धर्मशाला, 22 जनवरी - प्रधानाचार्य, हि.प्र.पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय, डरोह, डॉ. अतुल फुलझेले (भा.पु.से.) ने जानकारी देते हुए बताया कि हिमाचल प्रदेश पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय, डरोह को प्रशिक्षण के क्षेत्र में देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त करके हिमाचल प्रदेश को गौरवान्वित किया है।
उन्होंने बताया कि गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा देशभर के प्रशिक्षण संस्थानों के प्रशिक्षण स्तर का मूल्यांकन परिणाम घोषित किया गया जिसमें इस विद्यालय को वर्ष 2018-19 के लिए आरक्षी मूलभूत प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए देशभर में प्रथम घोषित किया गया है जबकि वर्ष 2017-18 के लिए अराजपत्रित अधिकारी ग्रेड-1 को प्रशिक्षण देने के लिए उत्तरी क्षेत्र में प्रथम घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि ज्ञात रहे कि इससे पूर्व भी वर्ष 2015-16 में भी इस संस्थान को आरक्षी मूलभूत प्रशिक्षण के लिए देशभर में अव्वल घोषित किया गया था।
डॉ. फुलझेले ने इस कामयाबी पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि सफलता का श्रेय प्रदेश पुलिस महानिदेशक तथा प्रशिक्षण केंद्र में कार्यरत सभी अधिकारियों, प्रशिक्षकों और सहायक प्रशिक्षकों को जाता है जिन्होंने अपनी रूचि, समर्पण व कठिन परिश्रम से इस प्रशिक्षण संस्थान को राष्ट्रीय स्तर पर नई पहचान स्थापित करने में अहम् भूमिका निभाई है। उन्होंने बताया कि सूचना मिलने के उपरांत पूरे हिमाचल प्रदेश पुलिस परिवार में खुशी का माहौल है।
उन्होंने बताया कि यह संस्थान वर्ष 25 जुलाई, 1995 को स्थापित हुआ था और इस वर्ष रजत जयंती मना रहा है तथा आने वाले समय में भी नए-नए आयाम स्थापित करके राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने में कामयाब रहेगा।
डॉ. फुलझेले ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और प्रदेश पुलिस महानिदेशक संजय कंुडु का धन्यवाद करते हुए बताया कि उनके निरन्तर सहयोग व मूलभूत ढांचे को और ज्यादा सुदृढ़ करने के लिए धन का प्रावधान इस आयाम को छूने में सार्थक सिद्ध हुआ है।
उन्होंने बताया कि इस सफलता को हासिल करने के लिए इस संस्थान को गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा इनाम के रूप में ट्रॉफी और 22 लाख रुपए की राशि प्रदान की जाएगी।