बिलासपुर 26 जनवरी:- बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत बालिका सप्ताह के उपलक्ष्य में बाल विकास परियोजना झंडूता की ग्राम पंचायत करलोटी के आंगनवाड़ी केंद्र खदरी में एक दिवसीय जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता बाल विकास परियोजना अधिकारी नरेंद्र कुमार ने की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बेटियों में दृढ़ इच्छा शक्ति होती है, जरूरत है केवल उनको अवसर प्रदान करने की। बेटियों के उत्थान के लिए सरकारी स्तर पर भी कई प्रकार की योजनाएं शुरू की गई हैं, समाज व परिवार को भी इन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए ताकि वे अपने मुकाम को हासिल करने में सफल हो सके। उन्होंने कहा कि बालिकाओं के उत्थान के लिए सभी को अहम भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि बाल विवाह व दहेज प्रथा जैसे सामाजिक बुराई को दूर करने के लिए भी प्रत्येक व्यक्ति को आगे आना होगा तभी इस कुरिति को जड़ से मिटाया जा सकता है।

इस अवसर पर उषा शर्मा नव निर्वाचित ग्राम पंचायत प्रधान ने कहा कि जहां भी अवसर मिला है बेटियों ने अपनी काबिलियत साबित की है। शिक्षा, खेल, सुरक्षा व राजनीति में भी बेटियां अपनी प्रतिभा का बेहतरीन प्रदर्शन कर रही हैं।

ग्राम पंचायत के उप प्रधान सुरेश पटियाल ने कहा कि बेटियां जिस भी क्षेत्र में मौका दिया जाता है वे अपनी कामयाबी का परचम लहराती हैं। वृत पर्यवेक्षिका यशोधा देवी ने विभागिय योजनाओं की जानकारी दी।

इस अवसर पर बेटियों द्वारा पेंटिंग प्रतियोगिता भी की गई तथा विजेता बालिकाओं को इनाम दिए गए। बेटी के नाम पौधा लगाया गया। इस कार्यक्रम में पंचायत सदस्य, महिला मंडल प्रधान, आंगनवाड़ी कार्यकर्त्री सोमा देवी, नीलम, रीतू रानी, उर्मिला देवी व वृत पपलाह की आंगनवाडी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।
.0.