निफा) त्रिपुरा पर्यटन विभाग तथा त्रिपुरा सरकार के सूचना एवं संस्कृति विभाग के प्रतिनिधियों द्वारा देश की संस्कृति, राष्ट्र एकता, महिला सशक्तिकरण, बाल शिक्षा व पौधरोपण कार्यों के लिए भी जागरूक किया जा रहा है।
देवाशीष ने आगे बताया कि पूर्ण राज्य दिवस समारोह में देश के सभी राज्यों के कलाकार अपनी-अपनी संस्कृति व कला को आगे बढ़ाने के लिए कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। सामाजिक कार्यकर्ता भी अपने-अपने राज्यों में चलाए जा रहे समाज कल्याण के कार्यक्रमों के बारे में प्रस्तुति देंगे। ‘‘सद्भावना यात्रा-2021‘‘ टीम ने राज्यपाल श्री आर्य को स्मृति चिन्ह भी भेंट किया।