मंडी, 21 नवम्बर: जिला में 25 नवम्बर से 27 दिसम्बर, 2020 तक हिम सुरक्षा अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान को कार्यन्वित करने के लिए जिला स्तरीय समन्वय समिति की पहली बैठक का आयोजन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा आज उपायुक्त कार्यालय के सभा कक्ष में किया गया।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि अभियान के दौरान जिला मंडी में 1300 व्यक्तियों की टीम गठित की जाएगी, जिसमें प्रति टीम में दो व्यक्ति शामिल होंगे। अभियान के दौरान आशा वर्कर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा घर-घर जाकर क्षय रोग, कुष्ठ रोग, गैर-संचारित रोग तथा करोना से संक्रमित रोगियों की पहचान की जाएगी।
उपायुक्त ने बताया कि रोगियों की पहचान के उपरान्त उनके इलाज की व्यवस्था भी निःशुल्क की जाएगी। घरद्वार पर ही रोगों की टैस्टिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी। कोरोना से पीड़ित रोगियों के टैस्ट 30 चयनित स्थलों पर लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि अभियान का मुख्य लक्ष्य रोगियों की पहचान कर उनका उपचार व लोगों को स्वास्थ्य सम्बन्धी घरद्वार पर जागरूक भी किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि अभियान की सफलता के लिए विभिन्न विभागों के साथ-साथ समाज सेवी व स्वास्थय सुविधाओं से जुड़ी संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाएगा। उन्होंने जिला वासियों से अपील की कि घरद्वार पर आने वाले स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं व आश वर्कर से अपने स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई भी जानकारी न छिपाएं। उन्हें सही जानकारी दें ताकि यदि किसी को आवश्यकता हो तो उसे स्वास्थ्य लाभ दिया जा सके।

बैठक के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. देवेन्द्र शर्मा ने कोरोना अपडेट देते हुए बताया कि जिला में 5240 मामले सामने आए जिनमें 4041 रिक्वर हुए, 1136 एक्टिव मामले हैं जबकि 63 की मृत्यु हुई है।

इस मौके पर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश ठाकुर, जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. गोविन्द राम, कार्यक्रम प्रभारी डॉ. अरिन्दम राय, डॉ. अनुराधा, आईएमए सचिव डॉ. मंजुल, कैम्सिट ऐसोसिएशन अध्यक्ष योगेश शर्मा, जिला कार्यक्रम अधिकारी अंजु बाला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे