‘समर्थन’ से साकार होगा डीसी-एसपी बनने का सपना
मंडी, 22 अक्तूबर: आप यदि डीसी-एसपी बनने का सपना देखते हैं और इसके लिए जी-तोड़ मेहनत करने को तत्पर हैं, तो आपके लिए एक खुशखबरी है। मंडी जिला प्रशासन ने युवाओं-विद्यार्थियों को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा को लेकर मार्गदर्शन और काउंसलिंग के लिए ‘समर्थन’ कार्यक्रम आरंभ किया है। यह यूपीएससी आकांक्षियों के लिए एक निशुल्क कार्यक्रम होगा।
शिक्षा उत्थान समिति मंडी के सहयोग से की गई इस अभिनव पहल के तहत वल्लभ राजकीय महाविद्यालय मंडी में विद्यार्थियों के लिए पहला मार्गदर्शन और काउंसलिंग सत्र आयोजित किया गया।
आईएएस-आईपीएस अधिकारी देंगे टिप्स
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने कहा ‘समर्थन’ कार्यक्रम के तहत युवाओं-विद्यार्थियों को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के हर पहलू से अवगत करवाया जाएगा। जिला में काम कर रहे आईएएस, आईपीएस और अन्य अधिकारी परीक्षा को लेकर युवाओं-विद्यार्थियों का मार्गदर्शन और काउंसलिंग करेंगे। वे उनके साथ विषय चयन, सिलेबस, तैयारी की रणनीति पर बात करने और जरूरी टिप्स देने के अलावा अपने अनुभव सांझा करते हुए उनका मनोबल बढ़ाएंगे।
हर महीने के तीसरे बुधवार को होगा दो घंटे का काउंसलिंग सत्र
उन्होंने बताया कि अभी कार्यकम्र में 200 छात्रों-युवाओं की रजिस्ट्रेशन हुई है। उपायुक्त ने कहा कि हर महीने के तीसरे बुधवार को सायं 3 से 5 तक वल्लभ कॉलेज के सभागर में युवाओं-छात्रों के साथ संवाद किया जाएगा। इसमें जिला में जितने भी आईएएस और आईपीए अधिकारी हैं वे सभी समय समय पर इसमें शामिल होंगे तथा अपने अनुभव शेयर करते हुए युवाओं को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते रहेंगे।
कड़ी मेहनत के साथ धैर्य और संयम की जरूरत
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि यूपीएससी परीक्षा के लिए अपने आप को तैयार करने के लिए कड़ी मेहनत के साथ धैर्य और संयम की जरूरत होती है । क्योंकि इसके लिए आपको चार पांच साल तक तैयारी करनी होती है। अतः इसके लिए पूरे समर्पण के साथ लंबे समय तक प्रतिदिन 8 से 10 घंटे तक अविराम पढ़ाई की जरूरत होती है।
असफलता से घबराए नहीं, जारी रखें प्रयास
उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे अपना लक्ष्य निर्धारित करें और उसे हासिल करने के लिए जुनून की हद तक जुट जाएं । परीक्षा पास करने के लिए उचित मार्गदर्शन और तैयारी की उचित दिशा की जरूरत रहती है। प्रतिदिन नेशनल पेपर पढ़ना अपनी आदत में शामिल करें। जो आपका रुचिकर विषय हो उसे ही चुनें और अध्ययन में रोचकता बनाए रखें। असफलता से घबराए नहीं बल्कि प्रयास जारी रखें । तैयारी के इस पूरे उपक्रम में परिवारजनों को भी धीरज बनाए रखने की आवश्यकता रहती है ।
परीक्षा की तैयारी के हर पहलू से करवाएंगे अवगत
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल ने कहा कि कई बार युवाओं को यूपीएससी परीक्षा को लेकर कई चीजों की जानकारी ही नहीं होती। जिसके चलते उन्हें अनेक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। परीक्षा के विषयों से लेकर किताबों तक के बारे में सही जानकारी के अभाव में यहां वहां भटकना पड़ता है। हमारा प्रयास है कि समर्थन कार्यक्रम के जरिए परीक्षा पास करने से जुड़े हर पहलू को लेकर युवाओं का मार्गदर्शन किया जाए। उनकी समस्याएं सुनकर समाधान किया जाए। उनके वित्तिय दिक्कतों से लेकर मानसिक परेशानियों तक में मदद की जाए।
उन्होंने युवाओं की परीक्षा से जुड़ी जिज्ञासाओं-शंकाओं का समाधान किया।
शुभारंभ कार्यक्रम पर रेड क्रॉस सोसाइटी के सचिव ओपी भाटिया, वल्लभ गवर्नमेंट कॉलेज के प्राचार्य राकेश शर्मा, जिला कल्याण अधिकारी आरसी बंसल, जिला लाइब्रेरियन भगत सिंह गुलेरिया, गवर्नमेंट कॉलेज से योगेश चौधरी, दिलीप और यूपीएसी एस्पीरेंट उपस्थित रहे।